Kanpur: विकास दुबे की पत्नी ने पति के बारे में किया नया खुलासा- इस वजह से वारदात को दिया अंजाम

विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से माफी की भी मांग की है। उसने कहा कि वह सीएम और पीड़ित परिवारों से माफी मांगती है।

vikas dubey wife
विकास दुबे की पत्नी ने पति को लेकर चौंकाने वाले खुलासे 

मुख्य बातें

  • विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने पुलिस के सामने किए नए खुलासे
  • उसने बताया कि उसका पति गंभीर बीमारी से ग्रस्त था
  • गंभीर बीमारी के कारण विकास को तेज गुस्सा आ जाता था

कानपुर के बिकरु गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या मामले के मुख्य आरोपी विकास दुबे की पत्नी ने पुलिस के समक्ष पति को लेकर नया खुलासा किया है। उसने बताया कि घटना के पहले वह बार-बार कहती थी कि विकास किसी गंभीर बीमारी से पीड़िता था जिसके कारण उसे कभी-कभी बहुत तेज गुस्सा आ जाता था। उसने बताया कि इसी गुस्से के कारण उसने इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया जिसकी कोई माफी नहीं हो सकती है।

विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने अमर उजाला से बात करते हुए ये सारी बातें कही। इसके साथ ही उसने प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से माफी की भी मांग की है। उसने कहा कि वह सीएम और पीड़ित परिवारों से माफी मांगती है। उसने आगे कहा कि उसके पति ने जो किया है उसमें उसका और उसके बच्चों का कोई लेना देना नहीं हैे।

विकास ने जो किया वह किसी भी तरह से माफी के लायक नहीं है वह दंडनीय है। ऋचा दुबे ने बताया कि 2 जुलाई की रात जिस समय ये घटना हुई उस दिन विकास ने रात के समय उसे फोन कर कहा कि उसका गांव किसी के साथ कुछ विवाद हो गया है जिससे उनक पर खतरा मंडरा सकता है। इसके लिए उसने उसे सलाह देते हुए कहा कि वह बच्चों को लेकर कहीं जाकर छुप जाए।      

ऋचा ने बताया कि विकास की इस बात पर दोनों के बीच काफी तेज बहस हुई और दोनों के बीच लड़ाई भी हो गई। फिर ऋचा ने गुस्से में मोबाइल भी पटक दिया। उसने बताया कि डर के मारे वह बच्चों को लेकर घर से निकल गई और रात गुजारने के लिए ठिकाने की तलाश करने लगी। पास में ही देवर का घर था लेकिन वह भी घर छोड़कर निकल चुका था। 

ऐसे में वह फिनिक्स मॉल के पास बन रहे एक निर्माणाधीन मकान की छत पर उसने बच्चों के साथ अपना समय गुजारा। इस तरह उसने करीब 4 से 5 दिनों तक अपना समय काटा। इस समय उसे समझ नहीं आ रहा था कि वह बच्चों को लेकर कहां जाए। उसने बताया कि मैं पहले पुलिस के समक्ष इसलिए नहीं आई क्योंकि उसका बड़ा बेटा बीमार था। अगर पुलिस उसे पकड़ लेती तो उसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं था। 5 दिन बाद वह घर से लौट रही थी तभी रास्ते में पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

अगली खबर