Kuttu Ke Fayde Nuksan: नवरात्र में खूब खाया जाता है कुट्टू, जानें इसके फायदे, नुकसान और सेवन की सावधान‍ियां

Buckwheat flour benefits and side effects : कुट्टू के आटे का इस्तेमाल अधिकतर उपवास के दिनों में किया जाता है। यहां जानें इसके सेवन के फायदे और नुकसान।

Kuttu Ke Fayde Nuksan buckwheat flour benefits side effects
Kuttu Ke Fayde Nuksan, buckwheat flour benefits side effects 

मुख्य बातें

  • नवरात्रि के व्रत में खासतौर पर कुट्टू के आटे के व्‍यंजन खाए जाते हैं
  • कुट्टू की तासीर गर्म होती है
  • हमेशा कुट्टू के ताजे आटे का ही प्रयोग करें

कुट्टू भी गेहूं के समान एक प्रकार का अनाज है। लेकिन गेहूं के साथ इसका कुछ भी संबंध नहीं है। यह एक फल का बीज होता है। यह केवल हिमालय के भाग जैसे जम्मू कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखण्ड, दक्षिण में नीलगिरी और नार्थ ईस्ट राज्यों में उगाया जाता है। भारत में इसका इस्तेमाल अधिकतर उपवास के दिनों में किया जाता है और नवरात्र में खासकर कुट्टू का प्रयोग किया जाता है।

लोग इससे बने विशेष प्रकार के लाजवाब पकवान बनाकर व्रत के दिनों सेवन करते हैं। इन पकवानों का अपना अलग-अलग स्वाद और महत्व होता है। व्रत में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला कुट्टू का आटा सामान्य बीमारियों समेत कई गंभीर रोगों से निजात दिलाने में रामबाण सिद्ध होता है। 

कुट्टू की तासीर होती है गर्म
जानकारों के अनुसार कुट्टू के आटे का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। इसकी तासीर गर्म होती है। आमतौर से उपवास के दौरान कुट्टू के आटे से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाकर इसके स्वाद का मजा लिया जाता है। इसके साथ ही अपने गर्म तासीर के कारण इसका इस्तेमाल कई स्वास्थ्य निपटने के लिए औषधि के रूप में भी किया जाता है। 

कुट्टू के आटे से  जुड़ी खास बातें
कुट्टू का आटा अपनी गर्म तासीर और अपने पोषक तत्वों की उच्च मात्रा के कारण औषधीय आहार के रूप में भी सेवन किया जाता है। इस अद्भुत खाद्य पदार्थ में प्रोटीन और अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और खनिज पदार्थ शामिल होते हैं। आप अपने दैनिक आहार में सेवन करके इसका आनंद उठा सकते हैं।

KUTTU KE AATE KE FAYDE

  1. अस्थमा की बीमारी से दिलाता है निजात : कुट्टू अस्थमा जैसी बीमारी को दूर कर सकता है। इससे ऑक्सीजन का स्तर बेहतर बना रहता है जिससे सांस की बीमारी को दूर किया जा सकता है।
  2. डायबिटीज में कुट्टू के आटे के फायदे : शुगर में कुट्टू का आटा बेहद फायदेमंद होता है। इसके सेवन से शरीर का इंसुलिन स्तर सामान्य रहता है। इसके साथ ही इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो ब्‍लड शुगर को तेजी से बढ़ने से रोकता है। 
  3. लीवर से जुड़ी बीमारियों को दूर करने में होता है मददगार साबित : कुट्टू के आटे से बने व्यंजन लीवर से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में कारगार सिद्ध होते हैं। कुट्टू में विटामिन के अलावा बी-कॉम्पलेक्स सीमित मात्रा में पाया जाता है और ऐसे में लीवर से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में कुट्टू का आटा लाभदायक होता है। 
  4. कैंसर के खतरे को करता है कम : एंटी ऑक्सीडेंट तत्व, होल ग्रेन, फाइबर, आयरन, फोलेट से भरपूर कुट्टू का आटा कैंसर को रोकने वाला माना जाता है। 
  5. दिल से जुड़ी बीमारियों से दिलाता है निजात : कुट्टू दिल की बीमारी से निजात दिलाने में मदद करता है और आपको स्वस्थ रखता है। यह विटामिन-बी और फोलेट जैसे तत्वों से भरपूर होता है जो आपके दिल को अंदरूनी रूप से मजबूत बनाते हैं। इसके साथ ही सीमित मात्रा में कॉलेस्ट्रोल की मात्रा पाए जाने से यह दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम करता है।
  6. बालों को मजबूत करने में होता है सहायक : यदि आप अपने बालों के पतलेपन रूखेपन से परेशान हैं और आपके बाल गिर रहे हैं तो आप कुछ दिनों तक आपने आहार में कुट्टू के आटे का सेवन कर सकते हैं। 
  7. पथरी की समस्या में मददगार : अगर आप पित्त की थैली की पथरी की समस्या से परेशान हैं तो कुट्टू के आटे का साधारण रूप में सेवन कर इससे छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए आपको कुट्टू के आटे की रोटी का सेवन करना फायदेमंद रहेगा।
  8. मानसिक तनाव को दूर करने में होता है सहायक : कुट्टू के आटा का सेवन करने से मानसिक तनाव को कम किया जा सकता है। कुट्टू में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं और इसके तत्‍व स्‍ट्रेस को कम करते हैं। 
  9. त्‍वचा के ल‍िए अच्‍छा : कुट्टू का आटा ना केवल खाने में स्वादिष्ट और सेहत के लिए फायदेमंद होता है बल्कि यह चेहरे पर दमक भी लाता है। कुट्टू के थोड़े आटे में कुछ बूंदें गुलाब जल की डालें और फेस पैक की तरह लगाएं। 


KUTTU KE AATE KE NUKSAN 
किसी भी चीज को ज्यादा खाने या उसका ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करने से उसके दुष्‍परिणाम सामने लगते हैं। वैसे कुट्टू के आटे से कोई खास नुकसान नहीं हैं। बस जब आप इसका इस्तेमाल करते हैं तो इन सभी सावधानियों को बरतें। 

एलर्जी होने पर ना करें सेवन 
जिन लोगों को इसे खाने से स्किन एलर्जी होती है, वह इसका सेवन रोज ना करें। वह उपवास के दौरान या महीने में 5-6 बार ही इसका सेवन करें। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से शरीर पर दाने और सूजन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। 

ताजे आटे का करें प्रयोग 
यदि कुट्टू के आटे से स्वादिष्ट व्यंजन बनाते हैं या व्रत के दौरान इसका सेवन करते हैं तो ध्यान रहे क‍ि ये ताजा होना चाहिए। दरअसल यह आटा एक महीने में खराब हो जाता है और खराब आटे का सेवन करने से फूड प्वाइजनिंग, गैस जैसी समस्याओं से जूझना पड़ सकता है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर