गलती भारत में ही नहीं इटली में भी होती है, महिला मरीज को एक नहीं, दो नहीं कोरोना के लग गए 6 डोज

अगर आपको कोरोना वैक्सीन के दो डोज की जगह 6 डोज लग जाएंगे क्या करेंगे। यह सवाल अपने आपमें डरावना है। लेकिन इटली में एक महिला मरीज के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। हालांकि वो स्वस्थ बताई जा रही है।

गलती भारत में नहीं इटली में भी होती है, महिला मरीज को एक नहीं, दो नहीं कोरोना के लग गए 6 डोज
इटली में एक महिला को लग गए कोरोना वैक्सीन के 6 डोज 

कोरोना महामारी के इस दौर में वैक्सीनेशन यानी टीकाकरण ही अचूक उपाय बताया जा रहा है। दुनिया के अलग अलग मुल्कों में वैक्सीनेशन अपने रफ्तार से चल भी रही है। सामान्य तौर पर कोरोना के खिलाफ जंग में किसी भी वैक्सीन के दो डोज को जरूरी बताया जा रहा है। लेकिन इटली से हैरान करने वाली खबर आई है। इटली में 23 वर्ष की एक महिला को फाइजर बायोनटेक कोविड-19 वैक्सीन के दो नहीं बल्कि 6 डोज दिए गए। महिला को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। लेकिन किसी तरह के साइड इफेक्ट्स के मद्देनजर लगातार निगरानी की जा रही है। 

महिला के एक नहीं, दो नहीं लग गए 6 डोज
अब इस संबंध में नोवा अस्पताल के प्रवक्ता का कहना है कि कोविड 19 वैक्सीन के लिए महिला अस्पताल आई थी। हेल्थ वर्कर ने सिरींज में जितनी दवा ली वो 6 डोज के बराबर थी। हेल्थ वर्कर को अपनी गलती का अहसास तब हुआ जबव उसने देखा कि पांच खाली सिरिंजों को देखा। इतनी बड़ी गलती के बाद डर था कि कहीं महिला की तबीयत खराब ना हो जाए। लेकिन स्वास्थ्य बेहतर होने की वजह से उसे डिस्चार्ज कर दिया गया।

अस्पताल ने दी सफाई
अस्पताल के  प्रवक्ता ने कहा कि  महिला को टीका के बड़े पैमाने पर खुराक दिए जाने के बाद डॉक्टर रोगी की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया की निगरानी करना जारी रखेंगे। पीड़ित महिला अस्पताल के मनोविज्ञान विभाग में एक प्रशिक्षु है। इस सिलसिले में जांच शुरू की गई है।, अस्पताल के प्रवक्ता ने कहा कि यह शायद मानवीय त्रुटि थी, इसे किसी मकसद के तहत अंजाम नहीं दिया गया था। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर