धाकड़ EXCLUSIVE: कश्मीर में फिर 90 जैसा नरसंहार? 2021 के कश्‍मीरियों ने आतंकियों को दी चुनौती

कश्‍मीर में आतंकियों ने दो शिक्षकों की गोली मारकर हत्‍या कर दी। हैरान करने वाली बात यह है कि उन्‍हें धर्म के आधार पर पहचान कर अलग किया गया और फिर गोली मारी गई। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्‍या कश्‍मीर में 1990 के दशक जैसे आतंकवाद की साजिश रची जा रही है?

धाकड़ EXCLUSIVE: कश्मीर में फिर 90 जैसा नरसंहार?
धाकड़ EXCLUSIVE: कश्मीर में फिर 90 जैसा नरसंहार?  

48 घंटे के अंदर कश्मीर में 5 बेगुनाहों की आतंकवादियों ने बेरहमी से हत्या कर दी। ये सिर्फ आंकड़े नहीं हैं। ये इंसानों के नाम हैं, चेहरे हैं और पीछे छूट गए उनके परिवार के लोग हैं। ये वो लोग हैं जिनकी हत्या एक संदेश देने के लिए की गई है। याद कीजिए 1990 का वो दौर जब घाटी में लाउडस्पीकर पर धमकियां दी जाती थीं। घरों के बार हिट-लिस्ट चिपका दी जाती थी कि जल्द से जल्द कश्मीर छोड़ दो वरना मारे जाओगे। ऐसा लगता है कि अब 2021 में एक और हिट-लिस्ट बनाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन अब 2021 का कश्मीर 1990 से बिल्‍कुल अलग है। आज के कश्मीर का हिंदू, आज के कश्‍मीर का सिख आतंकियों के सामने ना झुकेगा और ना टूटेगा।

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में आज सुबह आतंकियों ने ईदगाह इलाके के गर्वमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल में हमला कर दिया, जिसमें आतंकवादियों ने स्कूल प्रिंसिपल और एक टीचर की गोली मारकर हत्या कर दी। स्कूल की प्रिंसिपल सुपंदिर कौर के परिवारवालों को रो-रोकर बुरा हाल है। हिंदुस्तान की जो बेटी घाटी में स्कूल में बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए लगातार काम कर रही थी, आज उसी बेटी को इन आतंकवादियों ने बेरहमी से मार दिया।

धर्म के आधार पर की टीचर्स की शिनाख्‍त

प्रिंसिपल के ऑफिस में टीचर्स की मीटिंग चल रही थी। उसी दौरान आतंकी कमरे में घुस आए। उसके बाद जो हुआ वो 1990 की याद दिलाता है। हैरान करने वाली बात ये है कि आतंकवादियों ने कमरे में दाखिल होने के बाद पहले शिक्षकों के धर्म के शिनाख्त की। मुस्लिम टीचर्स को अलग किया और गैर-मुस्लिम टीचर्स को अलग। हिंदू और सिख टीचर्स को कमरे से घसीट कर बाहर निकाला और फिर गोली मारकर उनकी हत्या कर दी।

आतंकियों के इस कायराना हमले में प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और दीपक चांद की जान चली गई।  इस हमले से साफ कि है इन आतंकियों के टारगेट पर घाटी में रह रहे गैर मुस्लिम ही हैं, जिन्हें लगातार निशाना बनाया जा रहा है। इस हमले के बाद कश्मीर में रह रहे गैर-मुस्लिमों की सुरक्षा को लेकर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। बीते 2 दिनों में आतंकियों ने कई निर्दोष लोगों को निशाना बनाया है। कश्मीरी पंडित से लेकर कश्मीर में रह रहे भागलपुर के एक व्यक्ति की हत्या कर दी।

48 घंटों में आतंकियों ने किए 4 हमले

48 घंटे के अंदर आतंकियों ने 4 हमले किए, जिसमें 5 लोगों की हत्या कर दी। मंगलवार को दहशतगर्दों ने 68 साल के कश्मीरी पंडित माखनलाल बिंद्रू की गोली मारकर हत्या कर दी। माखनलाल बिंद्रू पर हमले के 30 मिनट बाद आतंकियों ने श्रीनगर के लाल बाजार इलाके में फिर हमला किया, जिसमें आतंकियों की गोली से भागलपुर के वीरंजन पासवान की जान चली गई और आज ईदगाह इलाके के गर्वमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल की सिख प्रिंसिपल और हिंदू टीचर की हत्या कर दी।

अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में धीरे-धीरे अमन-चैन का माहौल बन रहा है। कोरोना का कहर कम होने से टूरिज्म भी पटरी पर लौट रहा है। लेकिन नापाक पाकिस्तान और उसके ट्रेन्‍ड आतंकी जम्मू - कश्मीर में की तरक्की और शांति के खिलाफ हैं। आतंकियों ने जम्मू - कश्मीर में आम लोगों पर हमले तेज कर दिए हैं। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर