जयपुर में ह्यूमन ट्रैफिकिंग का बड़ा खुलासा, पुलिस ने करवाए इतने बच्चे मुक्त, ये है पूरी कार्रवाई

Jaipur: बिहार से मानव तस्करी के जरिए लाए गए 25 बच्चों को पुलिस ने मुक्त करवाया है। सभी मासूमों से एक चूड़ियां बनाने के कारखाने में बालश्रम करवाया जा रहा था। इस मामले में पुलिस ने 3 महिलाओं सहित 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। बाल विकास धारा संस्था के फील्ड अधिकारी महेश बंजारा की सूचना पर ह्यूमन ट्रैफिकिंग की ये पूरी कार्रवाई की गई है।

Updated Jan 22, 2023 | 09:19 PM IST

Jaipur News

जयपुर में मानव तस्करी रैकेट के भंडाफोड़ की जानकारी देते हुए डीसीपी देशमुख (फाइल फोटो)

तस्वीर साभार : ANI
मुख्य बातें
  • बिहार से करीब 4 साल पहले लालच देकर जयपुर लाए गए थे मासूम
  • मुक्त करवाए गए बच्चों में से अधिकतर की उम्र 14 साल से भी कम
  • पुलिस से 3 महिलाओं सहित कुल 7 लोगों को किया गिरफ्तार


Jaipur: राजधानी जयपुर में बिहार से मानव तस्करी के जरिए लाए गए 25 बच्चों को पुलिस ने मुक्त करवाया है। सभी मासूमों से एक चूड़ियां बनाने के कारखाने में बालश्रम करवाया जा रहा था। इस मामले में पुलिस ने 3 महिलाओं सहित 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। बहरहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर पूरे मामले की जानकारी जुटा रही है।
डीसीपी नाॅर्थ परिस देशमुख के मुताबिक, बाल विकास धारा संस्था के फील्ड अधिकारी महेश बंजारा की सूचना पर ह्यूमन ट्रैफिकिंग की ये पूरी कार्रवाई की गई है। डीसीपी के मुताबिक, जयपुर के शास्त्री नगर स्थित व्यास कॉलोनी में एक मकान में बच्चों को मानव तस्करी के जरिए लाकर अवैध तौर पर बाल मजदूरी करवाई जा रही थी। इसके बाद एडीसीपी धर्मेन्द्र सागर की अगुवाई में शास्त्री नगर थाने के सीआई दिलीप सिंह शेखावत ने पुलिस टीम के साथ मकान पर दबिश दी। पुलिस को मौके पर मकान में बने दो तल पर चूड़ी कारखाने में बच्चे बालश्रम करते दिखे।

घेराबंदी कर दबोचा आरोपियों को

एडीसीपी धर्मेन्द्र सागर के मुताबिक, पुलिस टीम को देखकर बदमाशों ने पहले तो मकान का गेट नहीं खोला। इसके बाद पुलिस टीम गेट तोड़कर घर के अंदर पहुंची। हालांकि आरोपी पुलिस कार्रवाई के बीच घर के पीछे के रास्तें से बाल श्रमिकों को ले जाने का प्रयास कर रहे थे, मगर पुलिस की घेराबंदी के चलते वे कामयाब नहीं हो सके। पुलिस ने बिहार से मानव तस्करी के जरिए जयपुर लाए गए 25 बाल मजदूरों को मुक्त करवाया। वहीं 3 महिला आरोपियों समेत कुल 7 लोगों को मौके से दबोचा गया। पुलिस के मुताबिक मुक्त करवाए गए बाल श्रमिकों में से अधिकतर की उम्र 14 वर्ष से कम हैं। वहीं सभी आपस में रिलेटिव बताए जा रहे हैं।

ये चढे़ पुलिस के हत्थे

डीसीपी परिस देशमुख के मुताबिक, मानव तस्करी व बालश्रम करवाने के आरोप में सफीना खातुन (45), मोहम्मद निजामुद्दीन (38) ,मोहम्मद गुलाब रब्बानी (31), मोहम्मद मजीद (45) सभी निवासी समस्तीपुर बिहार व मोहम्मद इम्तियाज (38) सीतारा खातुन (35) शबनम परवीन (20) सभी निवासी बलीगांव वैशाली बिहार को गिरफ्तार किया गया है। डीसीपी के मुताबिक, पूछताछ में जानकारी मिली है कि, आरोपी बच्चे 3-4 साल पहले बिहार के गांवों से लालच देकर लाए गए थे। वहीं आरोपी स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की अनदेखी कर इनका जीवन खतरे में डाल रहे थे। इसके अलावा मासूमों को शारीरिक व मानसिक तौर पर यातनाएं देकर लगातार बालश्रम करवाकर शोषण करने का अपराध कर रहे थे।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | जयपुर (cities News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत की नींव रखेगा 'इंडिया एनर्जी वीक'

Aaj Ka Ank Rashifal, 04 february 2023 : भाग्यांक 04 व्यय, ज्ञान, धर्म, आत्मबल व पॉलिटीक्स का प्रतीक, देखें अपना आज का अंकफल

Aaj Ka Ank Rashifal  04 february 2023   04

Viral Video: नशे में धुत होकर डांस करने लगे ताऊ, फिर हुआ ऐसा गजब देखकर लगाएंगे ठहाके

Viral Video

Video: हिमाचल में लैंडस्लाइड, चंबा-तीसा हाईवे ब्लॉक, चुराह वैली का संपर्क बाकी दुनिया से कटा

Video    -

ENG vs SA: जोफ्रा ऑर्चर के तूफान से साउथ अफ्रीका की वर्ल्ड कप खेलने की उम्मीदों को लगा झटका

ENG vs SA

VIDEO: सपा प्रमुख अखिलेश यादव के काफिले में हादसा, चार गाड़ियां टकराईं, कई लोग घायल

VIDEO

PM मोदी का जलवा कायम, फिर बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता; बाइडन-सुनक समेत 22 दिग्गज को छोड़ा पीछे

PM            -  22

Gadar 2 के सेट से लीक हुआ फाइट सीन, Sunny Deol ने इस बार तोड़ डाला खम्भा

Gadar 2        Sunny Deol
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited