उस महिला व्यापारी की तरकीब कर गई काम, बनाया नकली पुरुष असिस्टेंट और आगे..

जांद्रा सटन नाम की महिला व्यापारी की कहना है कि कठिन ग्राहकों को समझाने के लिए अगर आप ईमेल्स का सहारा लेती हैं तो उसके लिए किसी पुरुष सहायक का इस्तेमाल करिए।

उस महिला व्यापारी की तरकीब कर गई काम, बनाया नकली पुरुष असिस्टेंट और आगे..
जांद्रा सटन, महिला कारोबारी 

मुख्य बातें

  • जांद्रा सटन नाम की महिला कारोबारी ने कठिन ग्राहकों को समझाने के लिए सुझाया रास्ता
  • ईमेल्स का जवाब देने लिए नकली पुरुष असिस्टेंट रखने की सलाह
  • सटन ने बताया कि इस तरह से कठिन ग्राहकों को समझाने में मिलती है मदद

अगर आप किसी बिजनेस में हो और वो भी नए तो तरह तरह के ख्याल आते है कि व्यापार कैसे कामयाब होगा, कहीं हम नाकाम तो नहीं होंगे। हम अपने ग्राहकों को समझा पाने में कामयाब होंगे या नहीं। ग्राहकों के साथ मजबूती का रिश्ता बना पाना मुश्किल भरा काम होता है कभी कभी ऐसा लगता है कि कहने से ज्यादा आसान करना होता है लेकिन ऐसा होता नहीं। इस तरह की दिक्कतों से पार पाने के लिए जांद्रा सटन ने एक नायाब रास्ता निकाला। कठिन ग्राहकों को समझाने के लिए उन्होंने फर्जी पुरुष सहायक की मदद ली।

जांद्रा सटन का क्या कहना है
जांद्रा सटन का कहना है कि पहले तो उन्हें अपने इस प्रयोग पर भरोसा नहीं हो रहा था। लेकिन उन्होंने पाया कि उनकी तरकीब काम कर रही है लिहाजा वो दूसरी महिलाओं से भी इस तरह के ट्रिक पर काम करने की अपील कर रही हैं। जांद्रा ने अपने अनुभव को @Jandralee पर अपलोड भी किया है। वो कहती हैं कि अगर आप लखपति महिला व्यापारी हैं और आप को ईमेल लिखने की आवश्यकता हो तो परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। आप सभी लोगो मेरे नुस्खे का इस्तेमाल कर सकती हैं। 

सटन ने कहा कि उनके सहायक का नाम मैट है और यह पुरुष सहायक के लिए जीमेल उर्फ के अलावा कुछ नहीं है। युवा उद्यमी ने कहा कि 'मैट' उन सभी कठिन वार्ताओं को संभालता है जिन्हें वह व्यक्तिगत रूप से संभालना नहीं चाहता है।उन्होंने किसी भी बातचीत या कठिन बातचीत को संभाल लिया है जो मैं व्यक्तिगत रूप से नहीं संभालना चाहता और वह अपनी नौकरी पर बहुत अच्छा है।

सोशल मीडिया पर मिल रही है सराहना
सटन ने कई महिला उद्यमियों के साथ अपने चतुर विचार के लिए सराहना की है और कहा है कि वे इसे स्वयं आजमाने जा रही हैं।जब एक सोशल मीडिया यूजर्स ने सुटन को अपने सहायक का उदाहरण देने के लिए कहा, तो उसने लिखा कि मैं इसका इस्तेमाल ज्यादातर तब करता हूं जब लोग फॉलो-अप ईमेल में असभ्य होते हैं या संभावित ग्राहकों को मेरा आधार मूल्य बताते हैं

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर