BJP ने खोली CAA हिंसा मामले में गिरफ्तार शाहनवाज की कुंडली, आतंकियों की मदद का आरोप लगाया

सीएए प्रोटेस्ट के दौरान हिंसा के मामले में गिरफ्तार कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज आलम पर भाजपा ने बाटला एनकाउंटर और लखनऊ धमाकों में शामिल आतंकियों की मदद करने का आरोप लगाया है।

Yogi adityanath CM Uttar Pradesh and Priyanka Gandhi Vadra
Yogi adityanath CM Uttar Pradesh and Priyanka Gandhi Vadra 

मुख्य बातें

  • लखनऊ पुल‍िस ने सीएए ह‍िंसा के मास्‍टरमाइंड को क‍िया था अरेस्‍ट
  • यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का अध्‍यक्ष है शाहनवाज आलम
  • प्रियंका गांधी ने क‍िया बचाव तो भाजपा ने खोली कुंडली

उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएए (CAA) प्रोटेस्ट के दौरान हुई हिंसा के मामले में हजरतगंज पुलिस ने यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ (UP Congress Minority Cell)  के चेयरमैन शाहनवाज आलम (Shahnawaz Alam) को गिरफ्तार किया जिसके बाद सियासत गरमा गई है। इस मामले पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भाजपा सरकार पर उनकी आवाज दबाने और दमनकारी नीति का आरोप लगा। प्रियंका गांधी ने शाहनवाज आलम का बचाव करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता जनता के मुद्दों पर आवाज उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भाजपा सरकार यूपी पुलिस को दमन का औज़ार बनाकर दूसरी पार्टियों को आवाज उठाने से रोक सकती है। 

इस पूरे मामले पर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पार्टी को घेर ल‍िया है। यूपी भाजपा के प्रवक्‍ता डॉ. चंद्रमोहन ने कहा कि जिस शाहनवाज की गिरफ्तारी पर प्रियंका वाड्रा और उनकी पूरी कांग्रेस बौखलाई हुई है, उसके बारे में कुछ बातें जरूर जान लेनी चाहिए। शाहनवाज आलम रिहाई मंच नाम का एक संगठन चलाता था जो बाटला एनकाउंटर में शामिल रहे आतंकियों से लेकर लखनऊ के सीरियल धमाकों में शामिल उन खूंखार आतंकियों तक की मदद करता था जिन्हें बाद में अदालतों तक से सजा हुई। 

वहीं प्रवक्‍ता डॉ. चंद्रमोहन ने कहा कि सीएए के खिलाफ परिवर्तन चौक समेत तमाम जगहों पर हुई हिंसा में पुलिस को इसकी सक्रिय भागीदारी के पुख्ता प्रमाण मिले हैं। सोशल मीडिया के जरिए भी इसनें हिंसा भड़काने की पूरी भूमिका अदा की। जिसके परिणामस्वरूप लखनऊ समेत तमाम जगहों पर संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया, पुलिस और निर्दोषों पर हमले हुए।

इससे पहले यूपी भाजपा के प्रवक्‍ता और सूचना विभाग के सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने भी लखनऊ पुलिस के खुलासे का वीडियो शेयर कर कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्‍होंने ल‍िखा था- कांग्रेस का हाथ-ग़द्दारों के साथ, बेनक़ाब हुई कांग्रेस, CAA के बाद हुए दंगों में कांग्रेस की साज़िश बेनक़ाब, दंगे के मास्टरमाइंड शाहनवाज़ की गिरफ़्तारी होते ही कांग्रेस में छाया मातम। दंगाई छुड़ाने पहुंचे कांग्रेसियों ने की अभद्रता। आतंकियों की मदद में रिहाई मंच भी चलाता था शाहनवाज़। 

बता दें कि कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष शाहनवाज आलम कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के काफी करीबी माने जाते हैं ,गौरतलब है कि यूपी के सीएम हिंसा को लेकर खासे सख्त हैं और कुछ दिनों पहले आगजनी के आरोपियों से सम्पति को हुए नुकसान की भरपाई के लिए पूरे शहर में पुलिस ने होर्डिंग्स भी लगवाई थीं जो खासा चर्चाओं में रहा था।

अगली खबर