Cardiac Arrest: कई बड़े कलाकारों ने कार्डियक अरेस्ट से तोड़ा है दम, जानिए कैसे बचा सकते हैं मरीज की जान

What Is Cardiac Arrest: बीमारियों से बचने के लिए व्यक्ति अच्छा जीवन बिताता है। अच्छा आहार लेता है। खुद को फिट रखता है। बावजूद भी ऐसे कई बीमारियां हैं जिनके बारे में व्यक्ति सही से जानता भी नहीं है और वह बीमारी व्यक्ति को अपनी चपेट में ले लेती है। ऐसी ही एक बीमारी है कार्डिएक अरेस्ट इसके बारे में लोग बेहद कम जानते हैं और इस बीमारी से कई लोगों की जान जा चुकी है।

Cardiac Arrest
Cardiac Arrest Symptoms  |  तस्वीर साभार: Instagram
मुख्य बातें
  • कार्डिएक अरेस्ट में व्यक्ति का दिल अचानक से पंप करना बंद कर देता है
  • कुछ ही सेकंड बाद ही पूरे शरीर को प्रभावित करता है और व्यक्ति को पूरी तरह बेहोश कर देता है
  • कुछ ही मिनटों में अगर मरीज को इलाज नहीं मिला तो उसकी मृत्यु भी हो जाती है

Cardiac Arrest Symptoms: कार्डिएक अरेस्ट एक ऐसी बीमारी है जो अचानक बिना किसी चेतावनी के होता है। कार्डिएक अरेस्ट के चलते कई बड़े कलाकारों ने दम तोड़ दिया है। मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव कार्डिएक अरेस्ट की चपेट में आए हैं। जिनका इलाज चल रहा है। कार्डिएक अरेस्ट में व्यक्ति का दिल अचानक से पंप करना बंद कर देता है और इससे हृदय, मस्तिष्क, फेफड़ों और अन्य अंगों का काम प्रभावित हो जाता है। कुछ ही सेकंड बाद ही पूरे शरीर को प्रभावित करता है और व्यक्ति को पूरी तरह बेहोश कर देता है। कई बार यह जानलेवा भी होता है। कार्डिएक अरेस्ट के कुछ ही मिनटों में अगर मरीज को इलाज नहीं मिला तो उसकी मृत्यु भी हो जाती है। कार्डिएक अरेस्ट में जीवन और मृत्यु में सिर्फ 5 मिनट का अंतर होता है। इस 5 मिनट में अगर व्यक्ति को सही इलाज मिल गया तो वह खतरे से बाहर हो जाता है। आइए जानते हैं कार्डिएक अरेस्ट के लक्षण और कैसे इस बीमारी से व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है।

Also Read- दिल के आकार का दिखने वाला ये पत्ता दिल की बीमारियों से दिलाता है राहत, जानिए इसके फायदे

कार्डिएक अरेस्ट के लक्ष्ण

कार्डिएक अरेस्ट के संकेत तत्काल और काफी कठोर होते हैं। इसमें व्यक्ति अचानक बेहोश हो जाता है। सांस चलनी बंद हो जाती है। सीने में बेचैनी होने लगती है। धड़कन तेज फड़फड़ाने लगती है और दिल का धड़कना अचानक से तेज हो जाता है। ऐसे लक्षण दिखने पर व्यक्ति को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

ऐसे बचाई दजा सकती है मरीज की जान

अगर किसी व्यक्ति को का कार्डिएक अरेस्ट पड़ा है तो उसे तुरंत सीपीआर यानी लाइफ सेविंग टेक्निक दिया जाना चाहिए। इससे व्यक्ति की जिंदगी बचाई जा सकती हैं। कार्डिएक अरेस्ट की कंडीशन में अगर व्यक्ति को तुरंत सीपीआर या मेडिकल ट्रीटमेंट न मिले तो उसकी मौत भी हो सकती है। सीपीआर के लिए सबसे पहले बेहोश व्यक्ति को सीधा लेटा लें। इसके बाद आप उसकी छाती के बीचों बीच दोनों हाथ को रखकर करीब एक मिनट में 100 बार कंप्रेस करें। आप सीपीआर तब तक देते रहे जब तक एंबुलेंस न आ जाएं और व्यक्ति को हस्पताल न लें जाया जाएं। ऐसा करने से व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है। कई बार ऐसा करने से व्यक्ति होश में भी आ जाता है।

Also Read- Potato Juice: आलू का जूस सेहत को पहुंचाता है कई लाभ, जानें कैसे करें इसका इस्तेमाल

बचने के ये हैं उपाय

कार्डिएक अरेस्ट से बचने के लिए आपको फिट और स्वस्थ रहना चाहिए। व्यक्ति को अच्छा व पौष्टिक आहार ही लेना चाहिए। मीठे व तैलीय भोजन से बचना चाहिए। इसके अलावा अगर आप शराब व धूम्रपान जैसी चीजों का सेवन करते हैं तो तुरंत त्याग देना चाहिए।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर