Noida News: राहत भरी खबर, 45 दिन में हट जाएगा ट्विन टावर का मलबा, यह है प्लान

Noida Authority Plan: बीते कुछ महीने पूर्व नोएडा में ट्विन टावर को ध्वस्त किया गया था। प्राधिकरण की ओर से एक कंपनी का चयन कर मलबा हटाने के लिए समय सीमा भी बताई गई थी। कंपनी के मलबा हटाने में देर करने और ध्वनि प्रदूषण से लोग परेशान थे। अब मलबे को 45 दिन के अंदर हटाने का निर्देश दिया गया है।

Updated Jan 14, 2023 | 04:30 PM IST

Noida News

नोएडा प्राधिकरण ने ट्विन टावर के मलबे को 45 दिन के अंदर हटा लेने का दिया निर्देश

तस्वीर साभार : Twitter
मुख्य बातें
  • ट्विन टावर के मलबे को हटाने में कंपनी कर रही थी देर
  • प्राधिकरण की ओर से कराया गया था एक सर्वे
  • ट्विन टावर के आस-पास रहने वाले लोग खुदाई और कंपन की आवाज से थे परेशान
Noida Twin Tower Demolition: नोएडा के सेक्टर-93 स्थित ट्विन टावर के मलबे को 45 दिन में हटाने का निर्देश नोएडा प्राधिकरण ने कंपनी को दिया है। अब यहां के स्थानीय लोगों को काफी राहत मिलेगी। यह फैसला नोएडा प्राधिकरण की बैठक के बाद लिया गया है। जिसमें केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान (सीबीआरआई) के विशेषज्ञ, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और जिस कंपनी को मलबा हटाने की जिम्मेदारी दी गई थी उनके अधिकारी शामिल हुए।
बता दें कि, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से कराई गई कंपन और ध्वनि प्रदूषण की रिपोर्ट का परीक्षण कर सीबीआरआई ने एक रिपोर्ट प्राधिकरण को दी थी। सेक्टर-93 स्थित ट्विन टावर के मलबे को हटाने में प्राइवेट कंपनी को दिक्कत आ रही है, क्योंकि उसे मलबे से लोहे के सरिया निकाल कर चार करोड़ रुपये की रकम भी वसूल करनी है। ट्विन टावर ध्वस्तीकरण के मामले में सुप्रीम कोर्ट में यह अनुबंध भी लगाया गया था।

आस-पास के स्थानीय लोगों को मिलेगी राहत

मिली जानकारी के अनुसार 28 अगस्त को ट्विन टावर ध्वस्त होने के बाद मलबा हटाने के लिए एक प्राइवेट कंपनी को तीन माह का समय दिया गया था। बता दें कि कंपनी से अनुबंध शर्त में नौ मीटर चौड़ी सड़क को खोद कर बनाना भी शामिल था। जिससे कंपनी को मलबे के नीचे दबी जमीन को भी खोदना पड़ रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि सरियों को निकाल कर पूरा मलबा निस्तारित करने का प्लान है। ऐसे में जमीन की खुदाई से हो रही ध्वनि प्रदूषण से स्थानीय लोग परेशान थे। सरिया निकालने के लिए कटाई की जा रही है,जिससे होने वाले तेज आवाज से स्थानीय निवासी परेशान हो गए थे। लोगों ने मामले पर कई बार प्राधिकरण से लेकर राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से शिकायत भी की थी।

सर्वे रिपोर्ट आने के बाद जारी हुआ निर्देश

बता दें कि ट्विन टावर के आस-पास के क्षेत्र में सर्वे करने के बाद रिपोर्ट नोएडा प्राधिकरण को सौंपी गई थी। रिपोर्ट को प्रस्तुत करने के बाद विशेषज्ञों ने अपनी राय दी। जिसके बाद मलबा हटाने के लिए चयनित कंपनी को मलबा निस्तारित करने और सड़क का काम पूरा करने के लिए सख्त निर्देश दिए गए। कंपनी को 45 दिन के अंदर मलबा हटाने का निर्देश दिया गया है। यह आदेश मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी की ओर से जारी कर दिया गया है।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | नोएडा (cities News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

Ghaziabad Leopard :गाजियाबाद कोर्ट में घुसा तेंदुआ, मच गई भगदड़, कुछ घायल, सामने आया VIDEO

Ghaziabad Leopard             VIDEO

MS Dhoni Video: दो साल बाद धोनी ने सोशल मीडिया पर किया पोस्ट, देखिए कैसे खेत की जुताई करते नजर आए

MS Dhoni Video

Happy Chocolate Day 2023 Wishes Images, Quotes: चॉकलेट डे पर पार्टनर को भेजें ये रोमांटिक मैसेज, रिश्ते में मिठास घुल जाएगी

Happy Chocolate Day 2023 Wishes Images Quotes

Kiara Advani को दुल्हन बनाकर गदगद हुईं Sidharth Malhotra की मम्मी, बोलीं 'मेरे घर लक्ष्मी आई...'

Kiara Advani      Sidharth Malhotra

SSC Results 2022 OUT: घोषित हुए एसएससी जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर, जूनियर ट्रांसलेटर और सीनियर हिंदी ट्रांसलेटर परीक्षा का रिजल्ट

SSC Results 2022 OUT

मोदी के पास जानें कौन सा है 'सुरक्षा कवच' जिस पर उन्हें है पूरा भरोसा

IND vs AUS 1st Test Playing-11: हरभजन सिंह ने बताया पहले टेस्ट में कौन से 11 भारतीय मैदान पर उतरेंगे, एक बहुत बड़ा बदलाव

IND vs AUS 1st Test Playing-11          11

IND vs AUS 1st Test: नागपुर में सीरीज का आगाज, कंगारुओं से निपटने के लिए भारत आजमाएगा स्पिन का ब्रह्मास्त्र

IND vs AUS 1st Test
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited