Bhopal: टाइगर रिजर्व पर्यटकों से गुलजार, जंगल के राजा की अठखेलियां देख हो रहे रोमांचित

Bhopal: कोविड महामारी के बाद अब सब कुछ नॉर्मल हुआ है तो लोग अपने घरों से निकलकर जंगल जीवन का लुत्फ ले रहे हैं। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, पर्यटकों की भीड़ इस कदर बढ़ी है कि, सूबे के सभी 6 टाइगर रिजर्व के कोर जोन में सीटें अभी से फुल हो चुकी हैं। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में एक मादा बाघिन अपने 3 शावकों के साथ घूमती हुई पर्यटकों को आसानी से दिख रही है।

Updated Nov 14, 2022 | 06:10 PM IST

Bhopal News

मध्यप्रदेश में टाइगर रिर्जव में बढ़ी पर्यटकों की भीड़ (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुख्य बातें
  • भोपाल सहित प्रदेश के सभी टाइगर रिजर्व में पर्यटकों की है बहार
  • लोग सर्दियों में अपने घरों से निकल जंगल जीवन का ले रहे हैं लुत्फ
  • सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में एक मादा बाघिन अपने 3 शावकों के साथ दिख रही है पर्यटकों को
Bhopal: सर्दियों की शुरूआत होते ही इन दिनों राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के सभी टाइगर रिजर्व में पर्यटकों की बहार है। कोविड महामारी के बाद अब सब कुछ नॉर्मल हुआ है तो लोग अपने घरों से निकलकर जंगल जीवन का लुत्फ ले रहे हैं। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, पर्यटकों की भीड़ इस कदर बढ़ी है कि, सूबे के सभी 6 टाइगर रिजर्व के कोर जोन में सीटें अभी से फुल हो चुकी हैं। इसे लेकर पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों के चेहरों पर खुशी है। टूरिस्ट गाइड कहते हैं कि, दो साल बाद अब पर्यटकों के आने का सिलसिला शुरू हुआ है तो आमदनी के आसार नजर आने लगे हैं। वहीं पर्यटकों को बफर जोन में मादा बाघिन के दीदार हो रहे हैं तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं हैं।
बता दें कि, सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में एक मादा बाघिन अपने 3 शावकों के साथ घुमती हुई पर्यटकों को आसानी दिख रही है। अक्टूबर माह से शुरू हुई बुकिंग के बाद नवबंर व दिसंबर तक फुल है। गौरतलब है कि, वर्तमान में देश का मध्यप्रदेश अकेला राज्य है जहां सबसे ज्यादा टाइगर हैं। टाइगर के अलावा पर्यटकों को ब्लैक पेंथर, इंडिया बायसन, वाइल्ड बोअर, स्पोटेड डिअर, सांभर, ब्लैक बक समेत भालू व अन्य जंगली जानवर देखने को मिल रहे हैं।

कूनो में दिख रहे नामीबिया के चीते

जंगल जीवन में सबसे समृद्ध मध्यप्रदेश में वर्तमान की अगर बात करें तो टाइगर की कुल संख्या 526 है। आने वाले साल में होने वाली वाइल्ड लाइफ गणना में यह संख्या बढ़ने के आसार हैं। प्रदेश के जंगलों व टाइगर्स रिर्जव में बाघों के अलावा अन्य वन्यजीवों के आंकड़ों की अगर बात करें तो वॉल्फ, घड़ियाल, पेंथर व चीते भी सबसे अधिक यहां है। हाल ही में ताजा आए आंकड़ों के मुताबिक, भेड़ियों की संख्या 772 है। वहीं कूनो नेशनल पार्क में भी नामीबिया से लाए गए 8 चीते स्वछंद विचरण कर रहे हैं। कूनो में भी चीतों को देखने के लिए पर्यटकों में होड़ मची है।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | भोपाल (cities News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

'जिस रामचरितमानस क्या होता है?', जब RJD प्रवक्ता के बयान पर यूं फटकारने लगे एंकर, देखें VIDEO

      RJD          VIDEO

Greater Noida: पंचशील हाइनिश का AOA पंजीकृत, सर्वसम्मति से हुए 9 सदस्यों का चुनाव

Greater Noida    AOA     9

BSE और NSE की अतिरिक्त निगरानी के दायरे में अडाणी एंटरप्राइजेज, अडाणी पोर्ट्स, अंबुजा सीमेंट्स

BSE  NSE

Bhopal: इस्लाम नगर हुआ जगदीशपुर, कभी मोहम्मद खान ने इस जगह का बदला था नाम

Bhopal

Patna: नवादा में भीषण सड़क हादसा, ट्रक ने टेंपो और ई-रिक्शा को रौंदा, दो बच्ची समेत तीन की मौत, चार घायल

Patna          -

IND-W vs SA-W Final: भारत को भारी पड़ीं 57 'डॉट' गेंदें, दक्षिण अफ्रीका ने जीता ट्राई सीरीज खिताब

IND-W vs SA-W Final     57

17 साल बाद इस धुरंधर क्रिकेटर ने T20 सहित हर फॉर्मेट को कहा अलविदा

17       T20

JEE Mains 2023: जारी हुई जेईई मेंस आंसर की, इस डायरेक्ट लिंक से करें चेक

JEE Mains 2023
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited