कोरोना: लॉकडाउन का उल्लंघन किया तो जम्मू पुलिस ने दी सजा, माथे पर लगा दी 'कोरोना लॉकडाउन वॉयलेटर' की मुहर

कोरोना वायरस से लड़ाई में देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू है लेकिन लोग इसका जमकर उल्लंघन कर रहे है, पुलिस ने ऐसे लोगों के लिए बढ़िया इलाज खोजा है।

Lockdown punishment
पुलिस लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों की कलाई पर गाढ़ी इंक की मोहर लगा रही है 

कोरोना वायरस से लड़ाई में सारा देश एकजुट है और पीएम मोदी ने देश में 21 दिन का लॉकडाउन (lockdown) घोषित कर दिया है, इसमें उन्होंने अपील की थी कि कोरोना से लड़ाई के लिए हर देशवासी का सहयोग चाहिए और इसके लिए वो 21 दिन तक लॉकडाउन  का पूरी तरह से पालन करें।

पीएम की इस घोषणा का वैसे तो देश के सभी प्रांतों में लोग पालन कर रहे हैं और घरों से नहीं निकल रहे हैं और बेहद जरुरी होने पर ही बाहर आ रहे हैं लेकिन ये हिंदुस्तान है यहां तमाम लोगों को उसी काम को करने में मजा आता है जिसकी मनाही हो।

लॉकडाउन होने के बाद भी देश के तमाम हिस्सों से इसके उल्लंघन के मामले सामने आ रहे हैं क्या उत्तर भारत क्या दक्षिण भारत क्या महाराष्ट्र क्या नार्थ ईस्ट सभी जगहों से उल्लंघन की घटनाएं सामने आ रही हैं।

ऐसा नहीं है कि पुलिस इसको लेकर सख्ती नहीं कर रही है वो कर रही है लेकिन लोग बाज नहीं आ रहे हैं, ऐसे लोगों को लगता है कि 21 दिन उनके लिए बंदिश की तरह हैं जिसे काटना भारी पड़ रहा है।

घरों में रहने को सुनिश्चित करने के लिए पुलिसकर्मी सड़कों पर लगातार गश्त कर रहे हैं और निगाह रख रह है ताकि बंद का उल्लंघन करने वालों को समझाकर उनके घर भेजा जा सके। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ ही जनता को जागरूक करने के लिए नए-नए तरीके अपनाए जा रहे हैं।

वहीं अब आरएस पुरा पुलिस ने इसको देखते हुए बढ़िया तरीका निकाला है और अब वो लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों की कलाई पर गाढ़ी इंक की मोहर लगा रही है ताकि उन्हें शर्मिंदगी का एहसास हो। उन्होंने कहा कि यह स्याही कम से कम दो सप्ताह तक रहेगी।

पुलिस उनकी कलाई और माथे पर इस प्रकार की मोहर लगा रही है जिसपर लिखा है-I am Coro Lockdown Violater, पुलिस की इस कवायद का मकसद है कि लोग इसपर रोक लगाएं।

गौरतलब है कि बिहार में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर बुधवार को 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया और 531 वाहन जब्त किए गए और यातायात नियम का उल्लंघन करने पर 531 वाहन जब्त किए गए और 15,87,800 लाख रूपये जुर्माने के तौर पर वसूले गए।

वहीं कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन पर अमल करने के लिए तमिलनाडु सरकार द्वारा लगाई गई धारा 144 का उल्लंघन करने के आरोप में राज्य की पुलिस ने 1200 से अधिक लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किये हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर