अयोध्या में सीएम योगी के मंदिर को लेकर विवाद, सरकारी बंजर जमीन पर कब्जा कर बनाने का आरोप

CM Yogi Adityanath Temple: शिकायती पत्र के अलावा मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी शिकायत की गई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि प्रभाकर मौर्य ने सरकारी बंजर जमीन को कब्जा करने की नीयत से उस जमीन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मंदिर बनाया है जबकि ये जमीन सरकारी बंजर जमीन है। 

Controversy over CM Yogi temple in Ayodhya Accused of making it by occupying government barren land
अयोध्या में सीएम योगी के मंदिर को लेकर विवाद। 

CM Yogi Adityanath Temple: अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समर्थक प्रभाकर मौर्य द्वारा शहर से सटे मसौधा ब्लाक में मौर्या का पुरवा में बनाए गए सीएम योगी के मंदिर को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इस मंदिर निर्माण को लेकर मंदिर बनाने वाले प्रभाकर मौर्य के सगे चाचा ने मुख्यमंत्री को एक शिकायती पत्र भेजा है।

अयोध्या में सीएम योगी के मंदिर को लेकर विवाद

संन्यासी से CM बने और अब 'भगवान'...UP के अयोध्या में बना योगी आदित्यनाथ का मंदिर, मूर्ति में थामे हैं धनुष-बाण

शिकायती पत्र के अलावा मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी शिकायत की गई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि प्रभाकर मौर्य ने सरकारी बंजर जमीन को कब्जा करने की नीयत से उस जमीन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मंदिर बनाया है जबकि ये जमीन सरकारी बंजर जमीन है। 

सरकारी बंजर जमीन पर कब्जा कर मंदिर बनाने का आरोप

इस आशय में एक पत्र प्रभाकर मौर्या के चाचा ने जिलाधिकारी को भी भेजा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजी गई शिकायत में रामनाथ मौर्य ने आरोप लगाया है कि वह और उनके बड़े भाई जगन्नाथ मौर्य की जमीनें आपस में मिली हुई है। जगन्नाथ मौर्य के बेटे प्रभाकर मौर्य ने जमीन कब्जा करने की नीयत से उनके द्वारा लगाए गए पेड़ काट दिए और लकड़ियां उठा ले गए।

विधानसभा में अखिलेश यादव के आरोपों पर सीएम योगी ने किया पलटवार, कहा- जब सपने तार-तार होते हैं तो उसका दुख...

इसके बाद खाली जमीन पर उन्होंने जमीन कब्जा करने की नीयत से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मंदिर बनवा दिया है। रामनाथ मौर्य ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी इस मामले की शिकायत की है और मुख्यमंत्री से लेकर जिला प्रशासन के अधिकारियों से भी इस मामले में कार्रवाई की मांग की है। 

(अभिषेक श्रीवास्तव की रिपोर्ट)
 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर