समलैंगिक विवाह के पक्ष में क्यूबा में हुई जबरदस्त वोटिंग, जानिए किन देशों में है लीगल

समलैंगिक विवाह (Same sex marriage) को वैध करने को लेकर दुनिया भर के कई देशों में मांग होती रही है। इस बीच दक्षिण अमेरिकी देश क्यूबा ने समलैंगिक विवाह को वैध बनाने के लिए भारी मतदान किया है। जानिए भारत समेत किन-किन देशों में समलैंगिक विवाह (Gay marriage) और सरोगेसी (Surrogacy) को लेकर क्या कानून हैं।

टाइम्स नाउ नवभारत

Updated Sep 27, 2022 | 03:47 PM IST

Same sex marriage

दुनिया के कई देशों में सेम सेक्स मैरेज वैध है।

तस्वीर साभार : BCCL
मुख्य बातें
  • नीदरलैंड समलैंगिकों को शादी की अनुमति देने वाला दुनिया का पहला देश है।
  • कनाडा समलैंगिक विवाह को मान्याता देने वाला पहला अमेरिकी देश है।
  • एशिया में ताइवान समलैंगिक विवाह की अनुमति देने वाला पहला देश है।
क्यूबा के लोगों ने समलैंगिक विवाह (Same sex marriage) को वैध बनाने के लिए जबरदस्त मतदान किया है। यह 33वां देश है जिसने किसी पुरूष का किसी पुरुष के साथ और किसी महिला का किसी महिला के साथ शादी को मान्यता देने के लिए आगे बढ़ा है। इसे परिभाषित करना बंद कर दिया है। क्यूबा का ऐतिहासिक नया परिवार कोड 'परोपकारी' सरोगेसी की भी अनुमति देता है। जिसके तहत कोई महिला किसी अन्य महिला या जोड़े की ओर से एक बच्चे को जन्म देती है। न्यूज एजेंसी एफपी के मुताबिक यहां जानिए समलैंगिक विवाह (Gay marriage) और सरोगेसी (Surrogacy) का ग्लोबल ओवरब्यू दिया गया है।

यूरोप में समलैंगिक विवाह और सरोगेसी

नीदरलैंड 2001 में समलैंगिक जोड़ों को शादी करने की अनुमति देने वाला दुनिया का पहला देश बना। तब से, 17 यूरोपीय देशों ने इसका अनुसरण किया है। ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, ब्रिटेन, डेनमार्क, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, आइसलैंड, आयरलैंड, लक्जमबर्ग, माल्टा, नॉर्वे, पुर्तगाल, स्पेन, स्वीडन, स्लोवेनिया और स्विट्जरलैंड। अधिकांश समान-लिंग वाले जोड़ों को भी गोद लेने की अनुमति दी गई है। कुछ देश समान-लिंग वाले जोड़ों को नागरिक भागीदारी में प्रवेश करने की अनुमति देते हैं, लेकिन शादी करने की अनुमति नहीं देते हैं। चेक गणराज्य, क्रोएशिया, साइप्रस, एस्टोनिया, ग्रीस, हंगरी और इटली में ऐसे नियम है।
अधिकांश पूर्वी यूरोपीय देश न तो समलैंगिक विवाह और न ही नागरिक भागीदारी की अनुमति देते हैं। रूस में समलैंगिकता को 1993 तक एक अपराध और 1999 तक एक मानसिक बीमारी माना जाता था। अब 2013 का कानून हालांकि नाबालिगों के बीच समलैंगिकता को बढ़ावा देने के लिए दंडित करता है। हंगरी में, 2021 में पारित एक कानून ने नाबालिगों के लिए समलैंगिकता या लिंग परिवर्तन को प्रचार करने के लिए जुर्माने की सजा दी।
12 यूरोपीय देशों में समलैंगिक जोड़ों के लिए सहायक प्रजनन की अनुमति है; नॉर्डिक देश, बेल्जियम, नीदरलैंड, यूनाइटेड किंगडम, स्पेन ऑस्ट्रिया, आयरलैंड और फ्रांस में ऐसा कानून है। बहुत कम देश सरोगेट मदरहुड की अनुमति देते हैं, आलोचकों ने इस प्रथा की निंदा की है, जिसे रूस और यूक्रेन में महिलाओं को 'भाड़े के लिए गर्भ' में बदलने की अनुमति है। बेल्जियम, नीदरलैंड और यूनाइटेड किंगडम में परोपकारी सरोगेसी कानूनी है लेकिन फ्रांस, जर्मनी, इटली, स्पेन, स्वीडन और कुछ मुट्ठी भर अन्य देशों ने सभी सरोगेसी पर रोक लगाई है।

अमेरिका में समलैंगिक विवाह और सरोगेसी

कनाडा 2005 में समलैंगिक विवाह को अधिकृत करने वाला पहला अमेरिकी देश है। समान-लिंग गोद लेने, मेडिकल सहायता प्राप्त प्रजनन और परोपकारी सरोगेसी की भी अनुमति है। संयुक्त राज्य अमेरिका में सुप्रीम कोर्ट को यह तय करने में एक और 10 साल लग गए कि संविधान ने समलैंगिक विवाह के अधिकार की गारंटी दी है। लेकिन गर्भपात के अधिकार पर कोर्ट के हालिया यू-टर्न के बाद कई एक्टिविस्ट चिंतित हैं कि जस्टिस अब समान-विवाह पर भी हृदय परिवर्तन कर सकते हैं। कुछ अमेरिकी राज्यों में कॉमशियल सरोगेसी की अनुमति है।
लैटिन अमेरिका, अर्जेंटीना, ब्राजील, कोलंबिया, इक्वाडोर, कोस्टा रिका, चिली, उरुग्वे और अब क्यूबा में भी समलैंगिक विवाह की अनुमति है। ब्राजील और कोलंबिया जैसे कई देश भी गैर-व्यावसायिक सरोगेसी की अनुमति देते हैं। मेक्सिको की संघीय राजधानी इस क्षेत्र में अग्रणी थी, जिसने 2007 में समलैंगिक नागरिक संघों और 2009 में विवाहों को अधिकृत किया था। मेक्सिको के 32 राज्यों के विशाल बहुमत ने इसका समर्थन किया।

एशिया में समलैंगिक विवाह और सरोगेसी

अधिकांश एशियाई देश समलैंगिकता के प्रति सहिष्णु है, ताइवान 2017 में अपने संवैधानिक न्यायालय द्वारा एक ऐतिहासिक फैसले के बाद समलैंगिक विवाह की अनुमति देने वाला क्षेत्र का पहला देश है। वियतनाम ने 2015 में समलैंगिक विवाह समारोहों को अपराध की कैटेगरी से बाहर कर दिया, लेकिन कानूनी रूप से यूनियनों को मान्यता देने से रोक दिया। जून 2022 में थाईलैंड ने समलैंगिक विवाह की दिशा में एक कदम उठाया जब सांसदों ने यूनियनों को वैध बनाने के लिए प्रारंभिक स्वीकृति दी।
भारत के सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में समलैंगिक यौन संबंधों को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया और अगस्त 2022 में सिंगापुर ने अगस्त में घोषणा की कि वह भी ऐसा ही करेगा। थाईलैंड और भारत, अतीत में कॉमर्शियल सरोगेसी के लिए दोनों प्रमुख गंतव्यों ने हाल के वर्षों में इस प्रथा को बंद कर दिया है। न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में समलैंगिक विवाह और गोद लेने की अनुमति है।

अफ्रीका में समलैंगिक विवाह और सरोगेसी

दक्षिण अफ्रीका अफ्रीकी महाद्वीप पर समलैंगिक विवाह की अनुमति देने वाला एकमात्र देश है, जिसे उसने 2006 में वैध कर दिया था, लेकिन यह व्यावसायिक सरोगेसी पर प्रतिबंध लगाता है। मॉरिटानिया, सोमालिया और सूडान में समलैंगिक संबंधों के लिए मौत की सजा के साथ करीब 30 अफ्रीकी देशों ने समलैंगिकता पर प्रतिबंध लगा दिया है। अंगोला, बोत्सवाना, केप वर्डे, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, गैबॉन, आइवरी कोस्ट, लेसोथो, मेडागास्कर, माली, रवांडा और सेशेल्स में समलैंगिक सेक्स की अनुमति है या इसे अपराध से मुक्त कर दिया गया है।

मध्य पूर्व में समलैंगिक विवाह और सरोगेसी

मध्य पूर्व के कई देशों में अभी भी समलैंगिकता के लिए मौत की सजा है, जिनमें ईरान, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं। इजराइल समलैंगिक अधिकारों के मामले में आगे बढ़ा है। समान-लिंग विवाह को मान्यता देता है। समलैंगिक जोड़े बच्चों को गोद ले सकते हैं।
लेटेस्ट न्यूज

Land Jihad: मध्य प्रदेश से बिहार तक लैंड जिहाद गैंग एक्टिव, समझिए पूरा मामला

Land Jihad

Bigg Boss 16: सौंदर्या शर्मा के दोस्तों ने उठाए उनके 'चरित्र' पर सवाल! कहा, 'सिर्फ हॉट होने से..'

Bigg Boss 16

सवाल ही कुछ ऐसा था, चीनी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने साधी चुप्पी और फिर ऐसा रहा जवाब

Petrol-Diesel Rate: 6 महीने बाद क्या बदल गई पेट्रोल-डीजल की कीमत? अभी कर लें चेक

Petrol-Diesel Rate 6      -

Gambhir Bimari Sahayata Yojana: गंभीर बीमारी के इलाज में मदद करती है यूपी सरकार, जानें कैसे करना है आवेदन

Gambhir Bimari Sahayata Yojana

राहत की खबर! दिल्ली AIIMS का सर्वर हुआ बहाल, लेकिन अभी मैनुअल मोड पर चलेंगी सभी सेवाएं

    AIIMS

Drishyam 2 BO Early Estimate Day 12: अजय देवगन स्टारर ने 12 दिनों में किया 150 करोड़ का आंकड़ा पार, जानें फिल्म की पूरी कमाई

Drishyam 2 BO Early Estimate Day 12     12    150

Raveena Tandon: जंगल सफारी करना रवीना टंडन को पड़ा भारी! 'टाइगर' के साथ वीडियो पर अब होगी जांच?

Raveena Tandon
आर्टिकल की समाप्ति

© 2022 Bennett, Coleman & Company Limited