LIVE BLOG
More UpdatesMore Updates

Rafale Fighter Planes: भारत पहुंचे राफेल, रक्षा मंत्री ने कहा- हमारे सैन्य इतिहास में नए युग की शुरुआत

Rafale news: फ्रांस से रवाना हुआ राफेल लड़ाकू विमानों का पहला जत्था अंबाला स्थित भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के एयरबेस पर लैंडिंग कर चुका है। भारतीय वायु सीमा में दाखिल होने पर नौसेना के युद्धपोत ने इसका स्वागत किया। फ्रांस से ये लड़ाकू विमान सोमवार को रवाना हुए। मंगलवार को ये अपने पड़ाव के तहत संयुक्त अरब अमीरात में रुके थे।
देश
आलोक राव
Updated Jul 29, 2020 | 04:46 PM IST
rafale live updates
तस्वीर साभार:  AP
फ्रांस से सोमवार को रवाना हुए राफेल।

Rafale India Live Updates: भारत ने 2016 में 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने का सौदा फ्रांस से किया। 59, 000 करोड़ रुपए की यह रक्षा डील दोनों सरकारों के बीच हुई। विमान का निर्माण करने वाली कंपनी दसौं साल 2021 तक सभी राफेल विमान भारत को सौंप देगी। उसने अभी भारत को 10 लड़ाकू विमान सौंपे हैं। इनमें से पांच को अभी ट्रेनिंग के लिए फ्रांस में ही रखा गया है। ये पांचों विमान अंबाला एयरबेस पर उतर चुके हैं।

Jul 29, 2020  |  04:22 PM (IST)
पीएम मोदी ने भी किया राफेल का स्वागत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राफेल की लैंडिंग का वीडियो ट्वीट किया है। इसके साथ उन्होंने संस्कृत में एक श्लोक भी लिखा है। 

Jul 29, 2020  |  03:44 PM (IST)
अगले महीने में औपचारिक रूप से IAF में शामिल होंगे राफेल

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एयर चीफ ने कहा है कि इन राफेल लड़ाकू विमानों को अभियान के लिए तैयार रखा जाएगा। राफेल लड़ाकू विमानों को स्वतंत्रता दिवस के बाद अगले महीने औपचारिक रूप से वायु सेना में शामिल किया जाएगा। सभी पांच राफेल अंबाला एयरबेस पर लैंड हो चुके हैं।

Jul 29, 2020  |  03:33 PM (IST)
राजनाथ सिंह ने जारी किया लैडिंग का वीडियो
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल विमानों की अंबाला एयरबेस पर लैंडिक करते हुए एक वीडियो पोस्ट किया है। फ्रांस से आए ये पांच राफेल लड़ाकू विमानों ने अंबाला एयरबेस पर सफलता पूर्वक लैंडिंग की है।
Jul 29, 2020  |  03:21 PM (IST)
अंबाला एयरबेस पर 5 राफेल विमानों की हुई लैंडिंग

फ्रांस से रवाना हुए पांच राफेल लड़ाकू विमानों की लैंडिंग अंबाला एयरबेस पर बुधवार को शाम तीन बजे के करीब हुई। अंबाला में पहुंचने ही एयरबेस का आसमान उनकी गर्जना से भर गया। विमान जब वहां पहुंचे तो मौसम साफ नहीं था लेकिन वे सफलतापूर्वक एयरबेस पर लैंड कर गए। 

Jul 29, 2020  |  03:11 PM (IST)
इंतजार की घड़ियां हुईं खत्म, अंबाला एयरबेस पहुंचे राफेल

राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयर बेस पर लैंड कर चुके हैं। पूरा देश जिस लम्हे का इंतजार कर रहा था वह अब खत्म हो गया है। तीन बजते ही राफेल लड़ाकू विमान अंबाला के आसमान में गर्जना करने लगे।

Jul 29, 2020  |  03:02 PM (IST)
अंबाला एयरबेस पर लैंड करने वाले हैं राफेल

इंतजार की घड़िया खत्म होने वाली हैं। राफेल विमानों का पहला जत्था अंबाला एयरबेस पर लैंड करने वाला है। फ्रांस से पांच राफेल लड़ाकू विमान सोमवार को रवाना हुए। 

Jul 29, 2020  |  02:28 PM (IST)
राफेल के पहले जत्थे को सुरक्षा दे रहे दो सुखोई-30 एमकेआई
भारतीय वायु सीमा में दाखिल हो चुके राफेल के पहले जत्थे को सुखोई-30 एमकेआई फाइटर सुरक्षा दे रहे हैं। लड़ाकू विमान 'V' शेप में आगे बढ़ रहे हैं और दोनों छोरों पर सुखोई विमान उनके साथ चल रहे हैं।
Jul 29, 2020  |  02:15 PM (IST)
राफेल विमानों की पहली तस्वीर सामने आई
राफेल विमानों की पहली तस्वीर सामने आई है। फ्रांस आने वाले ये राफेल विमान भारतीय वायु क्षेत्र में दाखिल हो गए हैं। तस्वीर में ये विमान 'V'शेप में नजर आए हैं। इनके साथ सुखोई लड़ाकू विमान भी हैं। बताया गया कि ये विमान उनकी सुरक्षा के लिए हैं। इन भारतीय राफेल विमानों की सुरक्षा दो सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान कर रहे हैं।
Jul 29, 2020  |  02:02 PM (IST)
आईएनएस कोलकाता से हुआ संपर्क
फ्रांस से आने वाले राफेल लड़ाकू विमानों के पहले जत्थे का रेडियो संपर्क पश्चिमी अरब सागर में तैनात आईएनएस कोलकाता से हुआ है। आईएनएस कोलकाता डेल्टा 63 की ओर से अपने रेडियो संदेश में कहा गया, 'एरो लीडर आपका हिंद महासागर में स्वागत है। आप गौरव के साथ आकाश की ऊंचाइयों के छुएं। हैप्पी लैंडिंग।' राफेल की यह खेप फ्रांस से सोमवार को रवाना हुई और मंगलवार को यूएई के एयरबेस पर अपना पड़ाव डाला। आज सुबह राफेल विमान यूएई से रवाना हुए।
Jul 29, 2020  |  01:40 PM (IST)
नेवी के युद्धपोत से राफेल जत्थे का हुआ रेडियो संपर्क

फ्रांस से आने वाले राफेल लड़ाकू विमान के पहले जत्थे का हिंद महासागर में तैनात भारतीय युद्धपोत से रेडियो संपर्क हुआ है। युद्धपोत ने अपने संदेश में कहा है कि हिंद महासागर में आपका स्वागत है, हैप्पी लैंडिंग। राफेल विमान अब किसी भी वक्त अंबाला के एयरबेस पर लैंडिंग कर सकते हैं।

Jul 29, 2020  |  01:01 PM (IST)
एमपी के मंत्री बोले-गौरवान्वित होगा आज देश का माथा
मध्य प्रदेश के गृह मंत्री राफेल के आगमन पर खुशी जाहिर की है। मिश्रा ने बुधवार को कहा कि हिंदुस्तान का आसमान आज राफेल की गर्जना से और देश का माथा आज गौरव से गौरवान्वित होगा। अगर मातम होगा तो केवल तीन जगह होगा, चीन, पाकिस्तान और जो सुबह से ट्वीट कर रहे हैं उनके यहां।
Jul 29, 2020  |  12:59 PM (IST)
अत्याधुनिक तकनीक से लैस है राफेल

राफेल 4.5 पीढ़ी का विमान है। इसमें अत्याधुनिक तकनीक लगी है। सेमी स्टील्थ फीचर वाला यह लड़ाकू विमान दुनिया के बेहतरीन फाइटर प्लेन में शामिल है। यह मिटियोर, स्कैल्प जैसी मिसाइलें और हैमर हथियार से लैस होकर काफी घातक हो जाता है। यह अपने साथ परमाणु हथियारों को ले जाने में भी सक्षम है। राफेल अपने भार से डेढ़ गुना ज्यादा वजन उठाने के लिए जाना जाता है। अफगानिस्तान, सीरिया और लीबिया में इसने अपनी काबिलियत साबित कर दी है।

Jul 29, 2020  |  12:59 PM (IST)
पाक के एफ-16 और चीन के जे-20 से उन्नत है राफेल

चीन अपने लड़ाकू विमान जे-20 को पांचवी पीढ़ी का विमान होने का दावा करता है लेकिन रक्षा विशेषज्ञ उसके दावे पर सवाल उठाते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि चीन का जे-20 यदि वास्तव में इतना उन्नत होता जैसा कि वह दावा करता है तो उसे रूस के सुखोई-35 की जरूरत क्यों पड़ती। इसके अलावा जे-20 का इंजन पुराना है। कुछ ऐसा ही हाल पाकिस्तान का भी है। पाकिस्तान का एफ-16 विमान भी राफेल के आगे नहीं टिक पाएगा। राफेल को लेकर पाकिस्तान की बेचैनी बढ़ गई है क्योंकि पाक के वायु सेना चीफ ने सेना प्रमुख बाजवा से हाल ही में मुलाकात की है।
 

Jul 29, 2020  |  12:58 PM (IST)
लद्दाख सेक्टर में हो सकती है तैनाती

चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव को देखते हुए ऐसी चर्चा है कि फ्रांस से भारत आने वाले इन राफेल विमानों की तैनाती लद्दाख सेक्टर में की जा सकती है। सूत्रों का कहना है कि भारत पहुंचने के बाद इन फाइटर जेट्स को ऑपरेशनल मोड में रखा जाएगा। ऑपरेशनल मोड में रखने से इन्हें कभी भी और कहीं पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। राफेल में लगने वाले हैमर हथियार पहाड़ की चोटियों पर बने बंकर को आसानी से निशाना बना सकते हैं।