Killings in Kashmir: कश्मीर में आतंकियों का 'खूनी खेल', बीते 40 घंटे में 5 लोगों की हत्या, माहौल बिगाड़ना मकसद

Teachers Killed in Srinagar : आतंकियों ने श्रीनगर के जिस स्कूल को निशाना बनाया है। उसके आसपास बहुत कम लोग रहते हैं। ज्यादातर यह इलाका खाली रहता है। आतंकियों ने इसी का फायदा उठाया।

Targeted Attacks on Hindus in Kashmir 5 people dead in 48 hours
श्रीनगर के स्कूल में आतंकियों ने दो हिंदू शिक्षकों की हत्या की। 

मुख्य बातें

  • श्रीनगर के एक स्कूल में धावा बोलकर आतंकियों ने दो हिंदू शिक्षकों की हत्या की
  • स्थानीय स्तर पर लोगों में भाईचारे एवं सद्भाव की भावना बिगाड़ना चाहते हैं आतंकी
  • सेना के ऑपरेशन से बौखलाए आतंकियों ने बीते 40 घंटे में 5 लोगों की हत्या की

श्रीनगर : आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में 'टार्गेटेड किलिंग' के जरिए 1990 का दशक एक बार दोहराने के फिराक में हैं। पिछले 40 घंटे में पांच निर्दोष लोगों की हत्या उनके इसी नापाक इरादे की तरफ इशारा कर रही है। पुलिस भी यही मान रही है कि आम लोगों एवं हिंदुओं को निशाना बनाकर आतंकवादी घाटी में भाईचारे की भावना एवं सद्भाव को बिगाड़ना चाहते हैं। बीते मंगलवार को आतंकियों ने तीन निर्दोष लोगों की हत्या की। वहीं, गुरुवार को श्रीनगर के एक स्कूल में धावा बोलकर वहां दो हिंदू शिक्षकों की गोली मारकर हत्या की।  

बीते 40 घंटे में 5 लोगों की हत्या

बीते 40 घंटे में आतंकियों ने जिन पांच लोगों की हत्या की है, उनके नाम सुखविंदर कौर (प्रिंसिपल) दीपक (शिक्षक), माखन लाल बिंद्रू (कश्मीरी पंडित), वीरेंद्र पासवान (नागरिक), मोहम्मद शफी लोन (स्थानीय) हैं। अब तक सुरक्षाबलों को निशाना बनाते आ रहे आतंकी अब आम लोगों की हत्याएं करने लगे हैं। जाहिर है कि उनका इरादा जम्मू-कश्मीर में हिंदू-मूसलमान के बीच भाईचारे और सद्भावना को बिगाड़ना है। आतंकी चाहते हैं कि पुलिस स्थानीय मुस्लिम लोगों को पकड़े ताकि स्थानीय स्तर पर मुसलमानों में असंतोष पैदा है जिसका फायदा वे उठा सकें। पुलिस भी आतंकियों के इस मंसूबे को समझती है।

हिंदुओं को निशाना बना रहे आतंकी

आतंकियों ने श्रीनगर के जिस स्कूल को निशाना बनाया है। उसके आसपास बहुत कम लोग रहते हैं। ज्यादातर यह इलाका खाली रहता है। आतंकियों ने इसी का फायदा उठाया। आतंकियों ने स्कूल पर जिस समय धावा बोला उस समय 5-6 शिक्षक मीटिंग कर रहे थे। बताया जा रहा है कि यहां से आतंकियों ने गैर-मुस्लिम शिक्षकों को अलग किया और स्कूल परिसर में ले जाकर उन्हें गोली मार दी। फिर वहां से आसानी से फरार हो गए। इस घटना से स्थानीय लोग दहशत में हैं। पिछले कुछ दिनों से आतंकवादी शहर में लोगों की हत्याएं कर रहे हैं। पहले वे ग्रामीण इलाकों में सुरक्षाबलों एवं लोगों को निशाना बनाते थे।   

घाटी का माहौल खराब करना चाहता है पाकिस्तान

इन आतंकी घटनाओं के पीछे पाकिस्तान है। वह कश्मीर में एक बार फिर हिंसा एवं आतंकवादी घटनाओं में तेजी लाना चाहता है। सीमा पार से बार-बार घुसपैठ के प्रयास किए जा रहे हैं। सेना ने आज ही नियंत्रण रेखा के पास सांबा सेक्टर में हथियारों का एक बड़ा जखीरा बरामद किया। यहां से चार पिस्टर, आठ मैगजीन और गोला-बारूद बरामद हुए। पाकिस्तान ड्रोन के जरिए भी भारतीय इलाके में हथियार पहुंचाने की लगातार कोशिशें करता आया है। मंगलवार रात पठानकोट और गुरुदासपुर में ड्रोन देखे गए। पठानकोट में बीएसएफ ने ड्रोन पर फायरिंग की जिसके बाद ड्रोन वापस पाकिस्तान की तरफ भाग गए। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर