लगातार दूसरे साल मुकेश अंबानी ने नहीं ली सैलरी, नीता अंबानी को इतनी हुई कमाई

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Aug 08, 2022 | 17:19 IST

Mukesh Ambani Salary: मुकेश अंबानी ने कोरोना वायरस महामारी के चलते जून 2020 में अपनी मर्जी से 2020-21 के लिए अपने वेतन को छोड़ने का फैसला लिया था। अब अंबानी ने 2021-22 में भी अपनी सैलरी नहीं ली।

Billionaire Mukesh Ambani salary from Reliance Industries Limited
महामारी के बाद से मुकेश अंबानी ने नहीं ली कोई सैलरी  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • 45वीं AGM के लिए रिलायंस ने 29 अगस्त 2022 की तारीख का ऐलान किया है।
  • RIL की एनुअल जनरल मीटिंग दोपहर 2 बजे होगी।
  • आज बीएसई पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 2535 के स्तर पर खुला।

नई दिल्ली। अरबपति कारोबारी मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने लगातार दूसरे साल अपनी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) से कोई सैलरी नहीं ली है। अंबानी ने कोरोना वायरस महामारी (Covid-19) की वजह से व्यापार और अर्थव्यवस्था प्रभावित होने के कारण स्वेच्छा से अपना पारिश्रमिक (Mukesh Ambani Salary)  छोड़ा है। मुकेश अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं।

भत्ता और कमीशन सहित अन्य लाभ भी छोड़े
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपनी ताजा सालाना रिपोर्ट में कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए मुकेश अंबानी का पारिश्रमिक शून्य था। इन दो सालों में अंबानी वे कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के रूप में अपनी भूमिका के लिए किसी भी भत्ते, अनुलाभ, रिटायरमेंट लाभ, कमीशन या स्टॉक विकल्प का लाभ नहीं लिया है।

इससे पहले उन्होंने एक उदाहरण देते हुए 2008-09 से अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के वेतन को 15 करोड़ रुपये तक सीमित कर दिया था। 2019-20 में 15 करोड़ रुपये का वेतन पिछले 11 सालों के समान ही था।

कंपनी के अन्य अधिकारियों का इतना रहा पारिश्रमिक
अंबानी के चचेरे भाई निखिल और हीतल मेसवानी का पारिश्रमिक 24 करोड़ रुपये पर स्थिर रहा। इस बार इसमें 17.28 करोड़ रुपये का कमीशन शामिल था। वहीं कंपनी के कार्यकारी निदेशक पीएमएस प्रसाद और पवन कुमार कपिल के पारिश्रमिक में मामूली गिरावट आई है। प्रसाद ने 2021-22 में 11.89 करोड़ रुपये सैलरी ली, जो 2020-21 में 11.99 करोड़ रुपये से कम है। कपिल को 4.22 करोड़ रुपये मिले, जो पिछले वर्ष में 4.24 करोड़ रुपये से कम है। सालाना रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रसाद और कपिल के भुगतान में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए वित्त वर्ष 2021-22 में भुगतान किए गए प्रदर्शन से जुड़े प्रोत्साहन शामिल हैं।

नीता अंबानी को कितनी मिली कमीशन?
मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी (Nita Ambani) कंपनी के बोर्ड में गैर-कार्यकारी निदेशक हैं। उन्हें बैठक शुल्क के रूप में 5 लाख रुपये मिले और वर्ष के लिए 2 करोड़ रुपये का कमीशन अर्जित किया। इससे पिछले साल में उन्हें 8 लाख रुपये सिटिंग फीस और 1.65 करोड़ रुपये कमीशन मिला था।

रिटेल कारोबार में 30,000 करोड़ रुपये का निवेश
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि रिलायंस ने अपने रिटेल कारोबार में 30,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है। पिछले वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान कंपनी ने 2,500 स्टोर जोड़े हैं। इससे किपनी की दुकानों की संख्या बढ़कर 15,196 पर पहुंच गई है। इस दौरान रिलायंस रिटेल ने 1.11 करोड़ वर्ग फुट भंडारण की जगह जोड़ी। गोदाम स्थान लगभग डबल होकर 2.27 करोड़ वर्ग फुट हो गया। मालूम हो कि पिछले वर्ष में कंपनी ने 1.50 लाख से भी ज्यादा लोगों को काम पर रखा है। अब कंपनी के कुल कर्मचारियों की संख्या 3.61 लाख हो गई है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर