बेपनाह इश्क! पत्नी के लिए बना दिया 'ताजमहल' जैसा घर, खूबसूरती और खासियत दिल जीत लेगा

शिक्षाविद आनंद प्रकाश चौकसे ने अपना घर हू ब हू आगरा में बने प्रेम की निशानी ताजमहल की तरह बनवाया है। उन्होंने 4 बेडरूम वाले इस खूबसूरत घर को अपनी पत्नी मंजूषा चौकसे को तोहफे में दिया है। ऐसा कहा जाता है कि ताजमहल को बुरहानपुर से गुजरने वाली ताप्ती नदी के किनारे बनना था। लेकिन, कुछ कारणों से इसका निर्माण आगरा में हुआ। इस बात की कसक आनंद चौकसे को भी थी।

Madhya Pradesh Man Anand Prakash Chouksey Gifted Taj Mahal Look Like House To Wife
पत्नी को गिफ्ट किया ताजमहल जैसा घर  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • शिक्षाविद आनंद प्रकाश चौकसे ने पत्नी को गिफ्ट किया ताजमहल जैसा घर
  • तीन साल लग गए इस आलीशान घर को बनाने में
  • खूबसूरती और खासियत लोगों का दिल जीत रहा है

आमतौर पर लोग प्यार में बड़े-बड़े दावे और वादे करते हैं। यहां तक कि कुछ लोग पार्टनर को खुश करने के लिए चांद-तारे तक तोड़ लाने की भी बात करते हैं। वहीं, कुछ लोग प्यार की निशानी 'ताजमहल' गिफ्ट करते हैं। लेकिन, एक शख्स ने अपनी पत्नी के लिए कुछ ऐसा किया, जो चर्चा का विषय बन चुका है। मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के रहने वाले शख्स ने अपनी पत्नी को 'ताजमहल' जैसा घर बनाकर गिफ्ट कर दिया है। घर की खूबसूरती और खासियत को देखकर आप एक ही बात कहेंगे, ' इसे कहते हैं बेपनाह इश्क'।

शिक्षाविद आनंद प्रकाश चौकसे ने अपना घर हू ब हू आगरा में बने प्रेम की निशानी ताजमहल की तरह बनवाया है। उन्होंने 4 बेडरूम वाले इस खूबसूरत घर को अपनी पत्नी मंजूषा चौकसे को तोहफे में दिया है। ऐसा कहा जाता है कि ताजमहल को बुरहानपुर से गुजरने वाली ताप्ती नदी के किनारे बनना था। लेकिन, कुछ कारणों से इसका निर्माण आगरा में हुआ। इस बात की कसक आनंद चौकसे को भी थी। लिहाजा, जब उन्हें यह मौका मिला तो उन्होंने अपनी पत्नी को ताजमहर जैसा घर गिफ्ट करने का प्लान किया।  

ये है घर की खासियत

ताजमहल जैसे घर को बनाने में कई दिक्कतें सामने आईं, लेकिन आनंद ने हिम्मत नहीं हारी। तकरीबन तीन साल कड़ी मशक्कत के बाद यह आलीशान घर तैयार हो गया। इस घर को बनाने से पहले आनंद चौकसे अपनी पत्नी के साथ ताजमहल।वहां जाकर उन्होंने बारीकी से ताजमहल का अध्ययन किया। इसके बाद आनंद प्रकाश चौकसे ने ये घर बनाने की जिम्मेदारी कंसलटिंग इंजीनियर प्रवीण चौकसे को सौंपी। इंजीनियर प्रवीण चौकसे भी खुद आगरा गए और ताजमहल के क्षेत्रफल की बारिकियों को देखा। घर का क्षेत्रफल 90X90 का है। बेसिक स्ट्रक्चर 60X60 का है। जबकि, डोम 29 फीट ऊंची है। घर की नक्काशी करने के लिए बंगाल और इंदौर के कारीगरों को बुलाया गया। वहीं, घर की फ्लोरिंग राजस्थान के मकराना के कारीगरों ने की है। जबकि, फर्नीचर सूरत और मुंबई के कारीगरों ने तैयार किए हैं। आगरा के कारीगरों की भी मदद ली गई। इस शानदार घर को बनाने में तीन साल लग गए और अब यह घर बनकर तैयार हो गया है। 


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Viral News in Hindi, साथ ही Hindi News के ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर