होम लोन ग्राहकों की बढ़ी मुसीबत, एसबीआई ने बढ़ाया इंटरेस्ट रेट

Utility News
डिंपल अलावाधी
Updated May 24, 2022 | 15:51 IST

सरकारी सेक्टर के बैंक ने जनवरी 2019 से रेपो दर से जुड़े EBLR का इस्तेमाल किया है। EBLR भारतीय रिजर्व बैंक की बेंचमार्क ब्याज दर के अनुसार बदलती है।

State Bank of India increased external benchmark lending rate EBLR
होम लोन ग्राहकों को SBI ने दिया झटका! (Pic: iStock) 

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने लोन ग्राहकों को झटका दिया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा रेपो रेट में 40 आधार अंकों की बढ़ोतरी की घोषणा के कुछ दिनों बाद अब भारतीय स्टेट बैंक ने होम लोन पर अपनी बाहरी बेंचमार्क उधार दर (EBLR) में बढ़ोतरी कर दी है। एयबीआई ने ईबीएलआर में 50 आधार अंकों की वृद्धि का ऐलान किया है।

कब से लागू होंगी नई नई ब्याज दर?
बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, अब नई बाहरी बेंचमार्क उधार दर7.5 फीसदी और आरएलएलआर 6.65 फीसदी+ सीआरपी हो गई है। नई ब्याज दर 1 जून 2022 से प्रभावी होंगी। मालूम हो कि इससे पहले ईबीएलआर 6.65 फीसदी थी, जबकि रेपो-लिंक्ड लेंडिंग रेट (आरएलएलआर) 6.25 फीसदी थी।

जल्द ही झटका देगा आरबीआई! दोबारा बढ़ सकती है लोन की ईएमआई

क्या है ईबीएलआर?
एसबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार बाहरी बेंचमार्क आधारित उधार दर बाहरी बेंचमार्क दर (EBR) और क्रेडिट जोखिम प्रीमियम (CRP) की कुल दर होती है। यह एक नया ब्याज दर स्ट्रक्चर है। सभी फ्लोटिंग रेट होम लोन की ब्याज दरें बाहरी बेंचमार्क से जुड़ी होंगी।

फिक्स्ड बनाम फ्लोटिंग रेट डिपॉजिट: जानिए आपके लिए कौन सा विकल्प बेहतर

पहले बढ़ाई थी एमसीएलआर
इससे पहले पिछले हफ्ते एसबीआई ने लोन पर अपनी सीमांत लागत-आधारित उधार दरों (MCLR) में 10 आधार अंकों की बढ़ोतरी की थी। एमसीएलआर की नई ब्याज दरें 15 मई 2022 से लागू हो गई हैं। एक महीने, तीन महीने और छह महीने की एमसीएलआर दरों 10 आधार अंक बढ़कर क्रमश: 6.85 फीसदी, 6.85 फीसदी और 7.15 फीसदी हो गई हैं। एक साल की एमसीएलआर 7.20 फीसदी, दो साल की 7.40 फीसदी और तीन साल की 7.50 फीसदी है।

केंद्रीय बैंक की अगली मौद्रिक नीति समिति (MPC) की बैठक 6 जून से 8 जून को होनी है। अनुमान है कि केंद्रीय बैंक फिर से रेपो रेट बढ़ाएगा।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर