धारा-370 के खात्मे के 3 साल, बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, सामने आया नया एंटी-इंडिया कैंपेन

देश
शिवानी शर्मा
Updated Aug 04, 2022 | 13:12 IST

पाकिस्तान ने इस एंटी इंडिया कैंपेन को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए विदेश में बैठे भारत विरोधी संगठनों की मदद ली जा रही है। इन चिट्ठियों में 5 अगस्त को अलग-अलग जगहों पर रैली प्रदर्शन, मौन जुलूस और टि्वटर ट्रेंड्स पर भारत को बदनाम करने की प्लानिंग हो रही है।

abrogation of Article 370, Pakistan new anti-India campaign surfaced
5 अगस्त 2019 को हटा अनुच्छेद 370।  |  तस्वीर साभार: PTI

Jammu Kashmir : जम्मू कश्मीर के नाम पर पाकिस्तान के एक और एंटी इंडिया कैंपेन का भंडाफोड़ हुआ है। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के 3 साल पूरे होने पर पाकिस्तान ने  5 अगस्त को यौम-ए-इस्तेहसाल मनाने का ऐलान किया है। 5 अगस्त 2019 को जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटा दिया गया था जिसके बाद से पाकिस्तान हर साल इस दिन जम्मू और कश्मीर के लोगों को भड़काने के लिए यौम-ए-इस्तेहसाल के तौर पर मनाता है। एक बार फिर पाकिस्तान में 5 अगस्त यानि शुक्रवार को एंटी इंडिया कैंपेन चलाने की तैयारी की गई है। इसके लिए न सिर्फ पाकिस्तान के अंदर प्रोपेगेंडा किया जा रहा है बल्कि कई देशों में बैठे पाकिस्तान के एंबेसडर भारत विरोधी अभियान चला रहे हैं। 

टाइम्स नाउ नवभारत के पास ऐसे कुछ एक्सक्लूसिव दस्तावेज मौजूद हैं जिनमें पाकिस्तान की है इस इंटरनेशनल साजिश का पर्दाफाश हुआ है। यह वे चिट्ठियां है जो पाकिस्तान के राजनयिकों ने स्वीडन, फिनलैंड और टर्की जैसे कई देशों में बैठकर लिखी हैं। इन चिट्ठियों में इंटरनेशनल कम्युनिटी को भारत के खिलाफ भड़काने की कोशिश की गई है, और जम्मू कश्मीर के लोगों को उकसाने के लिए खास तरह के वीडियो भी सर्कुलेट किए जा रहे हैं। इनमें कई वीडियो में जम्मू कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप भी शामिल हैं।

पाकिस्तान ने इस एंटी इंडिया कैंपेन को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए विदेश में बैठे भारत विरोधी संगठनों की मदद ली जा रही है। इन चिट्ठियों में 5 अगस्त को अलग-अलग जगहों पर रैली प्रदर्शन, मौन जुलूस और टि्वटर ट्रेंड्स पर भारत को बदनाम करने की प्लानिंग हो रही है। इतना ही नहीं इन चिट्ठियों में से एक चिट्ठी ऐसी भी है जिसमें हाल ही में स्वीडन, टर्की और फिनलैंड में हुए भारत विरोधी आयोजन की डिटेल्स है जिनमें पाकिस्तान समर्थित थिंक टैंक और वहां के नेता दिल्ली में तिहाड़ जेल में कैद यासीन मलिक की तरफदारी करते हुए दिखाई दे रहे हैं। 

पाकिस्तान इस कैंपेन के जरिए जम्मू कश्मीर में लोगों के बीच नफरत फैलाने की कोशिश कर रहा है। 5 अगस्त 2019 को भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाकर जम्मू कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केंद्रशासित प्रदेश घोषित कर दिया था जिसके बाद सबसे ज्यादा तकलीफ पाकिस्तान को हुई क्योंकि जम्मू कश्मीर में दहशतगर्दी फैलाने के उसके मंसूबे पर पानी फिर गया।

पाकिस्तान हर साल 5 अगस्त को यौम-ए-इस्तेहसाल मना कर भारत को ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर बदनाम करने की नाकाम कोशिश करता आया है। वहीं जम्मू-कश्मीर की अवाम तक अपने झूठे प्रोपेगेंडा के जरिए पहुंचाने की कोशिश भी करता है। लेकिन भारत की इंटेलिजेंस एजेंसीज ने एक बार फिर पाकिस्तान की इस नापाक कोशिश का भंडाफोड़ कर दिया है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर