'जो जिन्ना का समर्थन कर रहे हैं, वह एक तरह से तालिबान का समर्थन कर रहे हैं', CM योगी का सपा पर वार

लखनऊ समाचार
भाषा
Updated Nov 14, 2021 | 15:28 IST

सीएम योगी ने इतिहास में छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए कहा कि सम्राट अशोक या चंद्रगुप्त मौर्य को महान नहीं बताया गया, लेकिन चंद्रगुप्त मौर्य से हारने वाले सिकंदर को महान बता दिया गया।

'जो जिन्ना का समर्थन कर रहे हैं, वह एक तरह से तालिबान का समर्थन कर रहे हैं', CM योगी का सपा पर वार
'जो जिन्ना का समर्थन कर रहे हैं, वह एक तरह से तालिबान का समर्थन कर रहे हैं', CM योगी का सपा पर वार  |  तस्वीर साभार: ANI

लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के प्रमुख पर हमला करते हुए रविवार को कहा कि 'जो लोग आज जिन्ना का समर्थन कर रहे हैं वह एक तरह से तालिबान का समर्थन कर रहे हैं।' मुख्यमंत्री ने इस दौरान हालांकि किसी का नाम नहीं लिया। मुख्‍यमंत्री योगी ने यहां भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा मोर्चा द्वारा आयोजित 'सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन' की श्रृंखला में मौर्य, कुशवाहा, शाक्य, सैनी समाज के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि 'तालिबान का समर्थन मतलब मानवता विरोधी शक्तियों को समर्थन देना है।'

उन्होंने कहा कि 'बुद्ध के शांति और मैत्री के संदेश को रोकने की साजिश का हिस्सा है तालिबान का समर्थन करना, तालिबान का समर्थन करने का मतलब आधी आबादी और बच्‍चों का अपमान करना और कुछ लोग उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, हमें उनसे सावधान रहना होगा।'

गौरतलब है कि सरदार पटेल की जयंती पर हरदोई की एक सभा में समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने आजादी की लड़ाई में सरदार पटेल, महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू के योगदान की सराहना करते हुए उसी कड़ी में जिन्ना (पाकिस्तान के पहले गवर्नर जनरल मोहम्मद अली जिन्ना) का भी नाम लिया था।

विपक्ष पर किए तीखे वार

योगी ने कहा कि 'जब व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए कोई व्यक्ति समाज का दोहन करता है तो भले कितना भी लाभ ले ले, लेकिन समाज उन्नति के शिखर पर नहीं पहुंच सकता। कुछ चीजें हैं जो इतिहास हमें सीखने के लिए प्रेरित करता है। जब अफगानिस्तान के बामियान में तालिबानियों ने महात्मा बुद्ध की मूर्ति को तोड़ा तो तालिबान की उस क्रूरता को दुनिया ने देखा था।'

उन्होंने कहा कि 'शांति, करुणा के महामानव की प्रतिमा को तालिबानियों ने कैसे तोड़ा था, यह कभी भूलना नहीं चाहिए। बुद्ध की प्रतिमा को तोड़ने का मतलब शांति और करुणा को तोड़ना है।' योगी ने कहा कि '1999 में जब यह घटना हुई तो हमने सोचा कि जिन्‍होंने महात्मा बुद्ध की प्रतिमा को तोड़ा है, उनकी एक दिन बड़ी दुर्गति होगी और उसके कुछ दिन बाद ही जब अमेरिका बम बरसा रहा था तो मैंने कहा कि यह बुद्ध की प्रतिमा के साथ अन्याय का प्रतिफल है।'

योगी ने किसी का नाम लिए बिना कहा कि 'विपक्ष के पास मुद्दा नहीं है, वह सरदार पटेल का अपमान करना जानते हैं, राष्ट्रनायक सरदार पटेल एक तरफ हैं और इस राष्ट्र को तोड़ने वाले जिन्ना दूसरी तरफ हैं। वह जिन्ना का समर्थन करते हैं और हम सरदार पटेल का समर्थन करते हैं।'

'इतिहासकार मौन हैं, क्‍योंकि‍...'

मुख्यमंत्री ने कहा कि 'इतिहास में सम्राट अशोक को या चंद्रगुप्त मौर्य को महान नहीं बताया गया, लेकिन चंद्रगुप्त मौर्य से हारने वाले सिकंदर को महान बता दिया। इतिहासकार इन मुद्दों पर मौन हैं क्योंकि सच्चाई भारतवासियों के मन में आ जाएगी तो भारत फिर से खड़ा हो जाएगा।'

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इस देश को ही खड़ा कर रहे हैं। एक भारत श्रेष्ठ भारत को लेकर जो बात हो रही है, वह इन्हीं मुद्दों को लेकर हो रही है। उन्होंने कोरोना महामारी में सरकार के प्रबंधन की चर्चा करते हुए मुफ्त टीकाकरण और राशन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर