महाराष्ट्र के राज्यपाल के CM उद्धव को लिखे पत्र पर बोले शाह- ऐसे शब्दों के चयन से बचा जा सकता था

देश
किशोर जोशी
Updated Oct 18, 2020 | 08:04 IST

महाराष्ट्र के राज्यपाल द्वारा सीएम उद्धव ठाकरे को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा लिखे गए पत्र पर गृह मंत्री अमित शाह ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि ऐसे शब्दों के चयन से बचा जा सकता था।

Amit shah says Maharashtra Governor could have avoided selection of those words to CM Uddhav Thackeray
राज्यपाल के पत्र पर शाह बोले-शब्दों के चयन से बचा जा सकता था 

मुख्य बातें

  • महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा सीएम उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र पर अमित शाह ने दी प्रतिक्रिया
  • अमित शाह बोले- राज्यपाल कर सकते थे बेहतर शब्दों का चयन
  • राज्यपाल कोश्यारी ने उद्धव को लिखे पत्र में पूछा था- क्या वह अचानक सेकुलर बन गए हैं

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के उद्धव को 'आप सेकुलर हो गए हैं' वाले पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ऐसे शब्दों का चुनाव करने से बचा जा सकता था। एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा। अमित शाह ने कहा, 'देखिए मैंने पत्र पढ़ा है, एक पासिंग रेफरेंस उन्होंने दिया है, मगर मुझे भी लगता है कि थोड़ा शब्दों का चयन ज्यादा ठीक होता तो ज्यादा बेहतर होता। लेकिन मेरा यह भी मानना ​​है कि वह (गवर्नर) उन विशेष शब्दों के चयन से बच सकते थे'

राज्यपाल ने लिखा था पत्र

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य में कोविड-19 महामारी की वजह से बंद धार्मिक स्थलों को खोलने का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा था और शिवसेना प्रमुख से पूछा कि क्या वह अचानक सेकुलर बन गए हैं। ठाकरे ने कोश्यारी के पत्र के जवाब में कहा कि वह धार्मिक स्थलों को खोलने के अनुरोध पर विचार करेंगे । उन्होंने साथ ही कहा कि ‘मुझे अपने हिन्दुत्व’ के लिए राज्यपाल के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है।

शिवसेना ने किया था पलटवार
राज्य में उपासना स्थलों को खोलने को लेकर कोश्यारी द्वारा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखने पर शिवसेना ने पलटवार करते हुए कहा था कि शिवेसना का हिंदुत्व दृढ है और मजबूत बुनियाद पर टिका है तथा उसे इस पर किसी से पाठ की जरूरत नहीं है। पार्टी नेता संजय राउत ने कहा, ‘कोश्यारी राज्य के संवैधानिक प्रमुख हैं। उन्हें यह देखना है कि राज्य में शासन संविधान के अनुसार चल रहा है या नहीं। बाकी बातों के लिए लोगों द्वारा निर्वाचित सरकार है। वह निर्णय लेती है।' 

तमाम विपक्षी नेताओं ने की थी आलोचना
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में शिकायत की कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य के धार्मिक स्थलों को खोलने के सिलसिले में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में ‘असंयमित भाषा’ का इस्तेमाल किया। मोदी को लिखे पत्र को जारी करने के बाद पवार ने ट्वीट किया, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि माननीय राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को ऐसा पत्र लिखा है जैसे किसी राजनीतिक पार्टी के नेता को लिखा गया हो।’

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर