Ghaziabad: फिरंगियों को ठगने वाले फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 15 आरोपी गिरफ्तार

Ghaziabad News: गाजियाबाद पुलिस ने लिंक रोड थाना क्षेत्र में चल रहे एक फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने यहां से 15 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें 13 युवक और 2 युवती शामिल हैं। ये आरोपी अमेरिकी नागरिकों के कंप्‍यूटर और लैपटॉप को हैक कर उनसे वसूली करते थे। आरोपियों ने अब तक सैकड़ों लोगों के साथ ठगी की बात कबूल की है।

Updated Nov 27, 2022 | 07:37 PM IST

Ghaziabad News

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी

तस्वीर साभार : Twitter
मुख्य बातें
  • यह गिरोह अमेरिका बेस्‍ड नागरिकों को बनाता था अपना शिकार
  • गिरोह के सदस्‍य कंप्‍यूटर और लैपटॉप में बग भेजकर उसे कर देते थे हैंग
  • कंप्‍यूटर को बग मुक्‍त करने और डाटा रिकवरी करने के नाम पर करते वसूली
Ghaziabad News: गाजियाबाद पुलिस ने विदेशी नागरिकों से ठगी के एक बड़े मामले का खुलासा किया है। साइबर सेल की टीम और थाना लिंकरोड पुलिस ने संयुक्‍त रूप से अभियान चलाते हुए लिंक रोड थाना क्षेत्र पर चल रहे एक फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश करते हुए 15 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों में 13 युवक और 2 युवती शामिल हैं। पुलिस के अनुसार, इस फर्जी कॉल सेंटर में काम करने वाले आरोपी पहले अमेरिकी नागरिकों के कम्प्यूटर-लैपटॉप में एक वायरस भेजते थे। इसके बाद मदद करने के नाम पर उनसे पैसे ऐंठते थे। पुलिस इन आरोपियों से अभी पूछताछ करने में जुटी है। पुलिस के अनुसार, यह गैंग अब तक सैकड़ों लोगों से करोड़ों की ठगी कर चुका है।
गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि, कॉल सेंटर औरा आरोपियों की जांच के दौराना इनके पास से 22 कंप्यूटर, 15 मोबाइल, 6 फर्जी आधार कार्ड, यूएसए के नागरिकों से ठगे गए 9 चेक और 4 लग्‍जरी गाड़ियां बरामद की गई हैं। आरोपियों की पहचान नदीम खान, राजा चौहान, रणजीत कुमार, अभिषेक राणावत, ओम शर्मा, आकाश शर्मा, ताबिश, रोहित कुमार, ऋषभ वशिष्ठ, राजेश, ऋषि दुबे, नवदीप मलिक, अरुण कुमार, सत्यनारायण और लोपामुद्रा के तौर पर हुई है। यह सभी आरोपी गाजियाबाद, दिल्‍ली और नोएडा के रहने वाले हैं।

कंप्‍यूटर और डाटा हैक कर करते थे मनमानी वसूली

इन आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि, वह एक खास एप के जरिये यूएसए बेस्ड लोगों के लैपटॉप और कंप्‍यूटर में एक बग भेजते थे। यह बग कंप्‍यूटर को हैंग कर देता। इसके बाद गिरोह के सदस्‍य उस कंप्‍यूटर पर अपना हेल्पलाइन नंबर भेजते। सामने वाला व्यक्ति जब उस नंबर पर कॉल करता तो ये उससे रिमोट एक्सेस एप्लीकेशन डाउनलोड कराते और उसका पूरा डाटा हैक कर लेते। आरोपी इस डाटा की रिकवरी के नाम पर लोगों से मनमानी रकम वसूल करते थे। ये लोगों से रकम की मांग डॉलर और गिफ्ट बाउचर में करता था। आरोपियों ने अब तक सैकड़ों लोगों के साथ ठगी का खुलासा किया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर गैंग से जुड़े दूसरे सदस्‍यों की जानकारी जुटाने में लगी है। पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार आरोपियों में तीन संचालक हैं, बाकि यहां पर सैलरी पर काम करते थे।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | गाजियाबाद (cities News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

Delhi Mumbai Expressway है प्रगति का हाई-वे: जितने टन स्टील में पूरा बनेगा, उतने बन जाएं 50 हावड़ा ब्रिज

Delhi Mumbai Expressway    -          50

Bigg Boss 16: वीकेंड का वार में Karan Johar ने लगाई अर्चना गौतम की क्लास, खाने की बर्बादी को बताया शर्मनाक

Bigg Boss 16     Karan Johar

Bigg Boss 16: घरवालों के हाथ से निकला प्राइज मनी बढ़ाने का मौका, अब विजेता को मिलेंगे इतने लाख रुपये

Bigg Boss 16

Bigg Boss 16: हल्दी, साबुन, मछली.. अर्चना गौतम ने टॉर्चर टास्क में पार की सारी हदें, फिर भी हाथ लगी नाकामी

Bigg Boss 16

दिल्ली मेयर चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, मनोनीत पार्षदों के मत देने का मामला

Taliban : तालिबान को पसंद आया मोदी सरकार का बजट, भारत सरकार की जमकर की तारीफ

Taliban

भारत दौरे पर पहुंचते कंगारू कोच ने सीरीज में स्पिन के असर पर दिया अहम बयान

WPL Auction Date: आ गई तारीख, इस दिन होगी विमेंस प्रीमियर लीग के लिए खिलाड़ियों की नीलामी

WPL Auction Date
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited