UP News: रायबरेली में शिक्षकों की प्रताड़ना से आहत छात्र ने की आत्महत्या, नकल करने पर पिटाई के साथ किया था बेइज्जत

UP News: लखनऊ के पास के जिले रायबरेली में बच्चे ने आत्महत्या कर ली। घर वालों ने बच्चे को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए रायबरेली में अपने से दूर चाचा के पास रखा हुआ था। गुरुवार को स्कूल में शिक्षिका की पिटाई से आहत होकर स्कूल से वापस लौट कर छात्र ने आत्महत्या कर ली।

Lucknow News
यश का फाइल फोटो  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • रायबरेली में बच्चे ने शिक्षक की वजह से की आत्महत्या
  • परिवार की शिकायत पर प्रधानाचार्य और शिक्षिका पर केस दर्ज
  • घर वालों से बिना कुछ कहे कमरे में जा कर किया सुसाइड

UP News: राजधानी लखनऊ के पास के जिले रायबरेली में एक बच्चे ने आत्महत्या कर ली। घर वालों ने बच्चे को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए रायबरेली में अपने से दूर चाचा के पास रखा हुआ था। आरोप है कि, रायबरेली के मिल एरिया थाना क्षेत्र के एक निजी स्कूल के एक छात्र ने शिक्षिका और प्रधानाचार्य की प्रताड़ना से आहत होकर गुरुवार को पंखे के हुक से दुपट्टे से लटककर जान दे दी।

आरोप है कि, गुरुवार को स्कूल में हो रहे बायोलॉजी की परीक्षा में नकल करते पकड़ने पर शिक्षिका ने उसकी न सिर्फ पिटाई की बल्कि सबके सामने बेइज्जती भी किया। इसके बाद प्रधानाचार्य के पास ले गईं। और फिर उन्होंने भी उसी प्रकार से बच्चे को बेइज्जत किया। इससे क्षुब्ध हो कर यश घर पहुंचा।

सुसाइड नोट लिख पंखे से लटका छात्र

छात्र घर वालों से बिना कुछ कहे घर के सबसे ऊपर वाले कमरे में चला गया था। इसके बाद सुसाइड नोट लिख कर पंखे से लटक गया। पिता व घर के अन्य घरवालों ने आरोप लगाया कि बच्चा यह सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका। सीओ सदर वंदना सिंह ने कहा कि, परिवार की शिकायत पर प्रधानाचार्य और शिक्षिका पर केस दर्ज कर लिया गया है। यश के पिता ने बताया कि, बच्चे को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए रायबरेली में अपने से दूर चाचा के पास रखा हुआ था। मुझे क्या मालूम था कि, मेरा बच्चा स्कूल के शिक्षकों के कारण से हमेशा के लिए दूर हो जाएगा।

सुसाइड नोट में मागी माफी

स्कूल से आने के बाद यश ने सुसाइड नोट में लिख है कि, मैंने बायोलॉजी के पेपर में नकल की। मैं मरने जा रहा हूं। मेरा अनुरोध है कि इसके लिए मेरे अंकल-आंटी, मम्मी-पापा को दोष मत देना। कभी भी गलती करने के बाद किसी को भी एक मौका जरूर देना चाहिए, लेकिन मेरे साथ ऐसा नहीं किया गया। मैं अपनी गलती पर बहुत रोया हूं। मैं इसके कारण शर्मिंदा था। मेरे दोस्तों ने भी शेम-शेम बोला। अब मेरा दिमाग मेरे वश में नहीं है। मुझे बहुत बुरे ख्याल आ रहे हैं। मैं माता-पिता, दोस्तों और टीचर्स से माफी मांगता हूं।’ 

 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर