Credit score : क्रेडिट स्कोर कम है? मुश्किल होगा लोन लेना, स्कोर को ऐसे करें रिबिल्ड

अगर आप अपने लोन और क्रेडिट कार्ड देय राशि का समय पर भुगतान करते रहे हैं तो अच्छे स्कोर के साथ, नए लोन को प्राप्त करने में आपको आसानी होगी। कम क्रेडिट स्कोर लोन लेना मुश्किल होता है। यहां जानिए कैसे बढ़ाएं क्रेडिट स्कोर। 

Credit score is low? It will be difficult to take loan, rebuild the score like this
निम्न क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने के तरीके (तस्वीर-istock) 

अगर आप कम क्रेडिट स्कोर समस्या का स्थायी हल खोज रहे हैं, तो आपको इसे फिर से सामान्य स्तर पर लाने के लिए वास्तव में गंभीर कदम उठाने होंगे। क्रेडिट स्कोर एक खास संख्या है जिससे अतीत समय के दौरान आपके द्वारा क्रेडिट का इस्तेमाल कैसे किया गया है के आधार पर आपकी वित्तीय फिटनेस की रेटिंग दी जाती है। यह तीन अंकों की संख्या है जो 300 से 900 की रेंज मे होती है। उच्च स्कोर (750 या अधिक) यह दर्शाता है कि आप वित्तीय रूप से फिट हैं; यदि आप अपने लोन तथा क्रेडिट कार्ड देय राशि का समय पर भुगतान कर पाने में समर्थ रहे हैं। अच्छे स्कोर के साथ, नए लोन को प्राप्त करने की आपकी बेहतर संभावना होती है।

लेकिन, कम क्रेडिट स्कोर के आधार पर वित्तीय संस्थानों से पैसा उधार लेना आपके लिए मुश्किल हो जाता है। कम स्कोर-अधिकांश मामलों में, देरी से भुगतान के कारण होता है- और यह नए उधारदाताओं के लिए जोखिम का संकेत होता है। वे आपको उधार देना नहीं चाहेंगे अथवा बहुत ही उच्च ब्याज दर उधार देना चाहेंगे। आप हमेशा ही अपने स्कोर को फिर से निर्धारित कर सकते हैं। यहां तरीके बताएं गए हैं।

जब आपका क्रेडिट स्कोर 300-550 की रेंज में गिर जाता है, तो इसे कम स्कोर कहा जाता है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर इस रेंज में है, तो आपको इसे सही करना होगा और चरण बद्ध तरीके से अपने क्रेडिट इतिहास में सुधार करना होगा। यह जल्दी हो जाने वाला काम नहीं है। अपने स्कोर को रिबिल्ड करने के लिए कई वर्षों तक वित्तीय स्थिरता और अनुशासन की जरूरत होती है।

निम्न क्रेडिट स्कोर के कारणों का आंकलन करें

आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार करने की कार्यनीति बनाने से पहले, आपके क्रेडिट स्कोर के कम होने के कारणों का आंकलन करना बहुत जरूरी होता है। आप क्रेडिट ब्यूरो या बैंक बाजार जैसे एग्रिगेटर से अपनी क्रेडिट रिपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं जो आपको इसे मुफ्त में उपलब्ध कराते हैं। अपने क्रेडिट स्कोर के विश्लेषण से आपको यह तय करने में मदद मिलेगी कि आपके क्रेडिट स्कोर में आपकी उम्मीद के स्तर से गिरावट क्यों हुई है। कभी-कभी आपके क्रेडिट स्कोर में गिरावट के एक से अधिक कारण हो सकते हैं। अधिकांश मामलों में, डिफ़ॉल्ट या लोन या क्रेडिट कार्ड भुगतान में देरी के कारण स्कोर में तेजी से गिरावट होती है। उच्च क्रेडिट उपयोग अनुपात (सीयूआर), असुरक्षित लोन के बारे में एक से अधिक हार्ड पूछताछ, क्रेडिट ब्यूरो को उधारदाता द्वारा गलत सूचना बताया जाना, सह उधारकर्ता द्वारा लोन की रिपेमेंट में चूक आदि कुछ ऐसे कारण हैं जिनसे आपके क्रेडिट स्कोर में गिरावट हो सकती है।

उधारकर्ताओं पर निम्न क्रेडिट स्कोर का प्रभाव

निम्न क्रेडिट स्कोर से आपकी वित्तीय फ्लेक्सिबिलिटी कम हो सकती है और आपके उधार लेने की योजना मे गड़बड़ हो सकती है। यदि आपका कोई मौजूदा लोन है, जैसे कार या होम लोन, तो लोन अवधि के दौरान क्रेडिट स्कोर में गिरावट के कारण बैंक इसकी ब्याज दर को बढ़ा सकता है। कम क्रेडिट स्कोर से लोन या क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है।

क्या आप कम क्रेडिट स्कोर पर उधार ले सकते हैं?

यदि आपका क्रेडिट स्कोर कम है तो आपके लिए बैंक से असुरक्षित लोन प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है। यहां तक कि आप लोन ले भी लेते हैं, तो बैंक आपसे से उच्च ब्याज दर चार्ज करेगा। आप एनबीएफसी से लोन विकल्पों का पता लगा सकते हैं, क्योंकि वे बैंकों की तुलना में क्रेडिट स्कोर के प्रति नर्म रूख अपनाते हैं। लेकिन इसके बदले में ब्याज दरें उच्च होंगी।

यदि आपका क्रेडिट स्कोर उचित नहीं है तो आप बैंक से सिक्योर्ड लोन ले सकते हैं। प्रचलित सिक्योर्ड लोन जैसे सिक्योरिटीज के बदले में ऋण, एफडी के बदले में ऋण, या प्रोपर्टी के बदले मे ऋण उन लोगों के लिए उपलब्ध हो सकते हैं जिनका क्रेडिट स्कोर खराब है या कोई क्रेडिट इतिहास ही नहीं है। आप लंबी अवधि के लिए सिक्योर्ड लोन ले सकते हैं और वह भी आकर्षक दर पर। सिक्योर्ड लोन का समय पर भुगतान करने से आप धीर-धीरे अपने क्रेडिट स्कोर में सुधार कर पाएंगे।

खराब क्रेडिट स्कोर को ठीक करने के टिप्स

यदि आप कम क्रेडिट स्कोर के समस्या का स्थायी हल खोज रहे हैं, तो आपको इसे सामान्य स्तर पर वापस लाने के लिए वास्तव में गंभीरतापूर्वक काम करना होगा। आप एक दिन में अपने क्रेडिट स्कोर में सुधार नहीं कर सकते हैं, यह एक कदम-दर-कदम प्रक्रिया है। आपको अपने क्रेडिट स्कोर में सुधार करने के लिए कड़े वित्तीय अनुशासन का पालन करना होगा। आपको अपने मौजूदा लोन से संबंधित ईएमआई का समय पर भुगतान करना होगा। अपने क्रेडिट कार्ड पर संचयी सीयूआर को 30% के स्तर से कम रखें। अनावश्यक रूप से बहुत अधिक लोन का आवेदन करने से बचें जिससे हार्ड पूछताछ की जाती है और आपके क्रेडिट स्कोर को नुकसान पहुंचता है।

यदि आपके क्रेडिट स्कोर में क्रेडिट ब्यूरो को आपके उधारदाता द्वारा गलत जानकारी दिए जाने के कारण कमी हुई है, तो उधारदाता को क्रेडिट ब्यूरो तो तत्काल सही जानकारी प्रदान करने के लिए कहें। यदि आपको नया लोन चाहिए, तो जब तक आपका क्रेडिट स्कोर फिर से सामान्य स्तर तक नहीं पहुंच जाता है, तब तक असुरक्षित ऋण की बजाए सिक्योर्ड लोन लें।

कम क्रेडिट स्कोर आपकी खराब होती वित्तीय स्थिति को दिखाता है। लेकिन, इसके यह मायने नहीं हैं कि आप वित्तीय रूप से असहाय हो गए हैं। अपनी वित्तीय आदतों को बदल कर तथा अपने ऋण प्रबंधन की निगरानी करके, आपका क्रेडिट स्कोर उच्चतर स्तर तक पहुंच सकता है। अच्छे स्कोर के साथ और भी अधिक वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त होती है।

(इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर:  ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर