वैक्‍सीनेशन के बगैर सर्टिफिकेट पाने को शख्‍स ने लगाया ऐसा जुगाड़, नकली हाथ के साथ पहुंच गया हेल्‍थ सेंटर

कोविड का टीका न लगे और इसका सर्टिफिकेट मिल जाए, इसके लिए एक शख्‍स ने खूब जुगाड़ लगाया। लेकिन हेल्‍थ सेंटर पर उसकी एक न चली, जहां नर्स ने आस्‍तीन पकड़ते ही समझ लिया कि यह तो सिलिकॉन का हाथ है।

वैक्‍सीनेशन के बगैर सर्टिफिकेट पाने को शख्‍स ने लगवाया ऐसा जुगाड़, नकली हाथ के साथ पहुंच गया हेल्‍थ सेंटर
वैक्‍सीनेशन के बगैर सर्टिफिकेट पाने को शख्‍स ने लगाया ऐसा जुगाड़, नकली हाथ के साथ पहुंच गया हेल्‍थ सेंटर  |  तस्वीर साभार: Representative Image

रोम : कोविड महामारी के बीच दुनियाभर में वैक्‍सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है और कई जगह इससे संबंधित नियमों को कड़ा किया गया गया है। हालांकि ऐसे लोग अब भी हैं, जिनके मन में कोविड वैक्‍सीनेशन को लेकर अब भी डर है और इसकी वजह से वे वैक्‍सीन नहीं लगवाना चाहते। इटली में ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां एक शख्‍स ने कोविड वैक्‍सीन लगवाए बगैर ही सर्टिफिकेट पाने के लिए फर्जी हाथ के जरिये हेल्‍थ वर्कर को वेबकूफ बनाने की कोशिश की।

बताया जा रहा है कि यह शख्‍स हेल्‍थ वर्कर था। इटली में सभी हेल्‍थ वर्कर्स के लिए वैक्‍सीनेशन अनिवार्य किया गया है। लेकिन इस शख्‍स ने टीका नहीं लगवाया था। इस वजह से उसे सस्‍पेंड कर दिया गया था। अपना निलंबन खत्‍म करने के लिए ही उसने यह पैंतरा अपनाया था और फर्जी हाथ के साथ वैक्‍सीन लगवाने पहुंच गया। हालांकि जैसे ही नर्स ने उसे वैक्‍सीन लगाने के लिए हाथ को पकड़ा, उसे कुछ असामान्‍य सा लगा और यह समझते देर नहीं लगी कि यह सिलिकॉन का हाथ है।

ऐसे पकड़ी गई चाल

इस व्यक्ति की उम्र 50 साल के आसपास है। वह कोविड वैक्‍सीन नहीं लगवाना चाहता था, लेकिन सेवा से निलं‍बन को समाप्‍त करवाने के लिए उसे वैक्‍सीनेशन सर्टिफिकेट की जरूरत थी। ऐसे में उसने सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए अलग ही पैंतरा अपनाया। उसने सिलिकॉन मोल्‍ड से अपने असली हाथ को ढक लिया था। उसने सोचा था कि किसी का ध्‍यान इस तरफ नहीं जाएगा। लेकिन नर्स ने जैसे ही वैक्‍सीन लगाने के लिए उसके आस्‍तीन को पकड़ा तो वहां की त्‍वचा उसे ठंडी और रबड़ की तरह लगी।

इतालवी अखबार ला रिपब्लिका के मुताबिक, पकड़े जाने के बाद उस व्यक्ति ने नर्स को मनाने की कोशिश की कि वह उसकी चालबाजी के बारे में किसी को न बताए, लेकिन नर्स ने इसकी सूचना अधिकारियों को दी, जिसके बाद मामले की जांच की जा रही है। स्‍थानीय प्रशासन ने इस तरह की धोखाधड़ी को 'गंभीर' मसला करार देते हुए कहा कि ऐसे व्‍यवहार को स्‍वीकार नहीं किया जाएगा। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर