LIVE BLOG
More UpdatesMore Updates

Farmers Protest : किसानों को दिल्ली आने से रोकने के लिए हरियाणा सरकार के कड़े सुरक्षा इंतजाम

हरियाणा पुलिस ने गुरुवार को पंजाब के किसानों के एक समूह को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस का इस्तेमाल किया। ये किसान केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत कथित तौर पर पुलिस अवरोधक लांघ कर हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे।
देश
किशोर जोशी
Updated Nov 26, 2020 | 10:35 PM IST
Farmers Protest Today
Farmers Protest Today

नई दिल्ली: दिल्ली में आज किसानों को विशाल प्रदर्शन प्रस्तावित है। अंबाला के राष्ट्रीय राजमार्ग पर शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, जहां किसानों ने घग्गर नदी में पुलिस बैरिकेड को फेंक दिया। केंद्र सरकार द्वारा लाए नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के ‘दिल्ली चलो मार्च’ को देखते हुए हरियाणा ने पंजाब के साथ लगी अपनी सीमा को सील कर दिया है। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने भी अपनी कुछ लाइन्स पर अपनी सेवाएं स्थगित कर दी हैं। आज  दोपहर 2 बजे तक दिल्ली से नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गुरुग्राम तक मेट्रो सेवाओं पर ब्रेक रहेगी। जानिए किसानों के प्रदर्शन से जुड़ा हर ताजा अपडेट-

Nov 26, 2020  |  10:30 PM (IST)
हरियाणा सरकार ने दिल्ली करनाल हाइवे पर खोद दी सड़कें
किसान आंदोलन प्रदर्शनकारियों को दिल्ली में प्रवेश से रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने कड़े इंतजाम किए हैं, इसके लिए दिल्ली करनाल हाइवे पर गनौर के पास सड़कों को खोद दिया गया है।हरियाणा राज्य की सारी सीमाओं को सील करते हुए यहां सख्त सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं।पानीपत टोल प्लाजा पर पड़ाव 'दिल्ली चलो' के विरोध के तहत किसान दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं उन्हें रोका जा रहा है,एक प्रदर्शनकारी ने कहा- 'क्या हम आतंकवादी हैं कि हमें राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जा रही है यह लोकतंत्र की मृत्यु है।'
Nov 26, 2020  |  05:28 PM (IST)
किसानों ने अंबाला, करनाल और कुरुक्षेत्र में खासा हंगामा खड़ा कर दिया
उग्र हुए किसानों ने अंबाला, करनाल और कुरुक्षेत्र में खासा हंगामा खड़ा कर दिया है, किसानों को काबू करने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया है वहीं केंद्र सरकार ने किसानों को वार्ता का न्योता दिया है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गुरुवार को कहा कि नए कानून बनाना समय की आवश्यकता थी। पंजाब में हमारे किसान भाई-बहनों को कुछ भ्रम है, हमने भ्रम दूर करने के लिए सचिव स्तर पर वार्ता की। मैंने 3 दिसंबर को सभी किसान यूनियन को पुन: बैठक के लिए अनुरोध किया है।
Nov 26, 2020  |  05:11 PM (IST)
प्रकाश सिंह बादल कैप्टन अमरिंदर से बोले- प्रधानमंत्री से मिलकर प्रेशर बनाए कैप्टन

शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि कैप्टन को वहां जाकर आंदोलन करने की जरूरत है, लेकिन वो चुप होकर बैठे हैं और पानी की बौछारों का सामना करने के लिए किसानों को सड़कों पर लगा दिया है, उन्हें प्रधानमंत्री और कृषि मंत्री के साथ मिलकर प्रेशर बनाना चाहिए उनके मन में एक बात है जिसके चलते वो पॉलिटिकल झंडे के नीचे कैंपेन शुरू नहीं करना चाहते।

Nov 26, 2020  |  04:48 PM (IST)
हरियाणा सीएम खट्टर बोले अगर MSP पर दिक्कत आई तो छोड़ देंगे राजनीति
कैप्टन ने बीजेपी की सरकार पर किसानों के खिलाफ हथियार उठाने का आरोप लगाया है इसपर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने भी उनके आरोपों पर जवाब देते हुए कहा कि वो तीन दिनों से पंजाब सरकार से बात करने की कोशिश कर रहे हैं। सीएम खट्टर ने यह भी कहा कि अगर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर दिक्कत आई तो वो खुद राजनीति छोड़ देंगे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को बीजेपी से ट्विटर पर अपील करते हुए कहा कि वो अपनी राज्य सरकार को किसानों के खिलाफ हथियारों के इस्तेमाल की नीति छोड़ने को कहे। जो किसान देश को अन्न देते हैं, उनकी बात सुनने की जरूरत है, ना कि उन्हें किनारे कर देने की। ये दु:खद है कि संविधान दिवस के दिन किसानों के संवैधानिक अधिकारों को इस तरह से कुचला जा रहा है।
Nov 26, 2020  |  03:57 PM (IST)
 गुरुग्राम-दिल्ली रोड पर लगा भीषण जाम
किसानों के प्रदर्शन के कारण दिल्ली गुरुग्राम बॉर्डर पर भीषण जाम लग गया है। दिल्ली पुलिस ने किसानों द्वारा 'दिल्ली चलो' विरोध मार्च के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी निगरानी सख्त कर दी। किसानों के मार्च को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ट्रेनें बृहस्पतिवार को दोपहर दो बजे तक पड़ोसी शहरों से राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं को पार नहीं करेंगी।
Nov 26, 2020  |  03:21 PM (IST)
किसानों को रोकने को लेकर अमरिंदर ने खट्टर पर साधा निशाना


पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बृहस्पतिवार को दिल्ली की ओर मार्च कर रहे किसानों को रोकने के लिए भाजपा नीत हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके खिलाफ ‘कठोर बल’ का इस्तेमाल ‘पूरी तरह अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक’ है। पंजाब के किसानों को केन्द्र के कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के लिए हरियाणा से लगी सीमाओं के पास इकट्ठा होता देख, हरियाणा ने पंजाब से लगी अपनी सभी सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया है।

Nov 26, 2020  |  03:12 PM (IST)
सरकार ने की बातचीत की पेशकश

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों के सामने बातचीत की पेशकश रखी है। उन्होंने कहा, 'मैं अपने किसान भाइयों से अपील करना चाहता हूं कि वे आंदोलन न करें। हम मुद्दों के बारे में बात करने और मतभेदों को सुलझाने के लिए तैयार हैं। मुझे यकीन है कि हमारे संवाद का सकारात्मक हल निकलेगा। नए कृषि कानून समय की आवश्यकता थी। आने वाले समय में यह क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले हैं। हमने पंजाब में सचिव स्तर पर अपने किसान भाइयों की गलत धारणाओं को दूर करने के लिए बात की है। हम 3 दिसंबर को बात करेंगे।'

Nov 26, 2020  |  02:55 PM (IST)
करनाल में किसानों पर वाटर कैनन का इस्तेमाल

हरियाणा: कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली कूच कर रहे किसानों पर करनाल में वॉटर कैनन का इस्तेमाल कर उन्हें तितर-बितर करने की कोशिश की जा रही है। बड़ी संख्या में किसान दिल्ली कूच की तैयारी कर रहे हैं और ऐसे में दिल्ली से सटी सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है और सभी जगहो पर धारा 144 लगा दी गई है। वहीं हरियाणा के अंबाला में भी किसानों और पुलिस के बीच झड़प की खबर सामने आई है।

Nov 26, 2020  |  02:29 PM (IST)
प्रियंका बोलीं- किसानों से सबकु छीना जा रहा है
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, 'किसानों से समर्थन मूल्य छीनने वाले कानून के विरोध में किसान की आवाज सुनने की बजाय भाजपा सरकार उन पर भारी ठंड में पानी की बौछार मारती है।किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं।'
Nov 26, 2020  |  01:55 PM (IST)
पहले ही अनुरोध ठुकरा चुकी है पुलिस

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने 26 और 27 नवंबर को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने के विभिन्न किसान संगठनों के अनुरोधों को अस्वीकार कर दिया था। पुलिस ने मंगलवार को कहा था कि अगर वे कोविड-19 महामारी के बीच किसी भी सभा के लिए शहर में आते हैं तो विरोध करने वाले किसानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Nov 26, 2020  |  01:41 PM (IST)
वाहनों की सघन चैंकिंग


पुलिस उपायुक्त (पूर्व) जसमीत सिंह ने बताया, 'हमारा मुख्य ध्यान गाजीपुर सीमा, चिल्ला सीमा और डीएनडी पर होगा। वहां पहले से ही पुलिस कर्मियों की भारी तैनाती है और चौबीसों घंटे जांच होगी। अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है। पुलिस जिले की अन्य छोटी सीमाओं की भी जांच करेगी।' पुलिस ने बताया कि सभी सीमाओं पर पुलिस को सक्रिय कर दिया गया है

Nov 26, 2020  |  01:07 PM (IST)
दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में निगरानी बढ़ी


दिल्ली पुलिस ने बृहस्पतिवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा 'दिल्ली चलो' विरोध मार्च के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी निगरानी सख्त कर दी। पुलिस ने कहा कि सिंघू सीमा पर दिल्ली पुलिस ने किसानों द्वारा संचालित ट्रैक्टरों की आवाजाही रोकने के लिए रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है। यह पहला मौका है जब शहर की पुलिस ने सीमा पर रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है।

Nov 26, 2020  |  12:29 PM (IST)
किसानों पर पुलिस ने की पानी की बौछार


पंजाब के साथ लगी शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर हरियाणा पुलिस के अधिकारियों ने ‘लाउड स्पीकर’ का इस्तेमाल किया और किसानों को पंजाब की ओर ही इकट्ठा होने को कहा। उनमें से कुछ अवरोधक लांघने की कोशिश कर रहे थे। राष्ट्रीय राजमार्ग पर शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, जहां किसानों ने घग्गर नदी में पुलिस बैरिकेड को फेंक दिया। कई किसान हाथ में काले झंडे लिए भी नजर आए। किसानों के एक समूह को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस का इस्तेमाल किया। 

Nov 26, 2020  |  12:07 PM (IST)
अंबाला बॉर्डर पर किसानों ने की पुलिस पर पत्थरबाजी
दिल्ली कूच कर रहे किसानों का प्रदर्शन अंबाला-पटियाला बॉर्डर पर आक्रामक हो गया है। किसानों द्वारा की जा रही पत्थरबाजी के बाद पुलिस ने भी आंसूगैस के गोले छोड़े।. यहां किसानों ने बैरिकेडिंग को उखाड़ फेंका है। पुलिस ने दो मिट्टी के भरे ट्रक वहां लगाए थे जिसे किसान हटाने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने पूरे इलाके में धारा 144 लगाई है।
Nov 26, 2020  |  11:37 AM (IST)
रोहतक की सीमा पर भारी पुलिस बल तैनात
किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए हरियाणा के रोहतक स्थित बॉर्डर पर भारी सुरक्षाकर्मियोंको तैनात किया गया है। पूरे क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई है और पूरी सीमाओं पर एक तरह से किलेबंदी कर दी गई है। पुलिस ने हरियाणा के लगभग 100 किसान नेताओं को एहतियात के तौर पर हिरासत में लिया है। पुलिस के अनुमान के मुताबिक दोनों राज्यों के लगभग 3 लाख किसान 'दिल्ली चलो' आंदोलन के तहत दिल्ली पहुंचने के लिए तैयार हैं।
Nov 26, 2020  |  10:54 AM (IST)
सीमा पर एकत्र हुए हजारों किसान

बढ़ते तनाव के बीच पंजाब में हरियाणा की सीमा पर विभिन्न जगहों पर गुरुवार को हजारों प्रदर्शनकारी किसान रात भर बारिश और सर्द हवाओं का सामना करते हुए इकट्ठा हुए। केंद्र के 3 कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे ये लोग 'दिल्ली चलो' के तहत राष्ट्रीय राजधानी की ओर बढ़ रहे थे जिन्हें हरियाणा पुलिस ने सीमा पर रोक लिया है। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स समेत पुलिस की एक बड़ी टुकड़ी को तैनात किया गया है 

Nov 26, 2020  |  10:24 AM (IST)
पंजाब से दिल्ली की तरफ कूच कर रहे हैं किसान
केंद्र द्वारा पारित कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब के फतेहगढ़ साहिब के किसान दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं। किसानों को दिल्ली में नहीं प्रवेश करने देने को लेकर हरियाणा से सटे पंजाब के बॉर्डर सील कर दिए गए हैं वहीं दि्लली पुलिस ने भी हरियाणा की सीमाओं की सील कर दिया है।
Nov 26, 2020  |  09:47 AM (IST)
गुरुग्राम पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

गुरुग्राम पुलिस ने बुधवार को एडवाइजरी जारी की है। गुरुग्राम पुलिस के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी), सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) और स्टेशन हाउस अधिकारी (एसएचओ) सहित पर्यवेक्षी अधिकारियों को वहां तैनात किया गया है। इन प्रवेश बिंदुओं पर 500 से अधिक पुलिस कर्मचारी तैनात किए गए हैं।

Nov 26, 2020  |  09:14 AM (IST)
बॉर्डर पर भारी पुलिसबल तैनात

किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली हरियाणा बार्डर पर भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है और ड्रोन से निगरानी की जा रही है।  दिल्ली पुलिस की तरफ से भी किसानों को साफ कह दिया गया है कि वे किसी भी प्रकार के विरोध प्रदर्शन में शामिल न हों। यदि किसान दूसरे राज्यों से दिल्ली आए तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Nov 26, 2020  |  08:14 AM (IST)
सीमाओं पर बढ़ाई गई सुरक्षा

किसानों के दिल्ली में मार्च को लेकर राजधानी की सीमाओं पर बढ़ाई गई सुरक्षा। फरीदाबाद बॉर्डर पर मुस्तैद है पुलिस। फरीदाबाद पुलिस का कहना है, 'हमारे पास स्पष्ट निर्देश हैं कि भारतीय किसान यूनियन के किसी भी सदस्य को आज और कल दिल्ली में प्रवेश न करने दें। सभी महत्वपूर्ण प्रवेश बिंदुओं पर पुलिस की टीमें तैनात हैं।'