Mukesh Ambani Security: परिंदा भी पर नहीं मार सके, ऐसी है मुकेश अंबानी की सुरक्षा, 55 जवान और बुलेट प्रूफ गाड़ियां बनाती हैं घेरा

Mukesh Ambani's Z+ Security Cover: यह कवच मुख्यतः देश के सबसे शक्तिशाली लोगों को मिलता है, जिनमें मौजूदा और पूर्व प्रधानमंत्री भी आते हैं।

mukesh ambani, reliance industries, jio, mumbai, maharashtra
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।  |  तस्वीर साभार: IANS
मुख्य बातें
  • अंबानी को हाल में फोन के जरिए मिली थी धमकी
  • पहले भी घर के बाहर मिली चुकी है संदिग्ध कार
  • खुद अपनी सुरक्षा का खर्च उठाते हैं RIL चेयरमैन

Mukesh Ambani's Z+ Security Cover: जाने-माने उद्योगपति मुकेश अंबानी को जान से मारने की धमकी देने के मामले में सोमवार (15 अगस्त, 2022) को पुलिस ने 56 साल के एक जौहरी को गिरफ्तार किया। पुलिस टीम ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन व उनकी फैमिली को धमकी भरे फोन कॉल के तीन घंटे बाद करीब डेढ़ बजे उपनगरीय दहीसर से आरोपी बिष्णु विदु भौमिक को पकड़ा, जो साउथ मुंबई में गहनों की दुकान चलाता है।
 
धमकाने वाले ने नौ बार किया था फोन
अफसर के अनुसार, भौमिक ने सुबह करीब साढ़े दस बजे गिरगांव के रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल के लैंडलाइन नंबर पर नौ बार फोन किया था। अंबानी और उनके परिवार को जान से मारने की धमकी देने के दौरान उसने कुछ अपशब्द भी कहे थे। शुरुआती जांच के मुताबिक, भौमिक पर इससे पहले भी इसी तरह के फोन करने के आरोप लगे हैं। पुलिस ने फोन करने के पीछे के मकसद को जानने के लिए भौमिक से पूछताछ की। वैसे, फिलहाल यह पता नहीं चल पाया कि भौमिक मानसिक रूप से अस्थिर है या नहीं।

नाम था विष्णु, पर अफजल बताई पहचान!
डी.बी मार्ग पुलिस थाने में आपराधिक धमकी के लिए भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 506 (2) के तहत मामला दर्ज किया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अंबानी को धमकी देने के मामले में भौमिक की कोर्ट में पेशी होगी। उसने कथित तौर पर खुद को अफज़ल बताकर अंबानी को धमकी दी थी। हालांकि, यह पहला मौका नहीं है, जब अंबानी को धमकी मिली हो। पिछले साल फरवरी में मुंबई में अंबानी के आवास ‘एंटीलिया’ के पास एक एसयूवी कार बरामद की गई थी, जिसमें विस्फोटक सामग्री रखी हुई थी। बाद में इस केस में पुलिस अधिकारी सचिन वाजे समेत कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया था। 

...तो इस सुरक्षा कवच में आते हैं मुकेश
सबसे हैरत की बात है एशिया के सबसे अमीर शख्स (अमेरिकी पत्रिका फोर्ब्स की 100 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट के हिसाब से) को ये धमकियां ऐसे वक्त पर मिलीं, जब उनके पास जेड प्लस सिक्योरिटी (Z+ Security) कवर है।  यह सुरक्षा कवच गृह मंत्रालय की ओर से मुहैया कराई जाने वाली सिक्योरिटी में सर्वोच्च सिक्योरिटी कवर है। 

24 घंटे 55 जवान देते हैं अंबानी के आसपास पहरा
अंग्रेजी अखबार 'दि इंडियन एक्सप्रेस' और टीवी चैनल 'इंडिया टुडे' की रिपोर्ट के मुताबिक, जेड प्लस सिक्योरिटी के तहत किसी भी सुरक्षा पाने वाले व्यक्ति को 24 घंटे 50-55 हथियारबंद कमांडो सुरक्षा के लिए दिए जाते हैं। ये सीआरपीएफ (Central Reserve Police Force : CRPF) के जवान होते हैं, जो उनकी सुरक्षा करते हैं। 55 जवानों के दस्ते में 10 से अधिक एनएसजी (नेशनल सिक्योरिटी गार्ड्स) के कमांडो और पुलिस अफसर रहते हैं। हर कमांडो मार्शल आर्ट्स के साथ बगैर हथियारों के लड़ने में माहिर होता है।

जेड+ सुरक्षा का खुद उठाते हैं खर्च
'जीक्यू इंडिया' की रिपोर्ट के अनुसार, उनके सुरक्षा घेरे में रेंज रोवर और मर्सिडीज कार भी हैं। उनके पास एक बुलेटप्रूफ बीएमडब्ल्यू भी है, जिसमें मुकेश को सवारी करना खासा पसंद है। सबसे रोचक बात है कि वह इस सिक्योरिटी कवच का खर्च खुद उठाते हैं। बिजनेस अखबार ईटी के मुताबिक, अंबानी इस सेवा (सुरक्षा कवच) के लिए 15 से 16 लाख रुपए प्रति माह की मोटी रकम हर महीने खर्च करते हैं। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर