प्रेमिका को पाने की अजब जिद! दो बार हुई गर्लफ्रेंड की शादी, आशिक ने दोनों बार तुड़वा दी और फिर..

वायरल
आदित्य साहू
Updated Jul 29, 2022 | 14:36 IST

Ajab Gajab Love: प्रेमी अपनी प्रेमिका से इतनी मोहब्बत करता था कि उसकी जहां भी शादी होती थी, सीधा गर्लफ्रेंड के ससुराल पहुंच जाता था। इससे प्रेमिका की शादी टूट जाती थी। इसके बाद जो हुआ वह किसी फिल्मी कहानी की तरह है।

shadi
गर्लफ्रेंड की शादी  |  तस्वीर साभार: Google Play
मुख्य बातें
  • गर्लफ्रेंड की दो बार हुई शादी
  • आशिक ने दोनों बार तुड़वा दी
  • आखिरकार प्रेमी से हुई शादी

Ajab Gajab Love: बिहार के छपरा से प्रेम की एक अजब कहानी सामने आई है। यहां एक आशिक ने अपनी गर्लफ्रेंड को पाने के लिए उसकी दो-दो शादियां तुड़वा दीं। प्रेमी अपनी गर्लफ्रेंड से इतना प्यार करता था कि दो शादियों के बाद भी उससे शादी करना चाहता था। इसके बाद जो हुआ, वह किसी फिल्म से कम नहीं है। छपरा के पानापुर थाना क्षेत्र के इस युवक ने अपनी प्रेमिका को पाने के लिए सारी हदें पार कर दी। अब इस सनक भरी प्रेम कहानी की चर्चा हर जगह हो रही है।

प्रेमिका की शादी से बौखला गया प्रेमी

खबर के अनुसार, रामपुररुद्र के रहने वाला नीरज मशरक थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले हंसापिर गांव की रहने वाली बबीता से बेपनाह मोहब्बत करता था। बबिता भी उसे दिलो-जान से प्यार करती थी और दोनों में काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। हालांकि, बबिता की शादी उसके खिलाफ जाकर उसके घरवालों ने मशरक के रहने वाले एक युवक से कर दी। बबिता की शादी होने के बाद नीरज बौखला सा गया। इसके बाद वह सीधा अपनी प्रेमिका के ससुराल ही पहुंच गया। इससे बबिता के दाम्पत्य जीवन में दरार पड़ गया। बबिता को उसके ससुरालवालों ने घर से निकाल दिया।

ये भी पढ़ें- नौकर पर आया मालकिन का दिल, प्यार के लिए तोड़ दी सारी दीवारें, मजेदार है पाकिस्तानी महिला की लव-स्टोरी

दूसरी शादी भी प्रेमी ने तुड़वाई

पहली शादी टूटने के बाद बबीता के पिता उसके प्रेमी नीरज के साथ शादी के लिए तैयार हो गए थे। हालांकि, नीरज के पिता दहेज में दो लाख रुपये की मांग कर रहे थे। जिसे बबिता के पिता देने में असमर्थ थे। इसके बाद बबिता के पिता ने अपनी बेटी की शादी गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के जगदीशपुर गांव के एक युवक से कर दी। यहां भी उसका प्रेमी नीरज आ धमका और बबिता के पति को जान मारने की धमकी देने लगा। धमकी से बबिता के ससुरालवाले डर गए और उन्होंने भी बबिता को घर से निकाल दिया।

अपने सनकी आशिक की करतूतों से बबिता पूरी तरह टूट चुकी थी। इसके बाद वह अपने पिता के घर पहुंची। पिता उसे लेकर नीरज के गांव रामपुररुद्र पहुंचे, जहां पंचायत बुलाई गई। इस पंचायत में नीरज ने बबिता को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकारने की हामी भर दी। इसके बाद बबिता और नीरज की शादी करवा दी गई। प्रखंड मुख्यालय स्थित ठाकुरबाड़ी मंदिर में गांव के लोगों की उपस्थिति में दोनों प्रेमी जोड़े आखिरकार एक हो गए।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर