मैनपुरी: एकजुट हो रहा कुनबा! शिवपाल ने शिष्य को छोड़ बहू को दिया आशीर्वाद, कहा- डिंपल यादव को जिताएं

समाजवादी पार्टी का गढ़ मानी जाने वाली मैनपुरी सीट 10 अक्टूबर को समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन से खाली हुई है। समाजवादी पार्टी ने मैनपुरी लोकसभा सीट से डिंपल यादव को चुनावी मैदान में उतारा है। इस सीट के एक विधानसभा क्षेत्र से शिवपाल सिंह यादव विधायक हैं।

शिशुपाल कुमार

Updated Nov 18, 2022 | 01:01 AM IST

shivpal yadav

शिवपाल सिंह यादव के साथ अखिलेश-डिंपल ने की मुलाकात

तस्वीर साभार : Twitter
मैनपुरी उपचुनाव (Mainpuri By Election 2022) से पहले एक बार फिर से मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) का कुनबा एकजुट होता दिख रहा है। नाराज चाचा शिवपाल (Shivpal yadav) एक बार फिर से अखिलेश (Akilesh yadav) का साथ देते हुए दिख रहे हैं। गुरुवार को अखिलेश यादव और डिंपल यादव (Dimple Yadav) ने शिवपाल सिंह यादव से मुलाकात भी की है। हालांकि इस मुलाकात से पहले ही डिंपल यादव के पक्ष में शिवपाल अपने कार्यकर्ताओं को संदेश दे चुके हैं।
शिष्य को छोड़ बहू का साथ
यूपी विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद से शिवपाल यादव अखिलेश पर भड़के नजर आ रहे थे। कई बार अपनी नाराजगी जता चुके थे और कहा जा रहा था कि शिवपाल, बीजेपी के साथ जा सकते हैं। इसी बीच सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की मौत के बाद ये दूरी मिटती दिख रही है। मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई सीट पर सपा ने अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव को टिकट दे दिया तो सबकी नजरें शिवपाल पर टिक गईं। उधर बीजेपी ने भी शिवपाल के शिष्य और सपा के पूर्व नेता रघुराज शाक्य को टिकट दे दिया, जिसके बाद अटकलें लगीं कि शिवपाल अपने शिष्य का साथ देंगे, लेकिन शिवपाल ने अब साफ कर दिया है कि वो इस चुनाव में अखिलेश के साथ हैं।
अखिलेश की मुलाकात
गुरुवार को अखिलेश और डिंपल चाचा शिवपाल से मिलने के लिए पहुंचे। जहां मैनपुरी चुनाव के साथ-साथ अन्य चीजों पर भी चर्चा हुई। इस मुलाकात को लेकर अखिलेश यादव ने ट्विट करके कहा- "नेता जी और घर के बड़ों के साथ-साथ मैनपुरी की जनता का भी आशीर्वाद साथ है!"
शिवपाल ने क्या कहा
इस मुलाकात को लेकर शिवपाल सिंह यादव ने ट्विट करके कहा- "जिस बाग को सींचा हो खुद नेता जी ने... उस बाग को अब हम सीचेंगे अपने खून पसीने से..."

कार्यकर्ताओं को शिवपाल का संदेश
इस मुलाकात से पहले ही शिवपाल यादव ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ एक बैठक की थी। जिसमें उन्होंने साफ कहा था कि डिंपल यादव को ही यहां से जीत मिलनी चाहिए। पीटीआई के अनुसार उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि मुलायम सिंह यादव का मैनपुरी के साथ भावनात्मक संबंध रहा है और अगर समाजवादी पार्टी उनके द्वारा छोड़ी गई सीट जीत जाती है तो यह 'नेताजी' को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
लेटेस्ट न्यूज

Shocking Video: रेलवे प्लेटफॉर्म पर TTE कर रहे थे बातचीत, अचानक गिरा हाईटेंशन तार, देखकर आपकी रूह कांप जाएगी

Shocking Video    TTE

जानिए कैसे मिलता है राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा? आम आदमी पार्टी ने किस आधार पर पेश किया दावा

Ashneer Grover: अशनीर ग्रोवर और उनकी पत्नी पर BharatPe ने किया धोखाधड़ी का केस

Ashneer Grover       BharatPe

Gujarat election result: वडगाम सीट पर मामूली अंतर से जीते दलित नेता जिग्नेश मेवाणी

Gujarat election result

अरविंद केजरीवाल पर पीएम मोदी का तंज, चुनावों में जमानतें जब्त हुईं, कोई चर्चा नहीं, उन्हें पहचानने की जरुरत है

केजरीवाल ने किया AAP के राष्ट्रीय पार्टी बनने का दावा, पूर्व सहयोगी आशुतोष ने उड़ाई खिल्ली-Video

   AAP            -Video

भाजपा ने 76 साल के उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारने के लिए तोड़े थे नियम, दर्ज की एक लाख वोटों से जीत

  76

Kanpur Murder Case: रोनिल हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा, किलर बोला- फोटो देखकर खो बैठा आपा

Kanpur Murder Case       -
आर्टिकल की समाप्ति

© 2022 Bennett, Coleman & Company Limited