लखनऊ में पिटे राजस्थान के युवा, रोजगार के मुद्दे पर प्रियंका गांधी से चाहते थे मुलाकात

प्रियंका गांधी यूपी के तीन दिन के दौरे पर हैं। लेकिन शुक्रवार को राजस्थान के कुछ लड़के जब नौकरी के संदर्भ में उनसे मिलने की कोशिश की तो मारपीट की गई। अब इस मुद्दे पर बीजेपी हमलावर है।

Priyanka Gandhi Lucknow, Congress, Rajasthan youth beaten up, unemployment, Yogi Adityanath, UP Assembly elections 2022, BJP
लखनऊ में पिटे राजस्थान के युवा, रोजगार के मुद्दे पर प्रियंका गांधी से चाहते थे मुलाकात 

मुख्य बातें

  • लखनऊ में कांग्रेस दफ्तर के बाहर राजस्थान के युवाओं की पिटाई
  • राजस्थान के युवा रोजगार के मुद्दे पर प्रियंका गांधी से मिलना चाहते थे
  • कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर गुंडई का आरोप

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के यूपी दौरे का दूसरा दिन है। पहले दिन उन्होंने यूपी सरकार की नीतियों पर कोसा और कहा कि इस सरकार की कामयाबी सिर्फ इतनी है कि नौजवानों बेबश हैं, योगी आदित्यनाथ सरकार रोजगार देने की बात करती है लेकिन हकीकत यह है कि बेरोजगारों को इंतजार है कि सरकारी नौकरी कब मिलेगी।लेकिन उसी बीच जब राजस्थान के स्थाई कंप्यूटर भर्ती से जुड़े प्रतिभागियों ने उनसे कांग्रेस दफ्तर में मिलने की कोशिश की गई तो उनसे मारपीट की गई। 

राजस्थान के युवा प्रियंका गांधी से चाहते थे मिलना
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से मिलने आये राजस्थान के स्थाई कंप्यूटर भर्ती के अभ्यर्थियों के साथ कांग्रेस के गुंडों ने की मारपीट की। ये अभ्यर्थी शुक्रवार को दोपहर से ही यूपी कांग्रेस के दफ्तर पर प्रियंका गांधी से मुलाकात करके अपनी बात कहने के लिए खड़े थे,लेकिन देर शाम कांग्रेस दफ्तर में प्रियंका गांधी की बैठक खत्म होने के बाद अभ्यर्थियों द्वारा एक बार फिर प्रियंका से मुलाकात करके अपनी पीड़ा कहने की मांग को लेकर जब बात कही गई तो कांग्रेस के कार्यकर्ता गुंडई पर उतारू हो गए और राजस्थान स्थाई कम्प्यूटर भर्ती के अभ्यर्थियों से मारपीट की गई,उन्हें मारपीट कर भगाने की कोशिश की गई। 

बीजेपी का क्या है कहना
मैं पूछना चाहता हूं प्रियंका गांधी से कि आखिर इन बेरोजगार युवाओं का क्या दोष था? यह बस आपसे मिलना चाह रहे थे। इन्हे लगा कि आप अगर यूपी में संविदा पर भर्ती के खिलाफ हैं तो राजस्थान में तो आपकी सरकार है तो आप मदद करेंगी। पर इन्हे बेरहमी से मारा गया।


क्या कहते हैं जानकार
जानकारों का कहना है कि यह बात सच है कि जब विरोधी दल किसी विषय पर सवाल करता है तो जवाब देना भी होगा। सरकारी नौकरी और रोजगार के मुद्दे पर प्रियंका गांधी, योगी आदित्यनाथ सरकार की घेरेबंदी कर रही हैं। लेकिन जब उनसे कांग्रेस शासित में रोजगार के मुद्दे या सरकारी नौकरी पर सवाल पूछा जाता है तो वो चुप्पी साध लेती हैं। अगर राजस्थान के युवा लखनऊ आकर उनसे मिलना चाहते हैं तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि राजस्थान सरकार नौकरियों को लेकर कितनी गंभीर है और जिस तरह से कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर राजस्थान के युवाओं को पीटने का आरोप है तो उस केस में सत्ता पक्ष को बैठे बिठाए ही कांग्रेस को घेरने का मौका मिल गया। 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर