Emetophobia: वोमिटिंग का डर, 6 साल से महिला अपने घर से बाहर नहीं निकली

एक महिला पिछले 6 वर्ष से अपने घर से बाहर नहीं निकली है, आपको उसकी वजह दिलचस्प लग सकती है लेकिन उसके पीछे एक बीमारी है जिसमें उल्टी बहुत आती है।

Emetophobia: वोमिटिंग का डर, 6 साल से महिला अपने घर से बाहर नहीं निकली
वोमिटिंग की डर से महिला ने खुद पिछले 6 साल से घर में किया है कैद 

क्या आप पिछले 6 साल से अपने घर में कैद हैं, भला इस सवाल का क्या मतलब है, जनाब यह सवाल इसलिए पूछा जा रहा है क्योंकि एक महिला ने खुद को 6 साल से घर में कैद है और उसके पीछे की वजह आपको दिलचस्प लग सकती है लेकिन उसके पीछे महिला का डर छिपा हुआ है। दरअसल वो महिला एमिटोफोबिया का सामना कर रही है उसमें किसी को हमेशा उल्टी आने का डर परेशान करता रहता है। 
6 साल से घर से बाहर नहीं निकली महिला
35 साल की एम्मा डेविस इस तरह की बीमारी से परेशान हैं तो उन्होंने बचने के लिए घर से बाहर निकलना बी बंद कर दिया। पिछले 10 साल से वो इस बीमारी का सामना कर रही हैं। वो कहती हैं कि कभी तभी तो वो घर पर रहने के बावजूद भी इस तरह की दिक्कत का सामना करती हैं। उनके मुताबिक ज्यादातर लोग उनकी बीमारी को देखकर भयभीत होते हैं, लिहाजा उन्होंने खुद घर से बाहर नहीं निकलने का फैसला किया। एम्मा कहती हैं कि इतना अधिक अवसाद होता है कि वो शायद ही अपने कमरे से निकलती हैं। उनके लिए अब बाहर जाने का कोई अर्थ नहीं है क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि बाहर जाकर घूमने से अधिक खुशी घर में कैद होकर मिलेगी। बीमारी की वजह से वो हर एक मिनट दिक्कतों का सामना करती हैं।

एमिटोफोबिया की है शिकार
एम्मा बताती हैं कि जब वो 23 साल की थीं तब पता चला कि वो इस तरह की बीमारी का सामना कर रही हैं। मुझे काम पर घबराहट के दौरे पड़ने लगे, जिससे मैं थोड़ा डर गया, और काम करने के रास्ते में बस पर भी क्योंकि मैं बीमार महसूस कर रहा था। इसका मतलब है कि मुझे काम छोड़ना पड़ा - जो कठिन था क्योंकि मैंने जब से काम किया है स्कूल, “उसे लाडिबेल ने उद्धृत किया था।


पिछले कुछ वर्षों में हालात बदतर हो गए और एक समय ऐसा आया जब उसने एक ही दिन में छह आतंक हमले किए। एम्मा कहती हैं कि उनके आतंक के हमलों को रोजमर्रा के कामों से शुरू किया जाता है जो ज्यादातर लोग बिना किसी हिचकिचाहट के करेंगे।35 वर्षीय महिला ने कहा कि उसने अपनी स्थिति का इलाज करने के लिए चिकित्सा और मनोचिकित्सा के विभिन्न रूपों को अपनाया है, लेकिन अभी तक कुछ भी काम नहीं किया है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर