Prayagraj Fraud Case: करोड़ों की ठगी की रकम इस फर्म के अकाउंट में होती थी जमा, पुलिस जांच में हुए ये खुलासे

Prayagraj Fraud Case: पुलिस गिरफ्त में आए नटवरलाल ने पूछताछ में कई हैरान करने वाले राज उगले हैं। हालांकि आरोपी अजहर अनीस उस्मानी को पुलिस ने अब जेल भेज दिया है। लेकिन पुलिस जांच में जो जानकारी सामने आई है वह चौंकाने वाली है। जिसमें रेलवे विभाग में स्क्रैप का टेंडर दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी का खेल एक फर्म के जरिए होता था। इसमे ठगी की रकम का लेनदेन फर्म के एकाउंट से होता था।

टाइम्स नाउ नवभारत

Updated Nov 14, 2022 | 08:17 PM IST

Prayagraj News

प्रयागराज में करोड़ों की ठगी के हैरान करने वाले खुलासे हुए (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुख्य बातें
  • ठगी के मुख्य किरदार ने अपने नाम से बनाई थी एक फर्म
  • झांसे में आए कारोबारियों को मिलाता था एक डॉक्टर से
  • ठगी के इस खेल में कई किरदारों की भूमिका की कर रही पुलिस जांच
Prayagraj Fraud Case: प्रयागराज में गत दिनों पुलिस गिरफ्त में आए नटवरलाल ने पूछताछ में कई हैरान करने वाले राज उगले हैं। हालांकि आरोपी अजहर अनीस उस्मानी को पुलिस ने अब जेल भेज दिया है। लेकिन पुलिस जांच में जो जानकारी सामने आई है वह चौंकाने वाली है। जिसमें रेलवे विभाग में स्क्रैप का टेंडर दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी का खेल एक फर्म के जरिए होता था। इसमें ठगी की रकम का लेनदेन फर्म के अकाउंट से होता था।
पुलिस के मुताबिक, ठगी करने के लिए फर्म आरोपी अजहर अनीस उस्मानी ने अपने नाम से बनाई थी। जिसके अकाउंट से रुपए निकाल कर वह आगे भेजता था। बता दें कि, अजहर ने जेल जाने से पूर्व पुलिस पूछताछ में ये सारे राज उगले हैं। बस यहीं से पुलिस ने अपनी जांच की दिशा आगे बढ़ाई तो कई अहम सुराग सामने आए। जिसमें आरोपी के संग कई और नाम सामने आए हैं। अब पुलिस उन तक पहुंचने की कोशिश में है। पुलिस के मुताबिक, ठगी की रकम को रेलवे मे स्क्रैप टेंडर के नाम पर आगे पहुंचाता था।

आरोपी एक डॉक्टर के नाम पर करता था ठगी

जॉर्ज टाउन एसएचओ धीरेंद्र सिंह के मुताबिक, धोखाधड़ी के इस बड़े खेल में मुख्य आरोपी अजहर एक रेलवे डॉक्टर के नाम पर ठगी करता था। जिसमें उसके चंगुल में फंसे सभी कारोबारियों को वह डॉक्टर से मिलवाता था। इसके बाद कारोबारी इसके झांसे में आकर पैसा लगाने को तैयार हो जाते थे। एसएचओ के मुताबिक, अब जांच में इस बात का पता लगाया जा रहा है कि, आखिर पूरे मामले में डॉक्टर की क्या भूमिका रही है। वहीं एक चतुर्थ श्रेणी कार्मिक के बैंक अकाउंट की जानकारी भी जुटाई जाएगी, जिसका नाम जांच में आरोपी अजहर ने बताया था। एसएचओ के मुताबिक, अब जांच में हर एक बिंदू की गहनता से पड़ताल की जा रही है। अब पुलिस के सामने बड़ा सवाल ये है कि, आखिर ऐसा क्या था कि, बड़े कारोबारी आरोपी के झांसे में आकर करोड़ों रुपए का निवेश करने के लिए तैयार हो जाते थे। गौरतलब है कि, प्रयागराज के एक टायर कारोबारी रजत ने सबसे पहले जॉर्ज टाउन थाने में गत दिनों 1.95 करोड़ की ठगी का मामला दर्ज करवाया था। जांच में सामने आया है कि, कानपुर के 3 कारोबारियों ने 17 करोड़ की ठगी का आरोप लगाया है। पुलिस के मुताबिक, मऊआइमा के एक कारोबारी ने अजहर पर 80 लाख की ठगी का आरोप लगाया है। गौरतलब है कि, ठगी के मुख्य किरदार अजहर अनीस उस्मानी ने रेलवे स्क्रैप का ठेका दिलाने का झांसा देकर रेलवे बोर्ड के निदेशक के फेक साइन व मुहर लगाकर जाली आदेश तैयार कर कई लोगों से करोड़ों की ठगी की थी।
लेटेस्ट न्यूज

हिमाचल में जिस बागी नेता से PM की बातचीत का वीडियो हुआ था वायरल, जानें उस सीट का क्या रहा नतीजा

      PM

सुप्रीम कोर्ट ने कोलेजियम पर दायर याचिका खारिज की, बोला-RTI में नहीं आ सकता मामला

         -RTI

Date पर ब्वॉयफ्रेंड को लेट पहुंचना पड़ा भारी, गुस्से में गर्लफ्रेंड ने चाकू से गर्दन पर किया हमला

Date

PAK vs ENG 2nd Test Live Streaming: जानें कब और कहां देखें पाकिस्तान-इंग्लैंड दूसरा टेस्ट मैच लाइव

PAK vs ENG 2nd Test Live Streaming      -

Sania Mirza से अलग होने की खबरों पर Shoaib Malik ने तोड़ी चुप्पी, कहा 'हम दोनों जल्द ही...'

Sania Mirza       Shoaib Malik

रात में दूसरी बार सेक्स करना चाहता था पति, मना करने पर पत्नी का घोंट दिया गला, 50 KM दूर ले जाकर फेंका

                 50 KM

Chanakya Niti: इन तीन रिश्‍तों में हमेशा बरतें सावधानी, धोखा मिलने पर जीवन हो जाता है बर्बाद

Chanakya Niti

Stunt Ka Video: आग से स्टंट कर रहा था शख्स, लेकिन हुआ ऐसा खेल देखकर रोंगटे खड़े हो जाएंगे

Stunt Ka Video
आर्टिकल की समाप्ति

© 2022 Bennett, Coleman & Company Limited