Benefits of Sesame oil: बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में कारगर होता है तिल का तेल, ऐसे करें इस्तेमाल

Sesame oil: कोलेस्ट्रॉल की समस्या से राहत पाने के लिए अलसी का तेल काफी फायदेमंद होता है। इसमें कई गुण होते हैं, जो शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करते हैं। इसके लिए आप खाने में अलसी के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Sesame oil
cholesterol 
मुख्य बातें
  • अलसी के तेल से कोलेस्ट्रॉल को करें कम
  • कोलेस्ट्राल को कम करने के लिए खाएं अलसी का तेल 
  • अलसी के तेल से दिल संबंधी समस्याओं को कहें बाय-बाय

Sesame oil: दिल के लिए बढ़ता कोलेस्ट्रॉल काफी खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में यदि खान-पान पर ध्यान न रखा जाए, तो इससे कोलेस्ट्राल बढ़ सकता है, जो सेहत के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है। शरीर में दो तरह के कोलेस्ट्रॉल होते हैं, एक गुड कोलेस्ट्रॉल और दूसरा बैड कोलेस्ट्रॉल। शरीर की समस्या तब बढ़ जाती है, जब शरीर की नसों में गंदा कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, शरीर में कोलेस्ट्ऱॉल के लिए खान-पान जिम्मेदार होता है। यदि ये धमनियों से चिपक जाए, तो इससे खून की नसेंं ब्लॉक हो जाती हैं, जिससे ब्लड सर्कुलेशन धीमा हो जाता है और हार्ट अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है। 

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए तिल के तेल का करें इस्तेमाल

ऑयली फूड बढ़ा सकते हैं कोलेस्ट्रॉल

हेल्थ एक्सपर्ट्स की माने तो सैचुरेटेड वेजिटेबल ऑयल, नारियल का तेल और कर्नेल शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ा सकता है। इसके अलावा यदि तेल में तली हुई चीजों को खाया जाए, तो भी शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की वृद्धि हो जाती है। 

Also Read: Nail fungusना खून के पीले पड़ने के कारण होते हैं गंभीर, भूलकर भी न करें नजर अंदाज

कोलेस्ट्रॉल में कौन सा तेल खाना होता है फायदेमंद

डॉक्टर्स के मुताबिक, कोलेस्ट्रॉल की समस्या से निपटने के लिए अलसी का तेल काफी फायदेमंद होता है। इसके लिए आप खाने में अलसी के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस तेल की खास बात ये होती है कि ये बहुत हल्का होता है, जो सेहत के लिए कई मायनों में फायदेमंद होता है। 

Also Read: Castor oil for knee pain  घुटनों के दर्द से राहत पाने के लिए कैस्टर ऑयल से करें मसाज, तुरंत मिलेगा आराम

कोलेस्ट्रॉल में कैसे सहायक है तिल का तेल

कोलेस्ट्रॉल के बढ़ते लेवल को कंट्रोल करने के लिए तिल के तेल का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इसके लिए आप सब्जी में या फिर अन्य तरह के खाना बनाने में इस्तेमाल कर सकते हैं।

दरअसल, तिल के तेल में फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में होता है, साथ ही इसमें अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (ALA-ओमेगा 3), लिनोलिक एसिड (ओमेगा 6) और ओलिक एसिड (ओमेगा 9) पाए जाते हैं।

( डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर