हर माह की 15 तारीख को यूपी के अस्पतालों में मनेगा निक्षय दिवस, जानें क्या है CM योगी का पूरा प्लान

Nikshay Diwas in UP: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को 2025 तक टीबी मुक्त बनाने का संकल्प लिया है और इसी के तहत निर्देश दिए हैं कि हर माह की 15 तारीख को प्रदेश के अस्पतालों में निक्षय दिवस मनाया जाएगा।

कुलदीप राघव

Updated Nov 23, 2022 | 07:09 AM IST

   15             CM
Nikshay Diwas in UP: योगी सरकार ने प्रदेश को वर्ष 2025 तक टीबी (tuberculosis) मुक्त बनाने के लिए कमर कस ली है। ऐसे में, प्रदेश के सभी जिलों में टीबी को लेकर जागरूकता फैलाने और मरीजों की स्क्रीनिंग का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने टीबी मरीजों की शीघ्र पहचान, गुणवत्तापूर्ण इलाज और योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए हर माह की 15 तारीख को प्रदेश के सभी जिला अस्पताल, ब्लाॅक स्तर पर पीएचसी पर निक्षय दिवस मनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि अगर किसी महीने में 15 तारीख को अवकाश होता है तो अगले कार्य दिवस में निक्षय दिवस मनाया जाए।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तर प्रदेश की मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्याय ने मंगलवार को प्रदेश के सभी जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इस संबंध में पत्र जारी कर दिया है। इसके माध्यम से उन्होंने अवगत कराया है कि टीबी एक प्रमुख सामाजिक समस्या है। भारत विश्व के 20 फीसद रोगियों के साथ सबसे अधिक टीबी ग्रसित व्यक्तियों का देश है। प्रदेश में टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के तहत 5.5 लाख अधिसूचनाओं का लक्ष्य केंद्र सरकार द्वारा तय किया गया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए ही प्रदेश की स्वास्थ्य इकाइयों पर सामूहिक प्रयास की जरूरत है। सीएम योगी ने सेंट्रल टीबी डिविजन के निर्देशों के अनुक्रम में टीबी रोगियों के पूर्ण स्वस्थ होने के लिए गुणवत्तापूर्ण सुविधा मुहैया कराने के लिए प्रदेश के सभी जनपदों में हर माह की 15 तारीख को जनपद एवं ब्लाक स्तरीय पीएचसी और आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर निक्षय दिवस मनाया जाएगा।
निक्षय दिवस की उपलब्धियों को सोशल मीडिया से करें प्रचारित
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि निक्षय दिवस से पहले आशा बहनें हर-हर घर भ्रमण कर टीबी के बारे में और दिवस के आयोजन के बारे में समुदाय को जागरूक करें। स्वास्थ्य इकाइयों पर एलईडी के जरिये टीबी के बारे में जागरूकता सम्बन्धी फिल्म भी प्रसारित करने के साथ निक्षय दिवस की उपलब्धियों को सोशल मीडिया पर भी प्रदर्शित किया जाए। आशा बहनें संभावित टीबी मरीजों की सूची तैयार कर उन्हें हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर तक लाने का कार्य करें। उन्हाेंने कहा कि कम्युनिटी हेल्थ आॅफिसर (सीएचओ) द्वारा मरीजों की प्रारम्भिक जांच ( उपलब्धता के आधार पर) एचआईवी, डायबिटीज और अन्य जांच सुनिश्चत करें। इसके अलावा, बलगम का नमूना लिया जाये और उसे निक्षय पोर्टल पर प्रिजमिटिव आईडी बनाते हुए नजदीकी टीबी जांच केंद्र पर भेजा जाए। निक्षय दिवस पर ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या के सापेक्ष 10 प्रतिशत मरीजों की बलगम जांच सुनिश्चित की जाये। सीएचओ और आशा द्वारा निक्षय दिवस पर मिलने वाली सुविधाओं का प्रचार-प्रसार युद्धस्तर पर किया जाए। सीएचओ जांच में टीबी की पुष्टि वाले मरीजों के परिवार के अन्य सदस्यों की भी टीबी स्क्रीनिंग सुनिश्चित करें। आशा बहनें निक्षय दिवस पर टीबी मरीजों के बैंक खाते का विवरण आशा संगिनी को मुहैया कराएं और आशा संगिनी सीनियर ट्रीटमेंट सुपरवाइजर (एसटीएस) को निक्षय पोर्टल पर दर्ज कराने को दें। इस दिवस पर प्राइवेट प्रैक्टिशनर को टीबी नोटिफिकेशन, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और फॉलोअप के लिए प्रेरित किया जाए।
इन विषयों पर रहेगा फोकस
  • निक्षय दिवस पर स्वास्थ्य इकाई पर आने वाले संभावित टीबी मरीजों की सूची के अनुसार उनकी जांच करायी जाएगी, एचआईवी-डायबिटीज की भी जांच होगी
  • स्वास्थ्य इकाइयों पर सम्भावित मरीजों के बैठने की खुली जगह हो और इकाई के बाहर खुले स्थान पर बलगम के नमूने लेने के लिए कफ कार्नर बनाये जाएं
  • क्षय रोगियों के लिए हर जरूरी दवाएं मुफ्त उपलब्ध हों
  • स्वास्थ्य इकाई पर टीबी की जांच, उपचार के बारे में परामर्श की व्यवस्था की जाए
  • जनपद स्तर पर सीएमओ की अध्यक्षता में हर माह की 16 तारीख को मासिक बैठक कर निक्षय दिवस के समस्त कार्यों की समीक्षा हो और समस्त प्रकरणों का निस्तारण किया जाए और अगले दिन उस बारे में जिलाधिकारी को अवगत कराया जाए।
लेटेस्ट न्यूज

Gyanvapi Case: 'हिंदुओं को सौंपा जाए ज्ञानवापी परिसर, मुस्लिमों के प्रवेश पर लगे रोक' आज कोर्ट में होगी अहम सुनवाई

Gyanvapi Case

लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट के आरोपी हरप्रीत सिंह को NIA ने किया अरेस्ट, पाकिस्तान से भी कनेक्शन

         NIA

जब नार्को को नहीं माना जाता सबूत तो आफताब के टेस्ट के पीछे क्या है वजह

JNU की दीवारों पर ये कैसे नारे? लिखा- रक्तपात होगा..ब्राह्मणों और बनिया, हम तुम्हारे पास बदला लेने आ रहे हैं, होगी जांच

JNU       -

FIFA WC: एशियाई शेर जापान ने किया कमाल, स्पेन के साथ राउंड ऑफ 16 में पहुंचे, चार बार की चैंपियन जर्मनी बाहर

FIFA WC            16

आज का मेष राशिफल, 02 दिसंबर 2022: समय भाग्यशाली है, पर काम और कारोबार में रह सकता है उतार-चढ़ाव

    02  2022            -

आज का मकर राशिफल, 02 दिसंबर 2022: आज ट्रिप पर जाने का बन रहा है संयोग, जानें क्या होगा आपका विचार

    02  2022

आज का धनु राशिफल, 02 दिसंबर 2022: आर्थिक संकटों का करना पड़ सकता है सामना, खर्चे और सेविंग का रखें खयाल

    02  2022
आर्टिकल की समाप्ति

© 2022 Bennett, Coleman & Company Limited