Ear Infection: कानों में इन्फेक्शन की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू इलाज

Ear Infection: कानों में इन्फेक्शन की समस्या से परेशान हैं तो आअब आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि आज हम आपको इस बीमारी से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपचार के बारे में बताने जा रहे हैं।

itchy ears home remedy
कानों में इन्फेक्शन के घरेलू इलाज 

मुख्य बातें

  • कानों में दर्द, खुजली या इरिटेशन की समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए
  • कान शरीर का एक बेहद संवेदनशील हिस्सा होता है जिसकी अनदेखी नहीं की जानी चाहिए
  • कानों में अगर खुजली की समस्या हो तो इसे घरेलू इलाज के द्वारा ठीक किया जा सकता है

कानों में इन्फेक्शन की समस्या बेहद खतरनाक हो सकती है। अगर समय रहते इस तरफ ध्यान नहीं दिया जाता है तो कानों में खुजली और इन्फेक्शन की ये समस्या बड़ा रुप धारण कर सकती है जो आगे चलकर हमारे कानों के अंदरुनी सिस्टम को भी डैमेज कर सकता है। कानों में इन्फेक्शन का सबसे बड़ा और पहला कारण अल्ट्रा सेंसिटिव न्यूरोलॉजिकल फाइबर। हमारे कानों के बाहरी हिस्से में ऐसे छोटे-छोटे फाइबर होते हैं जिसकी अगर संवेदनशीलता बढ़ जाए तो फिर यह कानों में खुजली या इंफेक्शन का कारण बनता है।

कानों में खुजलीपन की समस्या आम है, लेकिन अगर अक्सर आपको अपने कानों में खुजली करने की इच्छा होती है तो फिर यह इन्फेक्शन का कारण बन सकता है। कभी-कभी कानों की खुजली करने की इच्छा इतनी ज्यादा होती है ऐसा करने से कानों के अंदर घाव भी बन जाते हैं जो खतरनाक हो जाते हैं। कानों के अंदर तक इचिंग कर पाना हमारे लिए पॉसिबल नहीं होता तो ऐसे में हम कानों के उपरी हिस्से में भी इचिंग कर के खुद को सैटिस्फाई कर लेते हैं जो कानों के हेल्थ के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

इसके अलावा ड्राई स्किन (सूखी त्वचा) होने के कारण भी कानो में इचिंग की समस्या हो जाती है। इंसानों का कान काफी संवेदनशील होता है इसलिए इसकी केयर करने के लिए भी खास तौर पर समय देना जरूरी होता है। आज हम आपको इसी समस्या के इलाज के लिए कुछ घरेलू उपचारों के बारे में बताने जा रहे हैं।

कानों में इन्फेक्शन के घरेलू उपचार

एलोवेरा
कानों में 3-4 बूंद एलोवेरा की जेल डालने से कानों के इन्फेक्शन में राहत मिलता है। एलोवेरा कानों के अंदरुनी हिस्से को अच्छे से प्रोटेक्ट करता है और पीएच लेवल को सामान्य अवस्था में लाने में मदद करता है। इसके अलावा यह सूखी त्वचा, खुजली और कानों में होने वाले इरिटेशन को भी खत्म करता है। एलोवेरा में एंटी इन्फ्लामेटरी गुण होता है जो कानों के इन्फेक्शन को ठीक करने में मददगार साबित होता है।

अदरक
कानों में खुजली और इससे होने वाले घावों के दर्द से निजात दिलाने में अदरक बेहद कारगर होता है। अदरक का जूस निकाल कर इसे गर्म करें और इसमें थोड़ा सा कोई अच्छा सा तेल मिला दें। अब इस मिश्रण को कानों के बाहरी हिस्से पर लगाएं। ध्यान रखें कि इसे सीधे कानों के अंदर ना डालें। इसे बाहरी हिस्से पर ही अप्लाई करें।

लहसुन
लहसुन एक बेहद अच्छा हर्ब माना जाता है जो एंटीबायोटिक भी होता है और जिसमें दर्द को खत्म करने की भी शक्ति होती है। लहसुन की कुछ कलियों को गर्म तेल में कुछ मिनटों तक के लिए भिगो कर रख दें। अब लहसुन इसमें से निकाल दें और इस तेल को अपने कानों में बूंद बूंद कर डालें। कानों में होने वाले खुजली से तुरंत राहत दिलाता है ये इलाज। 

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए है, इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रुप में नहीं लिया जा सकता। कोई भी स्टेप लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लें।)

अगली खबर