Makar Sankranti 2023 Date: साल 2023 में कब है मकर संक्रांति, जानें तारीख, तिथि और शुभ मुहूर्त

Makar Sankranti 2023 Date and Time in India (मकर संक्रांति 2023 कब है) : जनवरी में जब सूर्य राशि परिवर्तन करते हैं तो उसे मकर संक्रांति कहते हैं। इसी के साथ सर्दी कम होने लगती है। यहां देखें 2023 में मकर संक्रांति की डेट और मुहूर्त।

मेधा चावला

Updated Nov 21, 2022 | 03:59 PM IST

Makar Sankranti 2023 Date  2023
Makar Sankranti 2023 Date and Time in India: हिंदू रीति रिवाजों में मकर संक्रांति का विशेष महत्व होता है। इस दिन सूर्य देव धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आते हैं। सूर्य का यह राशि परिवर्तन सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। इसी दिन से सर्दी में भी फर्क आने लगता है और दिन लंबे होने शुरू हो जाते हैं। मकर संक्रांति पर तिल और गुड़ के सेवन की भी परंपरा है।
ऐसे तो साल भर में 12 संक्रांति मनाई जाती हैं लेकिन इन सभी में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) को खास स्थान प्राप्त है। इस दिन नदी स्नान की भी परंपरा है और दान भी किया जाता है। पूरे देश में अलग अलग परंपराओं के साथ मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है। यहां देखें पंचांग के अनुसार, साल 2023 में मकर संक्रांति कब मनाई (When is Makar Sankranti in 2023) जाएगी।

Makar Sankranti 2023 Date and Time

हिंदू पंचांग के अनुसार, मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2023) 15 जनवरी, 2023 दिन रविवार को मनाई जाएगी।
  • पुण्य काल मुहूर्त : 07:15:13 से 12:30:00 बजे तक
  • अवधि : 5 घंटे 14 मिनट
  • महापुण्य काल मुहूर्त : 07:15:13 से 09:15:13 बजे तक
  • अवधि : पूरे 2 घंटे
  • मकर संक्रांति 2023 का समय : 14 जनवरी को 20:21:45

Makar Sankranti Puja Mantra: मकर संक्रांति पूजन मंत्र

मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव की पूजा के समय इन मंत्रों के जाप करने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है।
  • ॐ सूर्याय नम:,
  • ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नमः
  • ॐ ऐहि सूर्य सहस्त्रांशों तेजो राशे जगत्पते, अनुकंपयेमां भक्त्या, गृहाणार्घय दिवाकर:

Makar Sankranti Puja Vidhi

  • मकर संक्रांति के दिन प्रातः काल शुभ मुहूर्त में स्नान करें।
  • नहाने वाले पानी में थोड़ा सा गुड़, काला तिल, और गंगाजल मिला लें।
  • स्नान के बाद साफ और स्वच्छ कपड़े पहनें।
  • फिर तांबे के लोटे में जल लेकर इसमें काला तिल, लाल पुष्प, गुड़, लाल चंदन, अक्षत् आदि मिला लें।
  • अब इस जल से भगवान सूर्य को अर्घ्य दें।
  • ध्यान रहे अर्घ्य देते समय सूर्य मंत्र का जाप जरूर करें।

मकर संक्रांति का महत्व (Makar Sankranti Significance)

मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी (Khichdi 2023) खाने और बनाने का अहम महत्व होता है। यही कारण है कि कई जगहों पर इसे खिचड़ी का पर्व भी कहा जाता है। इस दिन गंगा स्नान, दान, व्रत, कथा और भगवान सूर्यदेव की उपासना का खास महत्त्व है। इस दिन शनि देव के लिए प्रकाश का दान करना भी बेहद शुभ होता है। इस दिन तिल की बनी मिठाई खाने का और दान करने का महत्व है। इसके अलावा इस दिन पतंग उड़ाने की भी परंपरा है।
लेटेस्ट न्यूज

Gujarat election result: वडगाम सीट पर मामूली अंतर से जीते दलित नेता जिग्नेश मेवाणी

Gujarat election result

अरविंद केजरीवाल पर पीएम मोदी का तंज, चुनावों में जमानतें जब्त हुईं, कोई चर्चा नहीं, उन्हें पहचानने की जरुरत है

केजरीवाल ने किया AAP के राष्ट्रीय पार्टी बनने का दावा, पूर्व सहयोगी आशुतोष ने उड़ाई खिल्ली-Video

   AAP            -Video

भाजपा ने 76 साल के उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारने के लिए तोड़े थे नियम, दर्ज की एक लाख वोटों से जीत

  76

Kanpur Murder Case: रोनिल हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा, किलर बोला- फोटो देखकर खो बैठा आपा

Kanpur Murder Case       -

VIDEO: कैच लेते हुए टूट गए चार दांत, दर्द में दिखे श्रीलंकाई क्रिकेटर चमिका करुणारत्ने

VIDEO

कुढनी विधानसभा उपचुनाव के नतीजे पर बोले पीएम नरेंद्र मोदी, बिहार में BJP की जीत आने वाले दिनों का संकेत है

            BJP

बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ये खिलाड़ी ले सकते हैं रोहित, जडेजा और शमी की जगहः रिपोर्ट

आर्टिकल की समाप्ति

© 2022 Bennett, Coleman & Company Limited