Monsoon:सही रफ्तार से आगे बढ़ रहा दक्षिण पश्चिम मानसून, इन राज्यों में अच्छी बारिश की उम्मीद

देश
रवि वैश्य
Updated Jun 08, 2021 | 08:50 IST

राष्ट्रीय मौसम पूवार्नुमान केंद्र ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि आठ जून से 11 जून के दौरान ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, पूर्वी मध्य प्रदेश,विदर्भ और छत्तीसगढ़ में भी भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है

 Southwest monsoon progressing at the right pace, good rain expected in these states
सही रफ्तार से बढ़ रहा मानसून 

मुख्य बातें

  • अगले 4-5 दिनों के दौरान पूर्वोत्तर राज्यों में व्यापक रूप से व्यापक वर्षा होने की संभावना
  • देशव्यापी अच्छी बारिश की संभावना के मद्देनजर चालू खरीफ सीजन में अच्छी खेती का अनुमान
  • महाराष्ट्र में इस सप्ताह के दौरान मुंबई तथा राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश का पूर्वानुमान

नई दिल्ली: दो दिनों की देरी के साथ 3 जून को केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत की घोषणा के बाद मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार को कहा कि बारिश वाली हवाओं के 11-13 जून के आसपास बिहार में प्रवेश करने की संभावना है। पूर्वी भारत और इससे सटे मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में 10 जून से व्यापक रूप से बारिश होने की संभावना है, क्योंकि उत्तर बंगाल की खाड़ी और पड़ोस के इलाके वायु के कम दबाव वाले क्षेत्र के प्रभाव में हैं।

 रिपोर्ट में यह भी कहा है कि कम दबाव का क्षेत्र 11 जून के आसपास बनने की संभावना के कारण दक्षिण-पश्चिम मानसून के ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड के अधिकांश हिस्सों और बिहार के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने की संभावना है।

मौसम कार्यालय ने आगे पश्चिमी तट पर बारिश में वृद्धि की भविष्यवाणी की।आईएमडी ने कहा, दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के मजबूत होने और अन्य अनुकूल मौसम स्थितियों के कारण, अगले 4-5 दिनों के दौरान पूर्वोत्तर राज्यों में व्यापक रूप से व्यापक वर्षा होने की संभावना है।दक्षिण-पश्चिम मानसून के ताजा रुख और देशव्यापी अच्छी व व्यापक बारिश की संभावना के मद्देनजर चालू खरीफ सीजन में अच्छी खेती का अनुमान है।सोमवार से और आने वाले दिनों में अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी बारिश की संभावना है।उत्तर महाराष्ट्र तट से उत्तरी केरल तट तक औसत समुद्र स्तर पर अपतटीय ट्रफ के प्रभाव के तहत, आईएमडी ने भविष्यवाणी की, अगले 4-5 दिनों के दौरान दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के कुछ हिस्सों में गरज और बिजली के साथ भरी बारिश के आसार हैं।

कहा गया है कि 8 और 10 जून के दौरान उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में धूल भरी तेज हवाएं 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की संभावना है।

महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश की आशंका

महाराष्ट्र में इस सप्ताह के दौरान मुंबई तथा राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश के पूर्वानुमान के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किसी अनहोनी से निपटने के लिए राज्य प्रशासन को मुस्तैद रहने का आदेश दिया।मुख्यमंत्री की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया कि कोविड-19 से पीड़ित तथा अन्य मरीजों के उपचार में किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आनी चाहिए। उन्होंने राज्य प्रशासन को निर्देश दिया कि निचले स्थानों, क्षतिग्रस्त भवनों और भूस्खलन वाली जगहों में रहने वालों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जाए।

मुख्यमंत्री ने संरक्षक मंत्रियों को जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों के साथ बैठक करने को कहा। उन्होंने कहा, 'मुंबई महानगर क्षेत्र और कोंकण क्षेत्र में नौ जून से 12 जून के बीच भारी बारिश का पूर्वानुमान है… किसी अनहोनी का सामना करने के लिए खुद को तैयार रखें।' मुंबई के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने ट्वीट किया, 'क्षेत्र में अगले पांच दिन में मौसम बिगड़ने की कई चेतावनी दी गई है। कोंकण और मध्य महाराष्ट्र के घाट क्षेत्रों में 10 जून से अधिक बारिश होने की आशंका है।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर