Delhi Traffic Advisory: दिल्ली में 14 से 15 अगस्त के बीच घर से निकलें ध्यान से, ये रास्ते रहेंगे बंद, जारी है ट्रैफिक एडवाइजरी

देश
रवि वैश्य
Updated Aug 14, 2022 | 17:01 IST

स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर लालकिले के प्रवेश द्वार पर बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाए जाने के अलावा चेहरे की पहचान प्रणाली (FRS) वाले कैमरे लगाए गए हैं।

Delhi Traffic Advisory
दिल्ली में इसे लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की गई है 
मुख्य बातें
  • 14 और 15 अगस्त को दिल्ली में कुछ रास्ते बंद रहेंगे
  • लाल किले के आसपास पांच किलोमीटर का क्षेत्र 'नो काइट फ्लाइंग जोन'
  • स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में लगभग सात हज़ार मेहमान शिरकत करेंगे

Traffic on Independence Day 2022: राजधानी दिल्ली (Delhi) में 15 अगस्त 2022  को लाल किले  पर स्वतंत्रता दिवस समारोह (Independence Day Celebrations) मनाने के लिए जोरशोर से तैयारियां की जा रही है, इसे लेकर तमाम इंतजाम किए गए हैं, दिल्ली में इसे लेकर  ट्रैफिक एडवाइजरी (Delhi Traffic Advisory) जारी की गई है, यानी 14 और 15 अगस्त को दिल्ली में कुछ रास्ते  बंद रहेंगे इसलिए घर से निकलने से पहले पूरी जानकारी कर लें।

सुरक्षा के लिए लाल किला के आसपास कई किलोमीटर के दायरे को सुरक्षा-खुफिया एजेंसियों ने अपनी देखरेख में ले लिया है इसके चलते कुछ जगहों के रास्तों पर लोगों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है।  14 अगस्त की आधी रात से 15 अगस्त सुबह 11 बजे तक महाराणा प्रताप ISBT और सराय काले खां ISBT के बीच अंतरराज्यीय बसों की आवाजाही की अनुमति नहीं होगी।

ट्रैफिक एडवाइजरी की रिपोर्ट के अनुसार, 15 अगस्त को लाल किले से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित करेंगे, इसी वजह से सुबह चार से दस बजे तक सामान्य यातायात के लिए बंद रहेगा और केवल परमिशन वाले वाहनों को प्रवेश की इजाजत दी जाएगी, दिल्ली की सीमाओं पर भारी वाहन और परिवहन वाहनों की आवाजाही पर भी प्रतिबंध रहेगा।

पुलिस के अनुसार, लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में लगभग सात हज़ार मेहमान शिरकत करेंगे। सोमवार को स्मारक के आसपास 10,000 से अधिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाएगा।

'नो काइट फ्लाइंग जोन' के रूप में चिह्नित

दिल्ली पुलिस ने ड्रोन व यूएवी आदि से किसी संभावित खतरे का मुकाबला करने के लिए लाल किला क्षेत्र में छतों और अन्य संवेदनशील स्थानों पर 400 से अधिक पतंग या 'उड़ने वाली किसी भी वस्तु को पकड़ने वाले' लोगों को तैनात किया है। तिरंगा फहराए जाने तक लाल किले के आसपास के पांच किलोमीटर के क्षेत्र को 'नो काइट फ्लाइंग जोन' के रूप में चिह्नित किया गया है।

'ड्रोन रोधी प्रणाली' भी लगाई जा रही है

पुलिस ने बताया, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन और अन्य सुरक्षा एजेंसियों द्वारा 'ड्रोन रोधी प्रणाली' भी लगाई जा रही है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक,'लाल किले पर और उसके आसपास उच्च विशिष्टता वाले सुरक्षा कैमरे लगाए हैं और उनके फुटेज की चौबीसों घंटे निगरानी की जाएगी। इस बार, आमंत्रित मेहमानों की संख्या बढ़कर सात हज़ार तक पहुंच गई है। हमने मुगलकाल में बने स्मारक के प्रवेश द्वार पर भी एफआरएस कैमरे तैनात किए हैं।'

धूम्रपान का लाइटर, बक्से, हैंडबैग, कैमरा, दूरबीन, छाता और इसी तरह की वस्तुओं की अनुमति नहीं

उन्होंने बताया कि लाल किला परिसर में खाना, पानी की बोतलें, रिमोट से नियंत्रित कार की चाबियां, धूम्रपान का लाइटर, बक्से, हैंडबैग, कैमरा, दूरबीन, छाता और इसी तरह की वस्तुओं की अनुमति नहीं होगी।विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) के मुताबिक, दिल्ली में धारा-144 के प्रावधान पहले ही लागू कर दिए गए हैं। 13 अगस्त से 15 अगस्त तक लाल किले पर कार्यक्रम के अंत तक पतंग, गुब्बारे या चीनी लालटेन उड़ाते हुए पकड़े गए व्यक्ति को दंडित किया जाएगा।

सलमान खान के गैलेक्सी अपार्टमेंट में लहराया तिरंगा, पीएम नरेंद्र मोदी के 'हर घर तिरंगा' अभियान का बने हिस्सा

पुलिस IED जैसे विस्फोटकों के होने के संभावित खतरे की भी व्यापक जांच कर रही है

इसके अलावा, उत्तर, मध्य और नयी दिल्ली जिला इकाइयों में हवा में उड़ने वाली वस्तुओं पर निगरानी रखने के लिए लगभग एक हज़ार उच्च-विशिष्टता वाले कैमरे लगाए जाएंगे।उन्होंने कहा कि ये कैमरे स्मारक तक जाने वाले 'वीवीआईपी' मार्ग की निगरानी में भी मदद करेंगे।दिल्ली पुलिस ने भी गश्त बढ़ा दी है। अधिकारियों ने बताया कि होटल, अतिथि गृह, पार्किंग स्थल और रेस्तरां की जांच की जा रही है। साथ ही, किरायेदारों और नौकरों का सत्यापन किया जा रहा है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर