Kanpur: विकास दुबे के करीबी गोपाल सैनी ने किया सरेंडर, गैंग्स्टर के लिए बम बनाने का करता था काम

Kanpur News: गैंग्स्टर विकास दुबे के करीबी रहे गोपाल सैनी ने कानपुर देहात स्पेशल कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। पुलिस के मुताबिक वह विकास के लिए बम बनाने का काम करता था।

vikas dubey aide surrendered
विकास दुबे के करीबी ने किया सरेंडर 

मुख्य बातें

  • विकास दुबे के करीबी गोपाल सैनी ने किया सरेंडर
  • गोपाल सैनी, विकास दुबे के लिए बम बनाने का करता था काम
  • गोपाल सैनी ने कानपुर देहात में एक स्पेशल कोर्ट में किया सरेंडर

कानपुर : गैंग्स्टर विकास दुबे के एक और करीबी साथी गोपाल सैनी ने पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया है। उस पर पुलिस ने 1 लाख की इनामी राशि घोषित की थी। उसने बुधवार की शाम कानपुर देहात में एक स्पेशल कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया। सैनी जो दुबे के लिए बम बनाता था वह बिकरू गोलीकांड वाले मामले में अन्य 14 आरोपियों में से एक था जिसकी पुलिस को तलाश थी।

पुलिसकर्मियों पर फेंका था बम

स्पेशल टास्क फोर्स और जिला पुलिस सैनी को तब से तलाश कर रही थी जब मामले की जांच में ये खुलासा हुआ था कि सैनी ने ही 3 जुलाई को पुलिसकर्मियों पर बम फेंका था जब 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए थे। इसमें डीएसपी देवेंद्र मिश्रा भी शहीद हो गए थे। ये सभी पुलिसकर्मी चौबेपुर थाने में दर्ज एक मर्डर मामले में वांछित पाएगए विकास दुबे को अरेस्ट करने के लिए बिकरू गए थे जब ये कांड हुआ।

चौबेपुर में राहुल तिवारी नाम के एक शख्स ने विकास दुबे के खिलाफ एक मर्डर का केस दर्ज किया था। सरकारी वकील राजू पोरवाल ने संवाददाताओं से बात करते हुए बताया कि आरोपी गोपाल सैनी ने कानुपर देहात में माटी (डकैती प्रभावित क्षेत्र) के एक स्पेशल कोर्ट में बुधवार की शाम आत्मसमर्पण कर दिया।

विकास दुबे के लिए बनाता था बम

पोरवाल के मुताबिक सैनी के वकील ने उसके सरेंडर करने से पहले स्पेशल कोर्ट में एक आवेदन दिया था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि वह विकास का पड़ोसी था और विकास के लिए बम बनाता था। छापेमारी के दौरान उसके घर से बम बनाने वाले सामान भी बरामद किए गए।

रिमांड पर लेने की तैयारी

रिपोर्ट के मुताबिक उसने 3 जुलाई की रात पुलिस वालों पर कई बम फेंके थे जबकि उसके अन्य साथी विकास के छत से फायरिंग कर रहे थे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि वे उसे रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट से आवेदन करेंगे ताकि वे उससे पूछताछ कर सकें साथ ही विकास के 13 अन्य फरार साथियों के बारे में पता लगा सकें। पुलिस को इन सारे 13 फरार मुजरिमों की तलाश है।


 

अगली खबर