रिक्शाचालक के बेटे ने किया कमाल, लंदन के मशहूर बैलेट डांस स्कूल में मिला दाखिला

रिक्शाचालक के 20 वर्षी बेटे ने अपनी मेहनत के बल पर लंदन के मशहूर डांस स्कूल में दाखिला पाया है। ऐसा करने वाला वह भारत का पहला स्टूडेंट बन गया है।

ballet dance kamal singh
बैलेट डांस  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • रिक्शाचालक के बेटे ने लंदन के नामी डांस स्कूल में पाया दाखिला
  • बैलेट डांस में महारत हासिल करने वाले इस लड़के की उम्र महज 20 साल है
  • फिल्म एबीसीडी से प्रभावित होकर डांस में ली थी रुचि

नई दिल्ली : मेहनत के बल पर इंसान अपनी किस्मत को भी पलट सकता है इसका जीता जागता उदाहरण है 20 वर्षीय कमल सिंह। रिक्शाचालक का बेटा कमल सिंह अपनी अद्भुत डांस कला से लंदन के मशहूर बैले डांस स्कूल में एडमिशन लेने जा रहा है। हैरानी की बात ये है कि बैलेट जैसे कठिन डांस में उसने मात्र 3 साल के अंदर महारत हासिल कर रही है।

उसने बताया कि वह 17 साल तक की उम्र में बैलेट डांस से परिचित नहीं था लेकिन डांस में रुचि होने के कारण 3 सालों तक उसने कठिन मेहनत की लगातार अभ्यास किया और आज परिणाम उसके सामने है। उसने ना सिर्फ अपने परिवार का नाम रोशन किया है बल्कि पूरे देश का भी नाम रोशन किया है, क्योंकि लंदन के इस स्कूल में एडमिशन लेने वाला वह पहला भारतीय स्टूडेंट बन गया है। 

दिल्ली के विकासपुरी का रहने वाला कमल सिंह इंग्लिश बैलेट स्कूल, लंदन में एक साल के ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए दाखिला मिला है। हालांकि उसका सपना जरूर पूरा होने जा रहा है लेकिन इस राह में उसके लिए एक रुकावट आ रही है कि वह लंदन आने जाने के खर्चे और वहां पर एक साल तक रहने के खर्चे को हैंडल करने में सक्षम नहीं है।

उसके पिता ई-रिक्शा चलाते हैं जो उसके लिए लंदन जाने का खर्चा नहीं उठा सकते हैं। ऐसे में कमल क्राउडफंडिंग के जरिए अपना खर्चा निकालने की कोशिश कर रहा है। उसके गाइड व टीचर ने उसे क्राउडफंडिंग का आइडिया दिया था। कमल ने बताया कि डांस स्कूल की एक साल की फीस है 8 लाख है जो वह निकाल नहीं सकता है।

उसने बताया कि मेरे गाइड व कोच ने मेरे टिकट व वीजा के खर्चे में मेरी मदद की है। उसे 18 सितंबर तक 5 लाख रुपयों की जरूरत है ताकि वह ट्यूशन फीस चुका सके। लंदन डांस स्कूल से एक साल की ट्रेनिंग पूरी कर लेने के बाद कमल को लंदन के इसी स्कूल में प्रोफेशनल डांसर के रुप में एंट्री मिल जाएगी। उसने बताया कि फिल्म ABCD देखने के बाद डांस के प्रति उसकी रुचि जगी। इस फिल्म में फर्नांडो अगीलेरा कोरियोग्राफर थे वही कमल के कोच भी हैं।

मैंने पता लगाया कि फर्नांडो का ऑफिस वसंत विहार में है इसके बाद अप्वाइंटमेंट लेकर उनसे मिला। वे मेरी फ्लेक्जिबिलिटी, मेरी दृढ़ इच्छाशक्ति और मेरे एक्सप्रेशंस से इंप्रेस हुए और मुझे स्कॉलरशिप ऑफर की। उसने बताया कि 12वीं के बाद केवल 6 महीने का ब्रेक लिया इसके बाद 3 सालों तक लगातार रोजाना 8-9 घंटे की डांस प्रैक्टिस की और यहां तक पहुंचा। मेरी इस यात्रा में घरवालों ने भी भरपूर साथ दिया। कमल दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन भी कर रहा है।  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर