गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल ज्यादा होने के बावजूद भी हो सकता है दिल का रोग

Cholesterol Level: नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच) समर्थित अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी की पत्रिका में प्रकाशित एक शोध निष्कर्ष में कहा गया है कि वर्षो पहले एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के निम्न स्तर ने गोरे वयस्कों के लिए दिल के दौरे या इससे संबंधित मौतें बढ़ने जोखिम की भविष्यवाणी की गई थी, लेकिन काले वयस्कों के लिए यह सच नहीं था।

IANS

Updated Nov 23, 2022 | 05:57 PM IST

cholesterol level

गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल ज्यादा होने के बावजूद भी हो सकता है दिल का रोग।

तस्वीर साभार : iStock
Cholesterol Level: अक्सर देखा गया है कि लोग अपने आहार में 'अच्छे' कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाए रखने का प्रयास करते हैं, मगर नए शोध से पता चला है कि उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) हृदय रोग (Heart Disease) के जोखिम की 'समान रूप से भविष्यवाणी' करने में प्रभावी नहीं हो सकते। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच) समर्थित अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी की पत्रिका में प्रकाशित एक शोध निष्कर्ष में कहा गया है कि वर्षो पहले एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के निम्न स्तर ने गोरे वयस्कों के लिए दिल के दौरे या इससे संबंधित मौतें बढ़ने जोखिम की भविष्यवाणी की गई थी, लेकिन काले वयस्कों के लिए यह सच नहीं था।

गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल के बाद भी है खतरा

इसके अलावा, उच्च एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर किसी भी समूह के लिए कम हृदय रोग जोखिम से जुड़ा नहीं था। ओरेगॉन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी, पोर्टलैंड में नाइट कार्डियोवैस्कुलर इंस्टीट्यूट के भीतर चिकित्सा के सहयोगी प्रोफेसर नथाली पामीर ने कहा, "लक्ष्य इस लंबे समय से स्थापित लिंक को समझना था जो एचडीएल को फायदेमंद कोलेस्ट्रॉल के रूप में लेबल करता है, और यदि यह सभी जातियों के लिए सच है।"

कम एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर है हानिकारक

पामीर ने कहा, "यह अच्छी तरह से स्वीकार किया गया है कि कम एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर हानिकारक है। हमारे शोध ने उन धारणाओं का परीक्षण किया और पाया कि इसमें गोरे या काले का भेद कोई मायने नहीं रखता।"
इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए पामीर और उनके सहयोगियों ने स्ट्रोक स्टडी के दौरान भौगोलिक और नस्लीय अंतर को समझने के लिए 23,901 वयस्कों के डेटा की समीक्षा की। अध्ययन में सबसे पहले पाया गया कि कम एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर ने केवल गोरे वयस्कों के लिए कार्डियोवैस्कुलर बीमारी के जोखिम में वृद्धि की भविष्यवाणी की गई थी।
यह अन्य अध्ययन का निष्कर्ष बताता है कि उच्च एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर हमेशा हृदय संबंधी घटनाओं में कमी नहीं लाता। पामीर ने कहा, "इस प्रकार के शोध से पता चलता है कि कार्डियोवैस्कुलर बीमारी के लिए जोखिम-भविष्यवाणी एल्गोरिदम पर फिर से विचार करने की जरूरत है। इसका मतलब यह हो सकता है कि भविष्य में एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर के लिए हमें अपने डॉक्टरों से पीठ नहीं थपथपानी पड़ेगी।"
लेटेस्ट न्यूज

'टाइगर जिंदा है' के इस एक्टर की 'Pushpa 2' में हुई धांसू एंट्री !! Allu Arjun संग करेंगे दो-दो हाथ

       Pushpa 2      Allu Arjun   -

Rampur Bypoll: प्रचार में आजम खान के बिगड़े बोल, एक और मुकदमा दर्ज

Rampur Bypoll

Bigg Boss 16: इस हसीना का कटेगा पत्ता! टीना दत्ता, सुंबुल तौकीर खान और प्रियंका चौधरी, कौन होगा घर से बेघर?

Bigg Boss 16

आज का वृश्चिक राशिफल, 02 दिसंबर 2022: इच्छाओं को करें काबू, अन्यथा हो सकता है भारी नुकसान

    02  2022

Bigg Boss 16: 'शालीन का कटेगा..' वीकेंड का वार पर उठेंगे शालीन भनोट और टीना दत्ता के रिश्ते पर सवाल!

Bigg Boss 16

इंटरनेशनल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ कैलिफोर्निया मे डिटेन! सिद्दू मूसेवाला हत्याकांड का है मास्टरमाइंड

PMJJBY: मात्र 1.20 रुपये में 2 लाख का बीमा कवर, जानें क्या है प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, कैसे करें अप्लाई

PMJJBY  120   2

आज की ताजा खबर, 2 दिसंबर, 2022: देश और दुनिया की बड़ी खबरें

    2  2022
आर्टिकल की समाप्ति

© 2022 Bennett, Coleman & Company Limited