Aadhaar: आधार कार्ड नहीं तो ना तो बनेगी शेव, न कटेंगे बाल, सरकार ने जारी किए आदेश

Aadhaar card for shaving & hair cut : आधार कार्ड का वैसे तो काफी सेवाओं में उपयोग होता है लेकिन अब शेविंग कराने और हेयर कटिंग के लिए भी आधार कार्ड की अनिवार्यता चेन्नई में की गई है।

hair cut
नई गाइडलाइन के मुताबिक सिर्फ 50 फीसद स्टाफ के साथ ही सैलून की दुकानें खुलेंगी 

मुख्य बातें

  • तमिलनाडु में नाई और ब्यूटी पार्लर वाले ग्राहकों के आधार कार्ड का विवरण लेंगे
  • कोरोना को फैलने से रोकना और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचाने के लिए ये कवायद
  • नई गाइडलाइन के मुताबिक सिर्फ 50 फीसद स्टाफ के साथ ही सैलून की दुकानें खुलेंगी

चेन्नई: तमिलनाडु में नाई और ब्यूटी पार्लर (Beauty parlors) वालों से कहा गया है कि वे ग्राहकों के आधार कार्ड (Aadhaar card) का विवरण लें। सरकार ने ऐसा कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए एहतियाती उपाय के तौर पर किया है, हजामत की दुकान, ब्यूटी पार्लर और स्पा के लिए मानक संचालन प्रक्रिया के मुताबिक, उन्हें ग्राहकों के नाम, पते, आधार और मोबाइल नंबर का रेकॉर्ड रखना है।

सरकारी सूत्रों ने बताया कि इसका मकसद कोविड-19 को फैलने से रोकना और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने की प्रक्रिया आसान बनाना है।राज्य के अन्य हिस्सो में नाई की दुकान और ब्यूटी पार्लर 24 मई से खोलने की इजाजत दी गई थी जबकि सरकार ने चेन्नई पुलिस के तहत आने वाले इलाकों में सोमवार से इन्हें खोलने की अनुमति दी है। 

सात पन्नों की मानक संचालन प्रक्रिया में विभिन्न आदेश दिए गए हैं, जिनमें कर्मचारियों और ग्राहकों को हाथ धोने के लिए साबुन या सैनेटाइजर देना, तौलिए और ब्लेड को सिर्फ एक बार ही इस्तेमाल करने की हिदायत शामिल है।

सैलून में काम करने वालों व ग्राहकों के लिए मास्क लगाना भी अनिवार्य

तमिलनाडु सरकार की नई गाइडलाइन के मुताबिक सिर्फ 50 फीसद स्टाफ के साथ ही सैलून की दुकानें खुलेंगी,इसके साथ ही सैलून में काम करने वाले लोगों के लिए व ग्राहकों के लिए मास्क लगाना भी अनिवार्य होगा वहीं दुकानदारों को सैनीटाइजर रखना भी जरूरी होगा, सैलून में एसी नहीं चलेंगे। तमिलनाडु सरकार ने पहले सिर्फ ग्रामीण इलाकों में ही सैलून खोलने की इजाजत दी थी।सैलून मालिकों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहा गया है साथ ही बाल काटने वाले को हर वक्त मास्क और साफ-सफाई बनाए रखने का आदेश दिया गया है।

मध्य प्रदेश में कटाने गए थे बाल और हो गए थे संक्रमित

मध्यप्रदेश  के खरगोन के बड़गांव में हेयर कटिंग सैलून में कटिंग और शेविंग करवाने गए 6 लोग कोरोनावायरस संक्रमित हो गए थे, वहां कटिंग और शेविंग के दौरान कस्टमरों को जो कपड़ा ओढ़ाया जा रहा था, उस कपड़े में संक्रमण मौजूद था जिससे ये उन लोगों में फैल गया था। जिन लोगों ने उस नाई के यहां से दाढ़ी-कटिंग करवाई, जो उसके संपर्क में आए उन लोगों के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए थे हालांकि उनमें से 17 की रिपोर्ट निगेटिव आई थी बाकी 6 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

अगली खबर