LIVE BLOG
More UpdatesMore Updates

Diwali 2021 Puja Vidhi, Muhurat, Samagri: दिवाली लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त, यहां पढ़िए मां लक्ष्मी जी की आरती

Diwali (Deepavali) 2021 Date, Puja Vidhi, Shubh Muhurat, Time, Samagri, Mantra: दीपावली कार्तिक मास की अमावस्या के दिन मनाई जाती है। दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन का खास महत्व है। जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और तारीख...
 Diwali laxmi puja time 2021
Diwali laxmi puja time 2021

Diwali 2021 Date, Puja Vidhi, Shubh Muhurat, Samagri List: देशभर में दीपोत्सव यानी दिवाली का त्योहार इस साल चार नवंबर यानी गुरुवार को मनाया जा रहा है। दो नवंबर को धनतेरस के साथ इस त्योहार की शुरुआत हो गई है। दीपावली हर साल कार्तिक मास की अमावस्या के दिन मनाई जाती है।

दिवाली की शुरुआत धनतेरस के दिन होती है। दूसरे दिन नरक चतुर्दशी, तीसरे दिन दिवाली, चौथे दिन गोवर्धन पूजा और पांचवे दिन भाईदूज का पर्व होता है। दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन का सबसे अधिक महत्व होता है। लक्ष्मी पूजन करने से परिवार में सुख और समृद्धि आती है। 

दिवाली का शुभ मुहूर्त (Diwali Puja muhurat 2021)
दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त हर जगह अलग-अलग है। दिल्ली एनसीआर में पूजा का शाम 6 बजकर 10 मिनट से 8 बजकर 06 मिनट तक है।  लक्ष्मी जी के साथ-साथ भगवान गणेश की भी पूजा की जाती है। माता लक्ष्मी को धन और संपत्ति की देवी माना जाता है। वहीं भगवान गणेश बुद्धि और कार्य को सफल करने वाले देवता माने जाते हैं।

Nov 04, 2021  |  08:26 PM (IST)
दिवाली पूजन के समय करें भगवान गणेश के मंत्रों का जाप

आगच्छ भगवन्देव स्थाने चात्र स्थिरो भव।
यावत्पूजा करिष्यामि तावत्वं सन्निधौ भव।।
 

गजाननं भूतगणादिसेवितम कपित्थजम्बू फल चारू भक्षणं।
उमासुतम शोक विनाशकारकं नमामि विघ्नेश्वर पादपंकज्।।
 

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। 
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥

Nov 04, 2021  |  07:59 PM (IST)
भगवान गणेश जी की आरती (Ganesh Ji Ki Aarti)

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,
चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे,
मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फूल चढ़े,
और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे,
संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,
कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत,
निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

'सूर' श्याम शरण आए,
सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

Nov 04, 2021  |  07:36 PM (IST)
मां लक्ष्मी जी की आरती

ओम जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।
तुमको निशिदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता॥
  ओम जय लक्ष्मी माता॥

उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता।
सूर्य-चंद्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता॥
     ओम जय लक्ष्मी माता॥

दुर्गा रुप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता।
जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥
        ओम जय लक्ष्मी माता॥

तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता॥
  ओम जय लक्ष्मी माता॥

जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता।
सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता॥
      ओम जय लक्ष्मी माता॥

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥
     ओम जय लक्ष्मी माता॥

शुभ-गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि-जाता।
रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥
     ओम जय लक्ष्मी माता॥

महालक्ष्मीजी की आरती, जो कोई जन गाता।
   उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता॥
        ओम जय लक्ष्मी माता॥

Nov 04, 2021  |  06:43 PM (IST)
किस शहर में कब है दिवाली लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त?
  • जयपुर:शाम 6:17 बजे से रात 8:14 बजे तक 
  • हैदराबाद: शाम 6:22 बजे से रात 8:14 बजे तक
  • गुड़गांव: शाम 6:10 बजे से रात 8:05 बजे तक
  • कोलकाता: शाम 5:34 मिनट से 7:31 मिनट तक
  • अहमदाबाद: शाम 6:37 मिनट से 8:33 मिनट तक
  • पुणे: शाम 6:39 बजे से रात 8:32 बजे तक
  • चेन्नई: शाम 6:21 से रात 8:10 बजे तक
  • भोपाल: 6:17 मिनट से 8:14 मिनट तक
  • लखनऊ: शाम 5:57 मिनट से 7:53 मिनट तक
  • कानपुर: शाम 6:00 मिनट से 7:57 मिनट तक
  • शिमला: शाम 6:04 मिनट से 7:59 मिनट तक
  • गुवहाटी: शाम 5:15 मिनट से 7:12 मिनट तक
  • जम्मू: शाम 6:10 मिनट से 08:04 मिनट तक
  • श्रीनगर: शाम 6:08 मिनट से 08:01 मिनट तक
Nov 04, 2021  |  06:06 PM (IST)
दिवाली पूजन 2021 के लिए मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा प्रदोष काल मुहूर्त - 06:09 PM से 08:04 PM
लक्ष्मी पूजा निशिता काल मुहूर्त - 11:39 PM से 12:31 AM, नवम्बर 05

अमावस्या तिथि आरंभ - नवम्बर 04, 2021 को 06:03 AM बजे
अमावस्या तिथि समापन - नवम्बर 05, 2021 को 02:44 AM बजे

Nov 04, 2021  |  05:08 PM (IST)
दिवाली पूजा के शुभ मंत्र (Diwali Puja 2021 Shubh Mantra)

मां लक्ष्मी जी के मंत्र- ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद, ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:॥

कुबेर मंत्र - ऊं यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये धनधान्यसमृद्धिं में देहि दापय।

सौभाग्य प्राप्ति के लिए मंत्र- ऊं श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।

Nov 04, 2021  |  04:19 PM (IST)
दिवाली 2021 के लिए संपूर्ण पूजा सामग्री

लकड़ी की चौकी और चौकी को ढकने के लिए ताजा लाल या पीले कपड़े का टुकड़ा, देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की मूर्तियां या चित्र, कुमकुम, चंदन, हल्दी, रोली, अक्षत, पान का पत्ता और अखरोट, भूसी के साथ साबुत नारियल, अगरबत्ती, दीपक के लिए घी, एक पीतल या मिट्टी का दीपक, कॉटन विक्स, पंचामृत, गंगाजल, पुष्प, फल, कलश, पानी, आम के पत्ते, कपूर, कलाव, साबुत अनाज, दूर्वा घास, जनेऊ, धूप, एक लघु झाड़ू, दक्षिणा (मुद्रा नोट और सिक्का), एक धातु की घंटी, एक आरती थाली।

Nov 04, 2021  |  02:46 PM (IST)
देसी घी का दीया

गाय के घी को सबसे शुद्ध माना जाता है। गाय के घी से दीपक जलाने से आसपास के वातावरण में सभी सकारात्मक उत्पन्न होती है। माना जाता है कि दिवाली पर देसी घी का दीया जलाने से दरिद्रता भी समाप्त होगी और घर में धन व स्वास्थ्य सुख बना रहेगा। साथ ही मां लक्ष्मी की कृपा भी परिवार पर होगी।

Nov 04, 2021  |  01:53 PM (IST)
मां लक्ष्मी का हुआ था जन्म (Diwali 2021 Vrat Katha)

धार्मिक ग्रंथो की मानें तो समुद्र मंथन के दौरान दिवाली के दिन धन की देवी मां लक्ष्मी का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन गणेश और लक्ष्मी जी की पूजा का विधान है। मान्यता है कि इस दिन मां लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा अर्चना करने से सुख-समृद्धि, यश वैभव की प्राप्ति होती है और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

Nov 04, 2021  |  01:01 PM (IST)
पांडवों ने भी किया था वनवास पूरा (Diwali 2021 Katha in Hindi)

दीपावली मनाने की परंपरा रामायण के अलावा महाभारत काल से भी जुड़ी है। हिंदू महाग्रंथ महाभारत के अनुसार इसी कार्तिक मास की अमावस्या को पांडव तेरह वर्ष का वनवास पूर्ण कर वापस लौटे थे। 

Nov 04, 2021  |  12:41 PM (IST)
झाड़ू का दान करें (Diwali 2021 Laal Kitaab Upaay)

दिवाली की शाम किसी भी मंदिर में जा कर झाड़ू का दान करें ये उपाय आपके घर की दरिद्रता को दूर कर देगा। दिवाली के दिन महालक्ष्मी का मंदिर गुलाब की सुगंध वाली अगरबत्ती का दान करें। ये उपाय आप पर देवी लक्ष्मी की कृपा की बरसात कर देगा।
 

Nov 04, 2021  |  11:40 AM (IST)
दिवाली पर अपनाएं लाल किताब के उपाय (Diwali 2021 Laal Kitaab Upaay)

दिवाली पर देवी लक्ष्मी की पूजा के बाद घर के कोने-कोने और मुख्यद्वार के बाहर शंख और घंटी जरूर बजाएं। दिवाली पर एक दीपक जलाएं जिसमें सरसों का तेल डालें और एक लौंग पर एक दीपक जलाएं साथ ही उसमें लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें। फिर किसी हनुमान मंदिर में जाकर उस दीपक को रख आएं।

Nov 04, 2021  |  11:05 AM (IST)
दीपावली पूजा का महत्व  ( Diwali 2021 Laxmi Pujan Significance)

मां लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए दीपावली का दिन बेहद शुभ माना जाता है। इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने से उनकी कृपा व्यक्ति पर सदैव बनी रहती है। व्यक्ति को धन का कभी अभाव नहीं होता है। शास्त्रों के अनुसार इस रात मां लक्ष्मी पृथ्वी पर विचरण करने आती है।

Nov 04, 2021  |  10:19 AM (IST)
दीपावली की आरती (Diwali 2021 Aarti Lyrics)

महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं,

नमस्तुभ्यं सुरेश्वरि ।

हरि प्रिये नमस्तुभ्यं,

नमस्तुभ्यं दयानिधे ॥

पद्मालये नमस्तुभ्यं,

नमस्तुभ्यं च सर्वदे ।

सर्वभूत हितार्थाय,

वसु सृष्टिं सदा कुरुं ॥

Nov 04, 2021  |  09:39 AM (IST)
इंद्र प्रा​र्थना मंत्र (Diwali 2021 Indra Prathna Mantra)

ऐरावतसमारूढो वज्रहस्तो महाबल:।

शतयज्ञाधिपो देवस्तस्मा इन्द्राय ते नम:।।

Nov 04, 2021  |  09:16 AM (IST)
लक्ष्मी बीज मन्त्र (Diwali 2021 Lakshmi Beej Mantra)

ॐ श्रींह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मी नम:।।

Nov 04, 2021  |  08:37 AM (IST)
 श्री लक्ष्मी महामंत्र (Diwali 2021 Laxmi Mahamantra)

ॐ श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।
 

Nov 04, 2021  |  08:11 AM (IST)
   कुबेर प्रा​र्थना मंत्र (Diwali 2021 Kuber Mantra )

धनदाय नमस्तुभ्यं निधिपद्माधिपाय च।

भवन्त त्वत्प्रसादान्मे धनधान्यादि सम्पद:।।

Nov 04, 2021  |  07:38 AM (IST)
 दीपावली पूजा मंत्र (Diwali 2021 Puja Mantra)

नमस्ते सर्वगेवानां वरदासि हरे: प्रिया।

या गतिस्त्वत्प्रपन्नानां या सा मे भूयात्वदर्चनात्।।'

Nov 04, 2021  |  06:52 AM (IST)
लक्ष्मी पूजा का मंत्र (Diwali 2021 Laxmi Pujan Mantra)

ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद, ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:॥
ऊं श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।