How to make Ghee Healthier: कैसे पाएं घी से बेहतर हेल्‍थ, जानें इन चीजों के साथ घी मिलाकर खाने के फायदे

health tips in hindi : यदि आप घी के स्वास्थ्य लाभ को दोगुना करना चाहते हैं, तो इसे कुछ खास चीजों के साथ मिलाकर खाएं। जानें क‍िस चीज के साथ घी खाने का क्‍या फायदा होता है।

ghee benefits, ghee and cinnamon mixture  benefits,  ghee and turmeric miture benefits, ghee, ghee benefits for skin , ghee and turmeric benefits
कैसे बनाएं घी से और ज्‍यादा फायदा  

मुख्य बातें

  • घी कैलोरी, सैचुरेटिड फैट, कैल्शियम, विटामिन और प्रोटीन से भरपूर होता है।
  • यह आपको फिट रखने के साथ मसल्स को भी मजबूत बनाता है।
  • इन चीजों को मिलाकर आप घी के स्वाद के साथ स्वास्थ्य लाभ को दोगुना कर सकते हैं।

How To Make Ghee Healthier : घी खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। घी का सेवन लगभग हर घर में किया जाता है। कैलोरी, सैचुरेटिड फैट, कैल्शियम, विटामिन और प्रोटीन से भरपूर देशी घी ना केवल वजन कम कर आपको फिट रखने में मदद करता है बल्कि यह मसल्स को भी मजबूत बनाता है। आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल दवाई के रूप में किया जाता है। यह गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने और इनके संक्रमण से दूर रखने में कारगार होता है। घी खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ इसे सेहतमंद भी बनाता है। 

यदि आप घी के स्वास्थ्य लाभ को दोगुना करना चाहते हैं, तो इन चीजों में घी मिलाकर सेवन करें। आइए जानते हैं।

दालचीनी

मसालों का राजा दालचीनी एक ओर जहां खाने का जायका बढ़ाने के काम आता है। वहीं दूसरी ओर सेहत के लिए भी यह बेहद फायदेमंद होता है। एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर दालचीनी गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने के साथ इनके संक्रमण से दूर रखने में भी मदद करता है। यह ब्लड शुगर को कम करने के साथ पेट की समस्याओं से भी राहत दिलाता है।

कैसे बनाएं दालचीनी वाला घी

दालचीनी घी, बनाने के लिए एक पैन में घी डालें और उसमें 2 दालचीनी की छड़ें डाल दें। घी को 4 से 5 मिनट तक धीमी आंच पर पकाएं और फिर थोड़ी देर के लिए इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। इससे दालचीनी घी को सोख लेगा। अब आप इसका सेवन कर सकते हैं।

हल्दी

एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर हल्दी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। घी के साथ मिलाकर इसका सेवन करने से इसके फायदे दोगुने हो जाते हैं। यह शरीर में नई रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है। तथा ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। यह पाचनतंत्र को दुरुस्त रखने के साथ शरीर में सूजन को कम करता है। वहीं यदि आप हड्डी में दर्द या जोड़ो में दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं तो नियमित तौर पर घी और हल्दी के मिश्रण का सेवन करें।

कैसे बनाएं हल्‍दी वाला घी 

हल्दी के स्वाद वाला घी बनाने के लिए एक जार में एक कप घी डालें, 1 चम्मच हल्दी और आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह मिलाएं। इसके बाद इसे एक जार में डालकर रख लें और रोजाना एक से दो चम्मच इसका सेवन करें। बता दें हल्दी में भरपूर मात्रा में करक्यूमिन पाया जाता है, जो शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है।

तुलसी

मक्खन से घी बनाते समय इससे निकलने वाली गंध से आप सब वाकिफ होंगे उबलते मक्खन की तेज गंध को कम करने के लिए इसमें कुछ तुलसी के पत्ते डालें। यह ना केवल घी के दुर्गंध को कम करता है बल्कि इसके स्वास्थ्य लाभ को भी दोगुना कर देता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के साथ रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है। यह सांस संबंधी बीमारियों से निजात दिलाने और इनके संक्रमण को दूर करने में मदद करता है। यह रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में भी सहायता करता है।

कैसे बनाएं तुलसी वाला घी 

घी में कपूर मिलाने के बाद इसके स्वास्थ्य लाभ दोगुना हो जाते हैं। कहा जाता है कि यह वात, पित्त और कफ को संतुलित करता है। यह पाचनतंत्र को दुरुस्त रखने के साथ आंतो के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। तथा अस्थमा के मरीजों के लिए यह लाभदायक होता है।

कपूर वाला घी 

इसके लिए एक कप घी में एक से दो टुकड़ा खाने वाला कपूर डालकर 5 मिनट तक गर्म कर लें। अब घी को थोड़ी देर तक ठंडा कर लें और फिर किसी एयरटाइट जार में छान कर रख लें। ध्यान रहे कपूर की महक घी से काफी तेज होती है ऐसे में घी में सीमित मात्रा में कपूर डालें।

लहसुन

यदि आप लहसुन खाने के शौकीन हैं, तो घी में लहसुन मिलाकर इसके फायदे उठा सकते हैं। एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर यह सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। यह पाचनतंत्र को दुरुस्त रखने के साथ शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है। तथा ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है।

कैसे बनाएं लहसुन वाला घी 

इसके लिए एक कड़ाही में घी के साथ कटा हुआ लहसुन और लौंग डालें। तथा धीमी आंच पर थोड़ी देर पकाएं। घी अच्छे से गर्म होने के बाद गैस बंद कर दें, कड़ाही को ढक्कन से ढक दें और थोड़ी देर इसे ठंडा होने दें ताकि लहसुन और लौंग के सारे स्वाद घी में अच्छे से घुल जाएं। अब कांच के जार में इसे रख दें और नियमित तौर पर इसका सेवन करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर