भोपाल: ये हैं फर्जी व्यूज वाले नटवरलाल, रेलवे में भर्ती के नाम से कमा रहे थे डॉलर, ऐसे आए पकड़ में

Bhopal: आरपीएफ में कांस्टेबल के 19 हजार 800 पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवाओं से ऑनलाइन वसूली कर रहे थे। पूछताछ में सामने आया है कि, आरोपियों ने अपनी फेक वेबसाइट भी बना रखी थी। वेबसाइट पर बेरोजगार युवा क्लिक करते थे तो उनके व्यूज बढ़ने के चलते इसके बदले में इन्हें डॉलर्स मिलते थे।

Updated Jan 17, 2023 | 04:10 PM IST

Bhopal News

रेलवे में भर्ती के नाम पर फेक व्यूज का धंधा, 2 अरेस्ट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुख्य बातें
  • आरोपी फेक वेबसाइट पर रेलवे में भर्ती का विज्ञापन देते थे
  • बेरोजगार युवाओं के क्लिक करने पर व्यूज बढ़ते थे
  • बीते चार साल से ये ठग युवाओं को गुमराह कर रहे थे
Bhopal: रेलवे में भर्ती के नाम पर विज्ञापन के जरिए डॉलर कमाने वाले दो युवकों को सीआईबी की टीम ने दबोचा है। दोनों ठग बीते चार साल से सोशल मीडिया में ग्रुपों के जरिए फेक विज्ञापन के लिंक शेयर करते थे। सेंट्रल इंवेस्टिगेशन ब्यूरो और आरपीएफ की टीम ने लगातार इनके द्वारा साइबर ठगी की मिल रही शिकायतों के बाद कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को बिहार के गया से अरेस्ट किया है।
आरोपियों से पूछताछ के बाद में सामने आई जानकारी से खुद अधिकारी दंग रह गए। हाल ही में आरोपियों ने आरपीएफ में कांस्टेबल के 19 हजार 800 पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवाओं से ऑनलाइन वसूली कर रहे थे। पूछताछ में सामने आया है कि, आरोपियों ने अपनी फेक वेबसाइट भी बना रखी थी। बड़ी संख्या में बेरोजगार युवा भर्ती का लिंक होने के कारण इस पर क्लिक करते थे। जिससे इनकी वेबसाइट पर व्यूज बढ़ते थे।

डॉलर्स में होती थी कमाई

सीआईबी व आरपीएफ के अधिकारियों को आरोपियों ने बताया कि, वेबसाइट पर बेरोजगार युवा क्लिक करते थे तो उनके व्यूज बढ़ने के चलते इसके बदले में इन्हें डॉलर्स मिलते थे। जिससे इनकी अच्छी खासी अर्निंग हो रही थी। आरपीएफ के अधिकारियों के मुताबिक, इनकी ठगी के शिकार हुए कई युवाओं ने अधिकारियों से इसकी शिकायत की थी। बाद में पूरे मामले की बारिकी से जांच करवाई गई। इस बीच रेल सुरक्षा बल की जबलपुर आईटी सेल ने इस गैंग का पता लगाया। इसके बाद आरपीएफ व सीआईबी ने शातिर ठग कुंदन कुमार व सोनू कुमार को बिहार के गया से दबोच लिया। अब आरोपियों के खिलाफ आईपीसी व आईटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। बहरहाल आरपीएफ आरोपियों से पूछताछ कर गिरोह में शामिल बाकी आरोपियों का पता लगाने में जुटी है।

आरपीएफ ऐसे पहुंची आरोपियों तक

आरपीएफ के अधिकारियों के मुताबिक, आरपीएफ की आईटी सेल को सोशल मीडिया में चल रहे विज्ञापन के लिंक से एडमिन की जानकारी मिली। विज्ञापन में आरपीएफ कांस्टेबल की कुल 19 हजार 800 की भर्ती का फेक विज्ञापन व दो मोबाइल नंबरों से बेरोजगार युवाओं को गुमराह किया जा रहा था। बस फिर क्या था, इस लिंक की पूरी पड़ताल करने के बाद आरपीएफ की आईटी सेल आरोपियों तक पहुंची। अब पूछताछ में इनके द्वारा की गई ठगी की वारदातों का पता लगाया जा रहा है।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | भोपाल (cities News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

Sidharth Malhotra ने भरी प्रीति उर्फ Kiara Advani की मांग तो लोगों ने उड़ाया Shahid Kapoor का मजाक, बोले 'तेरी प्रीति उड़ा ले गया...'

Sidharth Malhotra     Kiara Advani       Shahid Kapoor

SSB Constable Admit Card: जारी हुआ सशस्त्र सीमा बल कांस्टेबल परीक्षा का एडमिट कार्ड, यहां से करें डाउनलोड

SSB Constable Admit Card

ICAI CA Exam Notice: इंटर और फाइनल परीक्षा को आया जरूरी नोटिस, वेबसाइट icai.org पर करें चेक

ICAI CA Exam Notice          icaiorg

जैसलमेर एयरपोर्ट पर मांग में सिंदूर लगाए दिखीं Kiara Advani, लोग बोले 'ये है हिन्दू दुल्हन....'

        Kiara Advani

7 हजार रुपये से कम कीमत वाला 3-IN-1 स्मार्ट TV, इस दाम पर और क्या चाहिए

7       3-IN-1  TV

यूपी में 1200 करोड़ रुपए का निवेश करेगी जेके सीमेंट, प्रयागराज में 500 करोड़ से लगाएगी क्लिंकर ग्राइंडिंग यूनिट

  1200          500

Chanakya Neeti: विवाह से पहले प्रेम संबंध में भूलकर भी न शेयर करें ये बातें, एक गलती खत्‍म कर सकती है रिश्‍ता

Chanakya Neeti

Turkey Syria Earthquake: तुर्की और सीरिया में विनाशकारी भूकंप, इस तबाही में मरनेवालों की संख्या बढ़कर हुई 11200

Turkey Syria Earthquake               11200
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited