महबूबा मुफ्ती ने गुलाम नबी आजाद के दावे को नकारा, कहा- जम्मू-कश्मीर में बहाल होगा अनुच्छेद 370

Jammu and Kashmir: एक दिन पहले रविवार को गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर के बारामूला में एक रैली के दौरान कहा था कि अनुच्छेद 370 को बहाल करने के लिए लोकसभा में लगभग 350 और राज्यसभा में 175 वोटों की आवश्यकता होगी। ये एक ऐसा नंबर है, जो किसी भी राजनीतिक दल के पास नहीं है और न ही मिलने की संभावना है।

Mehbooba Mufti denies Ghulam Nabi Azad claim says Article 370 will be restored in Jammu and Kashmir
जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती। (File Photo)  |  तस्वीर साभार: ANI

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को गुलाम नबी आजाद की 'अनुच्छेद 370 को बहाल नहीं किया जा सकता' टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि ये उनकी निजी राय थी। महबूबा मुफ्ती ने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर में ऐसी आवाजें हैं, जो मानते हैं कि अनुच्छेद 370 को बहाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ये गुलाम नबी आजाद की निजी राय है। 

जम्मू-कश्मीर में बहाल होगा अनुच्छेद 370- महबूबा मुफ्ती 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 की बहाली मेरे राजनीतिक एजेंडे में नहीं, बोले गुलाम नबी आजाद

साथ ही कहा कि कांग्रेस ने अंग्रेजों के खिलाफ आवाज उठाई थी और उन्हें रोका था। इसी तरह जम्मू-कश्मीर में भी आवाजें हैं, जो मानते हैं कि 370 को बहाल कर दिया जाएगा और इसे सुलझा लिया जाएगा। एक दिन पहले रविवार को गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर के बारामूला में एक रैली के दौरान कहा था कि अनुच्छेद 370 को बहाल करने के लिए लोकसभा में लगभग 350 और राज्यसभा में 175 वोटों की आवश्यकता होगी। ये एक ऐसा नंबर है, जो किसी भी राजनीतिक दल के पास नहीं है और न ही मिलने की संभावना है।

Ghulam Nabi Azad: गुलाम नबी आजाद ने बारामूला में रैली के दौरान कहा, 10 दिन में नई पार्टी का करूंगा ऐलान

गुलाम नबी आजाद ने 26 अगस्त को कांग्रेस से दिया था इस्तीफा

26 अगस्त को कांग्रेस के साथ अपने पांच दशक लंबे नाता को खत्म करने वाले गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अगर देश की सबसे पुरानी पार्टी अनुच्छेद 370 को बहाल करने के लिए बोल रही है, तो ये झूठे वादे हैं। साथ ही कहा कि कांग्रेस 50 से कम सीटों पर सिमट गई है और अगर वे अनुच्छेद 370 को बहाल करने की बात करते हैं, तो वे झूठे वादे कर रहे हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर