Cow Dung Powered Tractor: अब डीजल नहीं गाय के गोबर से चलेगा Tractor, खासियत जान चौंक उठेंगे

​​Cow Dung Powered Tractor: बाजार में गाय के गोबर से चलने वाला ट्रैक्टर आ गया है। ट्रैक्टर ठीक डीजल से चलने वाले ट्रैक्टर की तरह ही काम करता है। इस ट्रैक्टर की खास बात यह है कि, यह जलवायु परिवर्तन से निपटने में भी कारगार हो सकता है। साथ इसकी कीमत डीजल व पेट्रोल से चलने वाले ट्रैक्टर की तुलना में काफी कम है। आप भी देखें इस ट्रैक्टर की खासियत।

Updated Jan 19, 2023 | 01:10 PM IST

Cow Dung Tractor

गाय के गोबर से चलेगा ट्रैक्टर

मुख्य बातें
  • बाजार में गया गाय के गोबर से चलने वाला ट्रैक्टर।
  • यह ट्रैक्टर जलवायु परिवर्तन से निपटन में भी कारगार।
  • इसे चलाने में डीजल की तुलना में कम खर्च आएगा।
Cow Dung Powered Tractor: पेट्रोल डीजल के बढ़ते दाम लोगों के लिए चिंता का विषय बन गए हैं। यही कारण है कि बाजार में इलेक्ट्रिक व्हीकल की मांग बढ़ गई है। वहीं इलेक्ट्रिक व्हीकल के बाद बाजार में गाय के गोबर से चलने वाला ट्रैक्टर भी आ गया है। जी हां इसे सुनकर आपके माथे पर सिकुड़न आ गई होगी और आप हैरान रह (biogas tractor in india) गए होंगे। लेकिन अब किसानों को गाय से मिलने वाले गोबर को फेंकना नहीं होगा बल्कि आप इसका इस्तेमाल ट्रैक्टर चलाने के लिए भी कर सकते हैं। ब्रिटिश कंपनी Bennamann ने एक ऐसा ट्रैक्टर बनाया है जो गाय के गोबर (biogas powered Tractor)चलता है।
इसे चलाने के लिए पेट्रोल और डीजल की जरूरत नहीं बल्कि गाय के गोबर की आवश्यकता (Biogas Operating Tractor) पड़ती है। ट्रैक्टर ठीक डीजल से चलने वाले ट्रैक्टर की तरह ही काम करता है। बता दें गाय के गोबर में फ्यूजिटिव मीथेन गैस पाई जाती है, जिसका इस्तेमाल बायो मीथेन बनाने के लिए किया जाता है। ऐसे में आप मीथेन गैस का इस्तेमाल कर ट्रैक्टर को चला सकेंगे। इस ट्रैक्टर की कीमत अन्य ट्रैक्टर में तुलना में काफी कम है।

क्लाइमेट चेंज से निपटने में मददगार

इस ट्रैक्टर की सबसे खास बात यह है कि, डीजल वाले ट्रैक्टर से इसे बिल्कुल भी कम नहीं आंका जा सकता। बायोमीथेन से बना यह ट्रैक्टर क्लाइमेट चेंज से निपटने में भी काफी मददगार होता है। साथ ही इस ट्रैक्टर को दूसरे कार्यों के लिए भी प्रयोग में लाया जा सकता है। बेनामन के सह संस्थापक क्रिसमान का कहना है कि, यह तरल मीथेन से चलने वाला दुनिया का पहला ट्रैक्टर है। कृषि उद्योग को डीकार्बोनाइज करने की ओर से यह पहला ट्रैक्टर होगा। इसके अलावा आप इसे इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए भी कर सकते हैं।

ट्रैक्टर में लगाया गया है क्रायोजेनिक टैंक

इसे चलाने के लिए सबसे पहले गाय के गोबर को इकट्ठा कर बायोमीथेन बनाया जाता है। इसके लिए ट्रैक्टर में क्रायोजेनिक टैंक भी लगाया गया है, जिसमें गाय के गोबर से तैयार मीथेन का इस्तेमाल किया जाता है। यह टैंक करीब 162 डिग्री तापमान में बायो मीथेन को लिक्यूइफाय करता है, जो इसे चलने के लिए डीजल से भी ज्यादा ताकत देती है।

डीजल की तुलना में कम खर्च

यह ट्रैक्टर डीजल ट्रैक्टर की तुलना में कम प्रदूषण उत्सर्जित करता है। इससे प्रदूषण को कम करने व वातावरण को स्वच्छ रखने में भी मदद मिलेगी। साथ ही इसे चलाने में डीजल की तुलना में कम खर्च आएगा। क्योंकि गांव में लगभग हर घर में गाय का गोबर उपलब्ध हो जाता है। 270 हॉर्स पावर का यह ट्रैक्टर दिखने में बिल्कुल डीजल ट्रैक्टर की तरह है। जानकारों की मानें तो बाजार में इस ट्रैक्टर के आने के बाद किसानों को काफी राहत मिलने वाली है।

जलवायु परिवर्तन से निपटने में कारगार

Bennaman कंपनी एक दशक से अधिक समय से बायोमीथेन उत्पादन पर शोध कर रही है। पूरी दुनिया इस ट्रैक्टर को काफी उम्मीद से देख रही है, क्योंकि यह ट्रैक्टर जलवायु परिवर्तन से निपटने में भी कारगार होगा। यह ट्रैक्टर ठीक वैसे ही काम करता है जैसे सीएनजी से वाहन चलता है।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | यूटिलिटी (utility-news News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

IND vs AUS Test Series: उलटा पड़ सकता है पिच वाला दांव, अब कुछ ऐसा होने की है उम्मीद

IND vs AUS Test Series

Aaj Ki Taza Khabar, 5 फरवरी, 2023: बागेश्वर धाम के समर्थन में आज दिल्ली में धर्म संसद, जानें देश और दुनिया की ताजा खबरें

Aaj Ki Taza Khabar 5  2023

अंत में अमेरिका ने चीन के स्पाई बैलून को समंदर के ऊपर मार गिराया, देखें Video

               Video

Magh Purnima Vrat Katha: माघ पूर्णिमा की व्रत कथा, इस दिन भगवान विष्णु गंगाजल में करते हैं निवास

Magh Purnima Vrat Katha

मामी के साथ इश्क में ऐसा डूबा भांजा कि मामा को ही उतार दिया मौत के घाट, गोलियों से छलनी कर दिया सीना

Video: अडानी के मुद्दे पर सदन में चर्चा न होने के पीछे क्या है कारण? वित्त मंत्री बोलीं- चर्चा से कौन भाग रहा है

Video                 -

Video: बजट को छोड़ अडानी के शेयरों की ज्यादा चर्चा के पीछे कोई षड्यंत्र है? वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिया ये जवाब

Video

SC में 5 नए जजों की नियुक्ति, पटना-राजस्थान-मणिपुर हाईकोर्ट को मिले कार्यवाहक चीफ जस्टिस

SC  5     --
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited