बढ़ई की बेटी अमनजोत बनी भारतीय क्रिकेट स्टार, जीत के बाद सुनाई अपनी कहानी

Story of Amanjot Kaur new star of Indian women cricket team: भारतीय महिला क्रिकेट टीम में एक नए चेहरे की एंट्री हुई और पहले ही मैच में इस खिलाड़ी ने धूम मचा दी। हम बात कर रहे हैं अमनजोत कौर की जिनका जीवन कठिन रहा लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं छोड़ी और आज भारतीय क्रिकेट स्टार हैं।

भाषा

Updated Jan 20, 2023 | 09:28 PM IST

Who is Amanjot Kaur

अमनजोत कौर पहले ही मैच में बनीं स्टार (BCCI- screenshot)

मुख्य बातें
  • कौन हैं अमनजोत कौर?
  • पहले ही मैच में मचाया धमाल
  • जीत के बाद अपने जीवन का संघर्ष बयां किया
Who is Amanjot Kaur: भारत के लिए पदार्पण करते हुए नाबाद 41 रन की पारी अमनजोत कौर को ‘अवास्तविक’ सी लगती है और पंजाब की इस युवा ऑलराउंडर ने इस पारी के बाद अपने पिता भूपिंदर सिंह तथा कोच नागेश गुप्ता के बलिदान को याद किया। बढ़ई सह कांट्रैक्टर भूपिंदर ने अमनजोत को क्रिकेट अकादमी में भेजा और उन्हें अपना काम आधा करना पड़ा जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि उनकी बेटी की ट्रेनिंग बाधित नहीं हो।
अमनजोत के बल्लेबाजी कौशल को निखारने वाले गुप्ता ने कुछ कड़े फैसले किए। उन्होंने अमनजोत को चंडीगढ़ की कप्तानी छोड़कर सितारों से सजी पंजाब की टीम से दोबारा जुड़ने को कहा और यह फैसला काम कर गया और इस युवा खिलाड़ी को भारतीय टीम में जगह मिली।
महिला टी20 त्रिकोणीय श्रृंखला के पहले मैच में शुक्रवार को यहां दक्षिण अफ्रीका पर भारत को 27 रन की जीत दिलाने के बाद अमनजोत ने कहा, ‘‘यह अवास्तविक सा अहसास है। मैंने अपने पदार्पण मुकाबले में मैच की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार पाने के बारे में कभी नहीं सोचा था। मैंने कभी इसकी उम्मीद नहीं की थी।’’
उन्होंने कहा, ‘‘मेरे पिता ने मेरे करियर में बड़ी भूमिका निभाई। शुरुआत में उन्होंने सोचा था कि यह दौर गुजर जाएगा और धीरे धीरे क्रिकेट में मेरी रुचि कम हो जाएगी। उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि मैं भारत के लिए खेलूंगी। मैंने क्रिकेट में खुद को साबित करने के लिए कड़ी मेहनत की।’’

भूपिंदर ने इसके बाद बाहर काम लेना बंद कर दिया और मोहाली में अपने घर के पास ही काम किया जिससे कि उन्हें अमनजोत के साथ उनकी अकादमी में जाने का समय मिल सके। अमनजोत ने कहा, ‘‘उनका (पिताजी का) संघर्ष मेरे से बहुत बड़ा है, उन्होंने अपना आधा काम मेरे लिए छोड़ दिया जिससे कि मैं अकादमी जाने से वंचित नहीं रहूं, वह सुबह और शाम को मुझे अकादमी लेकर जाते। उन्होंने अपना आधा काम छोड़ दिया और हमारे घर के पास ही रहे।’’
अमनजोत ने कहा कि ‘नागेश सर’ के पास जाना उनके करियर का निर्णायक पल रहा। उन्होंने पदार्पण मैच में अपने प्रदर्शन को अपने कोच को समर्पित करते हुए कहा, ‘‘मैंने सारी सफलता नागेश सर (गुप्ता) के माध्यम से ही हासिल की है। उन्होंने बड़ी भूमिका निभाई। मैंने एक गेंदबाज के रूप में शुरुआत की और अब एक बल्लेबाजी ऑलराउंडर के रूप में गिना जाना मेरे लिए एक बड़ी उपलब्धि है।’’
अमनजोत ने अपने करियर की शुरुआत पंजाब से की, फिर चंडीगढ़ आ गईं, जहां उनके करियर ने ‘टर्निंग पॉइंट’ लिया। उन्होंने इसके बाद पंजाब वापस लौटने को लेकर साहसिक कदम उठाया। अमनजोत ने कहा, ‘‘यह एक बड़ा फैसला था क्योंकि मैं तान्या (भाटिया) जैसे सीनियर खिलाड़ियों के नेतृत्व में और अधिक प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना चाहती थी। यह एक कठिन यात्रा रही है। इस यात्रा के आगे भी जारी रहने की उम्मीद है।’’
अमनजोत शुरुआती मैच के लिए पहली पसंद नहीं थे लेकिन कप्तान हरमनप्रीत कौर के अलावा रेणुका सिंह और शिखा पांडे जैसी महत्वपूर्ण खिलाड़ियों के बीमार होने के कारण उन्हें मौका मिला। उनकी बीमारी के बारे में पूछे जाने पर अमनजोत ने कहा कि उन्हें ‘एलर्जी’ हो गई है।
उन्होंने कहा, ‘‘जिस स्थान पर हम रह रहे हैं वह एक वन क्षेत्र है, जो समुद्र तटों से घिरा हुआ है। हमारा रोग प्रतिरक्षा तंत्र काफी मजबूत नहीं है इसलिए उन्हें बुखार, खांसी, कमजोरी आदि जैसी कुछ एलर्जी हो गई हैं।’’
अमनजोत अगले महीने होने वाली पहली महिला आईपीएल खिलाड़ी नीलामी में सभी का ध्यान अपनी ओर खींच सकती हैं। उन्होंने समझदारी दिखाते हुए भारत के लिए पदार्पण करने से पहले खुद को पंजीकृत नहीं किया है। अमनजोत ने कहा, ‘‘मैंने पंजीकरण नहीं किया है क्योंकि मैं श्रेणी के बारे में निश्चित नहीं थी। अब मैं निश्चित रूप से फॉर्म भर सकती हूं (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों की सूची में)। उम्मीद है कि कोई टीम मुझे चुनेगी। मैं बस अधिक से अधिक मैच खेलना चाहती हूं और अपनी टीम के लिए योगदान देना चाहती हूं।’’
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | क्रिकेट (sports News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

Guru Pradosh Vrat Katha: गुरु प्रदोष व्रत की कथा, जिसे पढ़ने से पूर्वजों का मिलेगा आशीर्वाद

Guru Pradosh Vrat Katha

Budget 2023 पर राहुल गांधी का तंज, बोले- यह 'मित्र काल का बजट, भविष्य की कोई रूपरेखा नहीं'

Budget 2023      -

कीवियों के खिलाफ कहर बरपाने के बाद शुभमन ने खोला आतिशी बल्लेबाजी का राज

लगातार चौथी सीरीज जीतने के बाद कैप्टन हार्दिक पांड्या ने बताया भविष्य में खेलना चाहते हैं कैसी क्रिकेट

Adani FPO: अडानी ग्रुप का बड़ा फैसला, 20000 करोड़ का FPO किया रद्द, लौटाएगा निवेशकों का पैसा

Adani FPO      20000   FPO

Aaj Ki Taza Khabar, 2 फरवरी, 2023: एफपीओ लौटाएगा अडानी ग्रुप , जानें देश और दुनिया की ताजा खबरें

Aaj Ki Taza Khabar 2  2023

Aaj ka Ankfal , 02 February 2023: आज के अंकफल से जानें क्या लिखा है आपके भाग्य में

Aaj ka Ankfal  02 February 2023

Aaj ka Panchang, 02 February 2023 : आज है प्रदोष व्रत, जानें दिन भर के सभी शुभ-अशुभ मुहूर्त

Aaj ka Panchang 02 February 2023           -
आर्टिकल की समाप्ति

© 2023 Bennett, Coleman & Company Limited