मेरठ का 'कबाड़ से जुगाड़', स्क्रैप, पुराने टायर, खराब ड्रम से हो रही 'पर्यावरण सुरक्षा', पीएम मोदी ने भी सराहा

स्क्रैप, पुराने टायर, खराब ड्रम से हो रही मेरठ में पर्यावरण की सुरक्षा, योगी सरकार के प्रयासों को प्रधानमंत्री ने मन की बात में सराहा, यहां कबाड़ से किया जा रहा शहर का सौंदर्यीकरण।

Meerut scrap
मेरठ को रोशन करने के लिए नगर निगम ने अभियान चलाया और इसे नाम दिया 'कबाड़ से जुगाड़' 

मेरठ: मेरठ का 'कबाड़ से जुगाड़' अभियान अब राष्ट्रीय फलक तक चमक गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात के 93वें संस्करण में योगी सरकार के इस प्रयास की काफी सराहना की। शहरों को संवारने के प्रदेश सरकार के सपनों को साकार करते हुए मेरठ नगर निगम ने निष्प्रयोज्य वस्तुओं से कम लागत में ही शहर की आभा में चार चांद लगा दिए हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह प्रयास पर्यावरण की सुरक्षा और शहर के सौंदर्यीकरण से जुड़ा है। निष्प्रयोज्य वस्तुएं स्क्रैप, पुराने टायर, कबाड़, खराब ड्रम से भी कम खर्चे में कैसे शहर को संवारा जा सकता है। मेरठ इसकी बानगी है। इससे जुड़े लोगों के प्रयासों को पीएम ने सराहा। 

योगी सरकार बनने के बाद से यहां की बिजली आपूर्ति में काफी सुधार आया तो नगर निगम ने भी जनपद को संवारने के लिए कृत्रिम लाइटों का भी सहारा लिया। शहरों को संवारने के सपने को मेरठ नगर निगम ने अपना बना लिया। 

 इसे नाम दिया 'कबाड़ से जुगाड़'

मेरठ को रोशन करने के लिए नगर निगम ने अभियान चलाया और इसे नाम दिया 'कबाड़ से जुगाड़'। नगर आयुक्त अमित पाल शर्मा ने बताया कि कम खर्चे में सावर्जनिक स्थलों का सौंदर्यीकरण कैसे हो, यह अभियान इसकी मिसाल है। खराब पड़ी चीजों का प्रयोग कर शहर को सजाया गया। गांधी आश्रम चौराहा, गढ़ रोड पर लोहे के स्क्रैप, पुराने पहियों से फाउंटेन निर्मित कराया गया।

सर्किट हाउस चौराहे पर लाइट ट्री, पुराने बेकार ड्रमों से स्ट्रीट इंस्टलेशन,  हाथ ठेली के बेकार पहियों से बैरिकेडिंग कर मिनी व्हील पार्क, जेसीबी के पुराने टायरों से डिस्प्ले वॉल, पार्कों में बैठने के लिए स्टूल मेज आदि की व्यवस्था की गई। कम लागत में इसका निर्माण कर शहर को सुंदर, अनुपम तरीके संवारा गया। 

आभा देखते ही निहाल हो रहे लोग

योगी सरकार की अवधारणा को साकार करते हुए मेरठ नगर निगम ने शहर को चमकाने के लिए अनोखे प्रयोग किए, जो काफी सफल रहे। दरअसल नगर निगम में बने गोदाम में पड़े कबाड़ की न तो उचित कीमत मिल रही थी और न ही इसका सही उपयोग हो रहा था पर योगी सरकार की पहल पर नगर आयुक्त अमित पाल शर्मा ने शहर को जगमगाने का निर्णय लिया।

नगर निगम योगी सरकार के निर्देशन में शहर के सौन्दर्यीकरण के लिए आगे भी ऐसे प्रयोग करता रहेगा। लाइटिंग वाला कृत्रिम पेड़ भी न सिर्फ लोगों को आकर्षित कर रहा है, बल्कि शहर की खूबसूरती में चार चांद लगा रहा है। इसकी आभा देख लोग निहाल हो रहे हैं।
 

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर