कोरोना वायरस का खौफ, वाशिंग मशीन में धुले 14 लाख रुपये, ओवन में सुखाए तो जल गए

कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया में लाखों लोग प्रभावित हुए हैं। इस महामारी से बचने के लिए एक शख्स ने अपने करेंसी नोटों को वॉशिंग मशीन में डाल दिया।

South Korean Rinses Cash in Washing Machine to Protect it from Covid-19
कोरोना का खौफ, वाशिंग मशीन में धुले 14 लाख रुपये, ओवन में... 

मुख्य बातें

  • कोरोना वायरस की वजह से अभी तक विश्व भर में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है
  • एक शख्स ने कोरोना से बचने के लिए अपने करेंसी नोटों को वाशिंग मशीन में डाला
  • इसके बाद उसने नोटों को सुखाने के लिए ओवन में डाले नोट

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। वायरस से निपटने के लिए तमाम देश वैक्सीन की खोज में जुटे हैं जिसमें कुछ हद तक सफलता भी मिली है। कोरोना से बचने के लिए लोग लगातार एहतियात बरत रहे हैं।  इन सबके बीच एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक शख्स ने कोरोना वायरस की डर से बड़ी संख्या में वाशिंग मशीन में धो डाले। लेकिन यही आइडिया उस पर भारी पड़ा और उससे काफी नुकसान उठाना पड़ा।

वाशिंग मशीन में डाले नोट

मामला दक्षिण कोरिया के सियोल का है जहां एख शख्स ने कोरोना वायरस के डर से अपने बैंक नोट वॉशिंग मशीन में डाल दिए तांकि संभावित वायरस को खत्म किया जा सके। लेकिन इसके बाद जो हुआ वह हैरान करने वाला था। इस दौरान उसकी बड़ी राशि खत्म हो गई। मामला यहीं नहीं रूका शख्स को जब अपनी गलती का अहसास हुआ तो उसने नोट सुखाने के लिए नोट ओवन में डाल दिए और यहां भी काफी नोट जल गए।

बैंक ने बदले नोट

इसके बाद शख्स दौड़ता भागता बैंक ऑफ कोरिया पहुंचा तांकि नोटों को बदला जा सके। इस दौरान उसके 19320 अमेरिकी डॉलर यानि 14 लाख 47 हजार से अधिक नोट धुल गए या जल गए। बैंक ऑफ कोरिया के नियमों मके मुताबिक शख्स को इसके बदले फिर लगभग इतनी ही राशि की नई करेंसी प्रदान की गई। हालांकि कुछ नोट इतने जल गए थे या धुल गए थे कि उन्हें बदला नहीं जा सका। 

आपको बता दें कोरोना वायरस की वजह दुनियाभर में अभी तक संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1.77 करोड़ हो गई है। इसके अलावा लाखों लोगों की मौत भी हो चुकी है। सबसे अधिक प्रभावित अमेरिका हुआ है जहां लगातार मामले बढ़ रहे हैं।

अगली खबर